होम /न्यूज /बिहार /Bihar By Election: मोकामा-गोपालगंज में शुरू हुई वोटिंग, दांव पर दिग्गजों की प्रतिष्ठा

Bihar By Election: मोकामा-गोपालगंज में शुरू हुई वोटिंग, दांव पर दिग्गजों की प्रतिष्ठा

बिहार की मोकामा सीट के लिए हो रहे चुनाव में एक बूथ पर तैनात सुरक्षाकर्मी

बिहार की मोकामा सीट के लिए हो रहे चुनाव में एक बूथ पर तैनात सुरक्षाकर्मी

Bihar Assembly By Election: बिहार में विधानसभा की दो सीटों मोकामा और गोपालगंज के लिए गुरुवार को चुनाव हो रहे हैं. इन दो ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

मोकामा में अनंत सिंह और ललन सिंह की पत्नी आमने-सामने हैं
गोपालगंज सीट पर भी बीजेपी-राजद में लड़ाई है
मतों की गिनती 6 नवंबर को की जायेगी

पटना. बिहार में विधानसभा की दो सीटों मोकामा और गोपालगंज पर उपचुनाव के लिए मतदान शुरू हो गया है. दोनों सीटों पर सीधा मुकाबला सत्ताधारी महागठबंधन बनाम बीजेपी है. महागठबंधन में शामिल राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने इन दोनों सीटों पर अपने प्रत्याशी खड़े किये हैं और दोनों के बीच कड़ा मुकाबला होने की संभावना है. मोकामा सीट पर पहले से ही राजद का जबकि गोपालगंज पर भाजपा का कब्जा था. भाजपा इस बार मोकामा सीट से चुनाव लड़ रही है.

मोकामा सीट से भाजपा और राजद दोनों ने ही बाहुबलियों की पत्नी को उम्मीदवार बनाया है. मोकामा में भाजपा ने सोनम देवी को मैदान में उतारा है, जो बाहुबली ललन सिंह की पत्नी हैं. राजद ने इस सीट से छोटे सरकार के नाम से विख्यात पूर्व विधायक अनंत सिंह की पत्नी नीलम देवी को उम्मीदवार बनाया है. मोकामा में उपचुनाव राजद विधायक अनंत कुमार सिंह को अयोग्य ठहराए जाने के कारण कराया जा रहा है. बाहुबली से राजनेता बने अनंत सिंह ने मोकामा सीट पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के टिकट पर तीन बार, एक बार निर्दलीय और 2020 में राजद उम्मीदवार के रूप में जीत हासिल की थी. स्थानीय बाहुबली और अनंत सिंह के विरोधी ललन सिंह की पत्नी सोनम सिंह पहली बार चुनावी मैदान में हैं.

ललन सिंह को गैंगस्टर से नेता बने सूरजभान सिंह का करीबी माना जाता है, जिन्होंने वर्ष 2000 के विधानसभा चुनाव में अनंत सिंह के बड़े भाई दिलीप सिंह को हराया था जो तत्कालीन राबड़ी देवी सरकार में मंत्री थे. बात अगर गोपालगंज की करें तो गोपालगंज में भी मुकाबला दिलचस्प है. भाजपा ने लगातार चार बार से विधायक और एक बार नीतीश कैबिनेट में सहकारिता मंत्री रह चुके दिवंगत सुभाष सिंह की पत्नी कुसुम देवी को चुनाव मैदान में उतारा है.

महागठबंधन ने गोपालगंज से सोना-चांदी के बड़े व्यवसायी मोहन प्रसाद गुप्ता को चुनाव मैदान में उतारा है. तेजस्वी यादव का यह गृह जिला है. गोपालगंज का सीट भाजपा के कब्जे में पिछले 17 सालों से है. लिहाजा राजद इस सीट पर अपना कब्जा जमाना चाहती है. यही वजह है कि इस बार वैश्य समाज के आने वाले मोहन प्रसाद गुप्ता का राजद ने उम्मीदवार बनाया है.

गोपालगंज सीट से उपचुनाव के लिए पूर्व सांसद अनिरुद्ध प्रसाद उर्फ साधु यादव की पत्नी इंदिरा यादव ने बसपा (बहुजन समाज पार्टी) से नामांकन किया था और वो चुनावी मैदान में हैं. इंदिरा यादव राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद की सरहज हैं और डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव की मामी भी. उनके आने से इस सीट से मुकाबला त्रिकोणीय हो गया है.

Tags: Assembly by election, Bihar News, PATNA NEWS

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें