बिहार चुनाव: मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड से कलंकित बिहार को बचाना है- तेज प्रताप यादव

तेजप्रताप यादव(फाइल फोटो)
तेजप्रताप यादव(फाइल फोटो)

तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) ने ट्वीट में लिखा, बेईमान जनादेश लूटेरों को बिहार से भगाना है और मुज़फ्फरपुर बालिका गृह कांड से कलंकित बिहार को बचाना है. हैश टैग Boycott_BJP_JDU.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 12, 2020, 6:25 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव में पांच से अधिक गठबंधनों की मौजूदगी के बावजूद डायरेक्ट फाइट सीएम नीतीश कुमार और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejaswi Yadav) के बीच ही मानी जा रही है. इसी क्रम में अक्सर जेडीयू और आरजेडी नेताओं (JDU-RJD Lraders) के बीच वार-पलटवार का सिलसिला भी लगातार जारी है. अब बेगूसराय के चेरिया बरियारपुर की जेडीयू कैंडिडेट मंजू वर्मा (Manju Verma) के को चुनाव मैदान में लाने के कारण राजद सीधे सीएम नीतीश को ही टारगेट कर रही है. इस मुद्दे को लेकर आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) ने बीजेपी-जेडीयू (BJP-JDU) गठबंधन पर हमला बोला है. उन्होंने मुज़फ्फरपुर बालिका गृह कांड को लेकर दोनों पर निशाना साधा है.

तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) ने ट्वीट में लिखा, बेईमान जनादेश लूटेरों को बिहार से भगाना है और मुज़फ्फरपुर बालिका गृह कांड से कलंकित बिहार को बचाना है. हैश टैग Boycott_BJP_JDU.


बता दें कि मंजू वर्मा (Manju Verma) 2018 के उस मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड के आरोपी की पत्नी हैं जिसने पूरे देश को हिलाकर रख दिया था. यही अब चेरिया बरियारपुर से टिकट पाने वाली मंजू वर्मा को तब पार्टी ने खुद निकाल दिया था. दरअसल मंजू वर्मा उस वक्त नीतीश सरकार (Nitish Government) में समाज कल्याण विभाग की मंत्री थीं. आरोप लगा कि मंजू वर्मा की नाक के नीचे बालिका गृह कांड होता रहा और उन्होंने कोई एक्शन नहीं लिया.



गौरतलब है कि इस कांड के सामने आने के बाद नीतीश कुमार की काफी किरकिरी हुई उन्हें अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था.बता दें कि मुजफ्फरपुर बालिका गृह में 34 लड़कियों के साथ दुष्कर्म किया गया था. इस पूरे मामले में कथित रूप से मंजू वर्मा के पति चंद्रशेखर वर्मा के भी शामिल होने की बात सामने आई थी.

इसके साथ ही बालिका गृह कांड की जांच के दौरान मंजू वर्मा के घर पर पुलिस की छापेमारी में अवैध हथियार और कई कारतूस बरामद किए गए थे. इसके बाद मंजू वर्मा और उनके पति को गिरफ्तार किया गया था और दोनों को जेल जाना पड़ा था. हालांकि, बाद में दोनों को जमानत मिल गई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज