होम /न्यूज /बिहार /बिहार: एल्केम ग्रुप के निदेशक और संप्रदा सिंह के बेटे बाल्मीकि प्रसाद सिंह का निधन, फार्मा जगत में शोक

बिहार: एल्केम ग्रुप के निदेशक और संप्रदा सिंह के बेटे बाल्मीकि प्रसाद सिंह का निधन, फार्मा जगत में शोक

एल्केम ग्रुप के निदेशक बाल्मिकी सिंह का निधन. (फाइल फोटो)

एल्केम ग्रुप के निदेशक बाल्मिकी सिंह का निधन. (फाइल फोटो)

Bihar News: जुलाई 2019 में संप्रदा बाबू का 94 वर्ष की आयु में मुम्बई में निधन हो गया था. चार साल के भीतर एल्केम परिवार ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

एल्केम ग्रुप के निदेशक वाल्मीकि सिंह का निधन 68 वर्ष की आयु में हुआ.
पिछले साल ही कंपनी के चेयरमैन धनंजय कुमार सिंह का निधन हो गया था.
जुलाई 2019 में संप्रदा बाबू का 94 वर्ष की आयु में मुम्बई में निधन हो गया था.

रिपोर्ट- राजीव रंजन विमल
पटना. कारोबारी दुनिया बड़ी खबर है कि देश की जानी-मानी फार्मा कंपनी एल्केम ग्रुप के निदेशक बाल्मिकी प्रसाद सिंह का निधन हो गया. वे एल्केम ग्रुप के संस्थापक संप्रदा बाबू के द्वितीय पुत्र थे. वाल्मीकि सिंह का निधन 68 वर्ष की आयु में हुआ. वे 1988 से ही कंपनी के बोर्ड में थे.

एल्केम ग्रुप के लिए ये बड़ी क्षति है. पिछले साल ही कंपनी के चेयरमैन धनंजय कुमार सिंह का निधन हो गया था. 55 वर्षीय धनंजय सिंह संप्रदा बाबू के भतीजे थे. संप्रदा बाबू के भाई बासुदेव सिंह के बेटे धनंजय सिंह ने कंपनी में लगातार महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. परिवार के मृदुभाषी सदस्य के तौर पर उनकी पहचान थी.

बताते चलें कि जुलाई 2019 में संप्रदा बाबू का 94 वर्ष की आयु में मुम्बई में निधन हो गया था. चार साल के भीतर एल्केम परिवार में मौत की ये तीसरी घटना है. बाल्मीकि सिंह के निधन से बिहार के जहानाबाद समेत पूरे दवा उद्योग जगत में शोक की लहर फैल गयी है.

30 देशों में फैलाया दवा कारोबार
फार्मा कंपनी एल्केम के संस्थापक संप्रदा सिंह का जन्म वर्ष 1925 में बिहार के जहानाबाद जिले में मोदनगंज प्रखंड के ओकरी गांव में हुआ था. पटना विश्वविद्यालय से वाणिज्य विषय में स्नातक की डिग्री हासिल करने के बाद उन्होंने काफी संघर्ष के बाद 1973 में दवा कंपनी एल्केम की स्थापना की थी. वे कंपनी के संस्थापक होने के साथ ही आजीवन उसके चेयरमैन भी रहे.

एल्केम की गिनती देश की पांच बड़ी दवा कंपनियों में होती है. इसका कारोबार दुनिया के 30 देशों में फैला हुआ है. अकेले संप्रदा बाबू के पास 26 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की संपत्ति थी. इस तरह का आर्थिक हैसियत रखने वाले वे पहले बिहारी थे.

एक समय अनिल अंबानी से थे आगे
कारोबारी पत्रिका फोर्ब्स इंडिया की वर्ष 2017 में जारी भारत के अमीरों की सूची में बिहार के संप्रदा सिंह ने रिलायंस समूह के अनिल अंबानी को भी पीछे छोड़ दिया था. इस सूची में सिंह को 43वां जबकि अनिल अंबानी को 45वां स्थान प्राप्त हुआ था. वहीं, फोर्ब्स की ‘द वल्डर् बिलिनेयर्स लिस्ट 2018 में संप्रदा सिंह 1867 वें पायदान पर रहे थे.

Tags: Bihar News, PATNA NEWS

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें