Bihar Election: पीएम मोदी के मन में क्या? न नीतीश न चिराग..., सिर्फ जंगलराज, जंगलराज और जंगलराज

बिहार में चुनावी रैली के दौरान PM मोदी पर हमले की साजिश रच रहे आतंकी. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)
बिहार में चुनावी रैली के दौरान PM मोदी पर हमले की साजिश रच रहे आतंकी. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

Bihar Assembly Election: पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के निशाने पर फिर एक बार लालू-राबड़ी शासनकाल (Lalu-Rabri's reign) की नाकामियां ज्यादा थीं. उन्होंने पटना की सभा में यह भी कहा कि लालटेन काल का अंधेरा छंट चुका, अब LED बल्ब का उजाला है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 28, 2020, 9:01 PM IST
  • Share this:
पटना. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने बिहार के दरभंगा, मुजफ्फरपुर और पटना में तीन चुनावी जनसभाओं को संबोधित किया. इस दौरान उपस्थित जनसमूह के सामने उन्होंने जो बातें कहीं उससे यह साफ हो गया उनके निशाने पर सिर्फ और सिर्फ लालू-राबड़ी का शासनकाल (Lalu-Rabri's reign) ही रहा न कि एनडीए सरकार (NDA Government) की उपलब्धियां. उन्होंने सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) के कार्यों का भी कोई विशेष जिक्र नहीं किया और फोकस केंद्र सरकार द्वारा किए गए कार्यों पर किया. उन्होंने जिन शब्दों का चयन किया उस पर जरा गौर करें- जंगलराज का युवराज- जाहिर है यह उन्होंने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejaswi Yadav) के लिए कहा. किडनैपिंग की फैक्ट्री-  साफ है कि यह शब्द उन्होंने लालू-राबड़ी के 15 वर्षों के शासनकाल के लिए कहा. बिहार को बीमार न बनाएं- यह कांग्रेस और राजद (Congress-RJD) को संयुक्त रूप से निशाने पर लेने के लिए कहा.

निशाने पर लालू-राबड़ी शासन काल
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन के दौरान कोरोना के साथ-साथ बिहार को बीमार करने वालों को न चुनने की सलाह दी. उन्होंने कांग्रेस और राजद की सरकार नहीं चुनने के लिए कहा और एनडीए को वोट देने की अपील की. जाहिर तौर पर उनके निशाने पर फिर एक बार लालू-राबड़ी शासनकाल की नाकामियां ज्यादा थीं. उन्होंने पटना की सभा में यह भी कहा कि लालटेन काल का अंधेरा छंट चुका, अब LED बल्ब का उजाला है.

केंद्र सरकार की उपलब्धियों का बखान

आगे पढ़ें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज