भोजपुरी न्यूज: बच्चा राय से लेकर मंजू वर्मा तक, नेता लोगन के रसूख के आगे लाचार बिया बिहार पुलिस

हाल के दिन में इल नया मामला नईखे जब बिहार में रसूख वाला लोग इहे तरी सरेंडर कईले बा लोग. मंजू वर्मा से पहिले उनकर पति चंद्रशेखर वर्मा भी असहीं बेगूसराय के मंझौल के अनुमंडल कोर्ट में सरेंडर कइले रहन.

Amrendra Kumar | News18 Bihar
Updated: November 20, 2018, 3:53 PM IST
भोजपुरी न्यूज: बच्चा राय से लेकर मंजू वर्मा तक, नेता लोगन के रसूख के आगे लाचार बिया बिहार पुलिस
मंजू वर्मा के फाइल फोटो
Amrendra Kumar
Amrendra Kumar | News18 Bihar
Updated: November 20, 2018, 3:53 PM IST
बिहार में पुलिस के काबिलियत पर एक बार फिर से सवाल खड़ा भईल बा. सवाल ए कारण से उठल बा कि एक दिन में दू गो बड़ केस के आरोपी पुलिस के चकमा दे के कोर्ट में सरेंडर कइले. खास बात इ रहल कि दूनो मामला बिहार के हाई प्रोफाईल रहल और दूनो मामला में सरेंडर करे वाला चेहरा भी विशेष रहे.

मंगलवार के बिहार के पूर्व मंत्री मंजू वर्मा जहां आर्म्स एक्ट के मामला में बेगूसराय के मंझौल कोर्ट में सरेंडर कइली ओहीं मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस के आरोपी ब्रजेश ठाकुर के राजदार मधु भी पुलिस औरू सीबीआई के चकमा दे के कोर्ट पहुंच गईली. मंजू वर्मा के गिरफ्तारी न होइला पर सवाल इ कारण भी खड़ा होता काहे कि उ कोर्ट में अपन रूप बदल के औरू बुर्का पेन्ह के पहुंचली. इ दौरान पुलिस के भनक तक न लगल और उ आसानी से सरेंडर कर गईली. दोसर तरफ मुजफ्फरपुर में भी कुछ ऐसने भईल और मधु सीधे अपन वकील के संगे सीबीआई कोर्ट जा पहुंचल.

इ भी पढीं- भोजपुरी न्यूज: तेजप्रताप के सास पहुंचली आपन समधियाना, राबड़ी से जनली दामाद की खबर

हाल के दिन में इल नया मामला नईखे जब बिहार में रसूख वाला लोग इहे तरी सरेंडर कईले बा लोग. मंजू वर्मा से पहिले उनकर पति चंद्रशेखर वर्मा भी असहीं बेगूसराय के मंझौल के अनुमंडल कोर्ट में सरेंडर कइले रहन. उनको पुलिस लगातार खोजत रहे लेकिन सफल न भईल. उनका से पहिले के कहानी देखल जाओ त इ कहानी लंबा बा. नाबालिग लड़की के साथ रेप के ही एगो मामला में पुलिस लालू यादव के पार्टी राजद के विधायक राजवल्लभ यादव के गिरफ्तार न कर पाइल रहे. राजवल्लभ के गिरफ्तारी खातिर त नीतीश कुमार के सुशासन वाली पुलिस के 12 टीमें बनावाल गईल रहे लेकिन उहो 10 मार्च 2016 के अपन मर्जी से कोर्ट में सरेंडर कइलन.

बच्चा राय के फाइल फोटो


पुलिस के बेबसी के किस्सा आउर लंबा हो जाला जब इ कड़ी में अश्विनी चौबे के बेटा और बिहार टॉपर घोटाला के किंगपिन बच्चा राय के नाम जुड़ जाला. लालू के खास रहल बच्चा राय के पकड़े के कोशिश बिहार पुलिस खूब कइलस लेकिन बच्चा राय आपन वैशाली के कॉलेज में खुद के मीडिया के सामने सरेंडर करे के बात कहलस. बिहार के भागलपुर में रामनवमी के दौरान संप्रदायिक हिंसा भड़कावे के मामला में आरोपी और केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के बेटा अर्जित शाश्वत भी इ मामला में बिहार पुलिस से तेज निकलल रहे. शाश्वत ताव ठोकत पटना के हनुमान मंदिर आईल और सरेंडर कइलस..

एकरा अलावा गया रोडरेज केस के भी कुछ आरोपी समेत कई हत्याकांड के सफेदपोश आरोपी पुलिस के धत्ता बता के आत्मसमर्पण कर चुकल बाड़न. कुल मिलाके अइसन कईगो किस्सा बा जे से बिहार में नीतीश कुमार के पुलिस के काबिलियत और गिरफ्तारी के प्रकरण पर सवाल उठत बा.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर