JDU के दिग्‍गज नेता बोले- लव जिहाद के नाम पर देश में फैलाई जा रही है नफरत

JDU के दिग्गज नेता केसी त्यागी

JDU के दिग्गज नेता केसी त्यागी

JDU के दिग्गज नेता केसी त्यागी ने कहा कि संविधान और सीआरपीसी के प्रावधान दो वयस्कों को अपनी पसंद के जीवन साथी चुनने की स्वतंत्रता देते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 29, 2020, 8:40 PM IST
  • Share this:

पटना. जनता दल यूनाइटेड के दिग्गज नेता केसी त्यागी (KC Tyagi) ने लव जिहाद पर एक बयान देते हुए कहा कि देश में 'लव जिहाद' के नाम पर नफरत और विभाजन का माहौल बनाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि संविधान और सीआरपीसी के प्रावधान दो वयस्कों को अपनी पसंद के जीवन साथी चुनने की स्वतंत्रता देते हैं. ऐसे में वो चाहे किसी भी धर्म अथवा जाति से संबंध रखते हों.

त्यागी ने रविवार को पटना में कहा कि हम केंद्रीय मंत्रिपरिषद में संख्या के अनुपात में उचित प्रतिनिधित्व चाहते हैं. इसके अलावा केसी त्‍यागी ने कहा कि बिहार में गठबंधन को लेकर कोई विवाद नहीं है, लेकिन हमारा मन अरुणाचल प्रदेश के घटनाक्रम को लेकर दुखी है, जो कि गठबंधन की राजनीति के लिए ठीक नहीं है.


वहीं अरुणाचल प्रदेश में जनता दल यूनाइटेड के सात में से छह विधायकों के भाजपा में शामिल होने से बिहार की सियासत तेज हो गई है. जेडीयू के दिग्‍गज नेता केसी त्‍यागी  ने कहा कि बिहार में गठबंधन को लेकर कोई विवाद नहीं है, लेकिन हमारा मन अरुणाचल प्रदेश के घटनाक्रम को लेकर दुखी है, जो कि गठबंधन की राजनीति के लिए ठीक नहीं है. इसके साथ ही कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री स्‍वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी के अटल धर्म का पालन सभी घटक दलों को करना चाहिए. हम किसी के खिलाफ साजिश नहीं करते हैं बल्कि जब भी काम करने का मौका मिला, तो काम किया है.

Youtube Video

इसके अलावा अरुणाचल प्रदेश के घटनाक्रम पर केसी त्‍यागी ने कहा कि जेडीयू विधायकों को मंत्रिपरिषद में शामिल करने के बजाए भाजपा ने उन्‍हें अपनी पार्टी में शामिल कर लिया. जबकि जेडीयू ने बिहार में कभी ऐसा नहीं किया. वहीं, जेडीयू नेता ने कहा कि सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) संख्या बल नहीं, साख के नेता हैं. उनके नेतृत्व और आभामंडल का आंकलन संख्या बल के आधार पर नहीं करना चाहिए. वहीं, अब नीतीश कुमार अन्य राज्यों में भी पार्टी के लिए काम करेंगे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज