Bihar Assembly Elections: कोरोनाकाल में चुनाव को लेकर EC ने दिया 'सहज, सुगम और सुरक्षित मतदान' का स्लोगन

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर

इस बार के बिहार विधानसभा ( Bihar Assembly Elections) चुनाव में कोविड 19 संक्रमित मरीजों, दिव्यांगों और 80 वर्ष से अधिक आयु वाले मतदाताओं के लिए पोस्टल बैलेट की सुविधा दी जा रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 25, 2020, 10:41 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली/पटना. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election 2020) को लेकर निर्वाचन आयोग (Election Commission) तारीखों का ऐलान कर सकता है. यह ऐलान शुक्रवार को दोपहर 12.30 बजे विज्ञान भवन में प्रेस कांफ्रेंस कर किया जाएगा. बिहार चुनाव की तारीखों की घोषणा करने के साथ ही झारखंड की दुमका और बेरमो विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव के साथ-साथ बिहार के वाल्मीकि नगर लोकसभा सीट पर उपचुनाव को लेकर भी तिथियों की घोषणा की जा सकती है. सूत्र बता रहे हैं कि चुनाव तीन चरणों में करवाए जा सकते हैं. शुक्रवार को तारीखों के ऐलान के साथ ही चुनाव आदर्श आचार संहिता लागू हो जाएगी.

कोरोनाकाल में करवाए जा रहे इस इलेक्शन को लेकर चुनाव आयोग 'सहज, सुगम और सुरक्षित मतदान' का स्लोगन देने जा रहा है. इस बार के बिहार विधानसभा ( Bihar Assembly Elections) चुनाव में कोविड 19 संक्रमित मरीजों, दिव्यांगों और 80 वर्ष से अधिक आयु वाले मतदाताओं के लिए पोस्टल बैलेट की सुविधा दी जा रही है.

बूथों की संख्या भी गई दोगुनी कर दी गई है और अब ये संख्या 1 लाख 60 हज़ार के आसपास रहेगी. बता दें कि बिहार में मतदाताओं की संख्या 7 करोड़ 28 लाख के करीब है. वहीं, इस बार हर बूथ पर 1500 के बजाय 1 हजार मतदाता ही मतदान कर सकेंगे.



बता दें कि गुरुवार को ही सीएम नीतीश कुमार के एक बयान से संकेत मिल गए थे कि जल्द की चुनाव की तारीखों का ऐलान किया जा सकता है. उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा था कि सबलोग चुनाव में लगिए. अब कोई सरकारी काम नहीं होगा. मैंने भी सरकारी काम लेना बंद कर दिया है. फिर मौका मिलेगा तब करेंगे.  उन्होंने सबसे क्षेत्र में जाने और लोगों को सरकार के कामकाज की जानकारी देने को कहा.
इस बीच, चुनाव की तारीखों के एलान को लेकर RJD ने भी साफ कहा कि हमलोग 365 दिन जनता के बीच में रहते हैं. इसीलिए हमलोग हमेशा चुनाव के तैयार हैं. पार्टी के प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि चुनाव आयोग को तय करना है कि संक्रमण काल में कैसे ज्यादा से ज्यादा वोटरों की भागीदारी सुनिश्चित हो. वहीं, रालोसपा राष्ट्रीय महासचिव आनंद माधव ने भी कहा है कि चुनाव के लिए पूरी तरह तैयार है. रालोसपा किस गठबंधन में रहेगा ये दो दिन में बताया जाएगा. पार्टी चुनावी मैदान में मजबूती से उतरेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज