Home /News /bihar /

big breaking news prashant kishor aka pk lashed out at lalu yadav raj and nitish kumar government know latest update nodmk3

प्रशांत किशोर ने राजनीतिक पार्टी बनाने के लिए तय की शर्त, पश्चिम चंपारण से निकालेंगे 3000 KM लंबी पदयात्रा

प्रशांत किशोर ने लालू प्रसाद यादव और नीतीश कुमार पर एक साथ हमला बोला है. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

प्रशांत किशोर ने लालू प्रसाद यादव और नीतीश कुमार पर एक साथ हमला बोला है. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

Prashant Kishor Politics: बिहार में राजनीतिक जमीन तलाश रहे चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने कहा कि उन्‍होंने पिछले 5 महीने में 17 हजार से ज्‍यादा लोगों से संपर्क स्‍थापित किया. उन्‍होंने बताया कि अब वह इन सभी लोगों से मुलाकात करेंगे. साथ ही उन्‍होंने 2 अक्‍टूबर से पश्चिम चंपारण से 3000 किलोमीटर की पदयात्रा निकालने की भी घोषणा की है.

अधिक पढ़ें ...

पटना. प्रशांत किशोर ने लालू प्रसाद यादव और नीतीश कुमार पर एक साथ हमला किया है. उन्‍होंने कहा कि लालू और नीतीश राज में बिहार पिछले 30 साल से सबसे पिछड़ा राज्‍य बना हुआ है. बिहार में राजनीतिक जमीन तलाश रहे प्रशांत किशोर ने कहा कि प्रदेश में पिछले 3 दशक से लालू यादव और नीतीश कुमार का शासनकाल रहा है. लालू और उनके समर्थकों का मानना है कि उनके राज में सामाजिक न्‍याय हुआ. वहीं, नीतीश कुमार और उनके समर्थकों का मानना है कि उनके शासनकाल में न्‍याय के साथ विकास हुआ. दोनों के दावों में कुछ सच्‍चाई जरूर है, लेकिन बिहार लालू और नीतीश के 30 साल के राज में सबसे प‍िछड़ा राज्‍य बना हुआ है. प्रशांत किशोर ने पश्चिम चंपारण से 3000 किलोमीटर लंबी पदयात्रा निकालने का ऐलान करते हुए राजनीतिक पार्टी बनाने के लिए एक शर्त भी तय कर दी है.

सक्रिय राजनीति में दोबारा से आने की घोषणा करने वाले प्रशांत किशोर ने कहा कि बिहार को आगे बढ़ाने के लिए नई सोच ओर नए प्रयास की जरूरत है. अगर बिहार के सभी लोग मिलकर नई सोच को आगे नहीं बढ़ाएंगे तो प्रदेश आगे नहीं बढ़ सकता है. बिहार के लोगों को बदलाव के लिए आगे आना होगा. हालांकि, उन्‍होंने स्‍पष्‍ट शब्‍दों में कहा कि वह किसी राजनीतिक पार्टी का ऐलान नहीं करने जा रहे हैं. प्रशांत किशोर ने बताया कि उन्‍होंने पिछले 5 महीने में 17 हजार से ज्‍यादा लोगों से संपर्क स्‍थापित किया और अब इन लोगों से मुलाकात करेंगे. पीके ने बताया कि वह अगले 3 से 4 महीने में में 17 से 18 हजार लोगों से मुलाकात कर उनके साथ जन सुराज की चर्चा करेंगे. प्रशांत किशोर ने कहा कि यदि ये लोग पार्टी बनाने की बात कहेंगे तो पार्टी बनाई जाएगी, लेकिन वह पार्टी प्रशांत किशोर की नहीं, बल्कि सभी लोगों की होगी.

पार्टी बनाने पर रुख किया साफ
प्रशांत किशोर ने इस मौके पर कहा कि उनका लक्ष्‍य जन सुराज की सोच रखने वालों को साथ लाकर काम करने की है. उन्‍होंने आगे कहा कि अगर सबके बीच समन्वय बनाता है, तो दल के गठन का फैसला लिया जाएगा. जो दल बनेगा वह प्रशांत किशोर के साथ उसमें साथ देनेवाला सबका होगा. प्रशांत किशोर ने कहा, ‘मैं 1 साल सोचने के बाद बिहार वापस आया हूं. आने वाले कई वर्षों तक आप मुझे बिहार में देखेंगे.’

क्‍या होगी प्रशांत किशोर की ‘राजनीतिक चाल’? कितना आसान है नीतीश और लालू सरीखे नेताओं को मात देना? 

पश्चिम चंपारण से 3000 किलोमीटर लंबी पदयात्रा निकालने का ऐलान
प्रशांत किशोर ने इस मौके पर पश्चिम चंपारण से 3000 किलोमीटर लंबी पदयात्रा निकालने की भी घोषणा की है. उन्‍होंने कहा कि वह 2 अक्‍टूबर से पदयात्रा पर निकलेंगे. प्रशांत किशोर ने बताया कि वह बेतिया के गांधी आश्रम से पदयात्रा की शुरुआत करेंगे. इस दौरान वह हर व्‍यक्ति से मुलाकात करने की कोशिश करेंगे. प्रशांत किशोर ने कहा कि मेरा फोकस बिहार के लोगों से मिलना, उनकी बात को समझना और लोगों को जन सुराज से जोड़ना है.

चुनाव लड़ना लक्ष्‍य नहीं: पीके
प्रशांत किशोर ने इस मौके पर कहा कि वह अपने आप को पूरी तरह से समर्पित कर रहे हैं. साथ ही उन्‍होंने स्‍पष्‍ट किया कि उनका लक्ष्‍य सिर्फ चुनाव लड़ना नहीं है. यदि चुनाव लड़ना ही उद्देश्‍य होता तो वह 6 महीने पहले आते और चुनाव लड़ते. बात बिहार की अभियान के पूरा नहीं होने पर उन्‍होंने कहा कि कोविड के कारण कैंपेन को बीच में ही रोकना पड़ा.

‘बिहार में रोजगार नहीं, शिक्षा-स्‍वास्‍थ्‍य व्‍यवस्‍था भी ध्‍वस्‍त’
प्रशांत किशोर ने बिहार सरकार को भी इस मौके पर आड़ हाथ लिया. उन्‍होंने कहा कि प्रदेश में रोजगार नहीं है. इसके साथ ही शिक्षा और स्‍वास्‍थ्‍य व्‍यवस्‍था भी ध्‍वस्‍त है. बता दें कि प्रशांत किशोर को नीतीश कुमार का करीबी माना जताा है, लेक‍िन इस बान उन्‍होंने नीतीश सरकार को आड़े हाथ लिया है.

नीतीश से कोई झगड़ा नहीं
पिछले दिनों मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार और प्रशांत किशोर को लेकर काफी चर्चा हुई थी. अब प्रशांत किशोर ने स्‍पष्‍ट शब्‍दों में कहा कि उनका सीएम नीतीश से कोई व्‍यक्तिगत झगड़ा नहीं है. उन्‍होंने आगे कहा कि वह साल 2015 में नीतीश कुमार के लिए काम किया था. साथ ही कहा कि यदि सीएम नीतीश उन्‍हें मिलने बुलाते हैं तो वह जरूर जाएंगे.

Tags: Bihar News, Prashant Kishor

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर