बरुराज विधानसभा सीट: लालू के गढ़ में क्या टिक पाएंगे दूसरे प्रत्याशी?

बिहार विधानसभा चुनाव 2020.
बिहार विधानसभा चुनाव 2020.

Bihar Assembly Election 2020: बरुराज सीट पर कांग्रेस की तरफ से लगातार साल 1951, 1957 और 1962 तक तीन बार रामचंद्र प्रसाद साही विधायक रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 26, 2020, 9:46 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव 2020 (Bihar Assembly Election 2020) के लिए मुजफ्फरपुर में बरुराज विधानसभा (Baruraj Assembly Seat) सीट लालू प्रसाद यादव (Lalu Prashad Yadav) की पार्टी का राष्ट्रीय जनता दल (RJD) का गढ़ है. पार्टी के गठन के बाद से इस सीट पर सिर्फ राजद ही चुनाव जीतते आई है. साल 2000 से पहले यहां जनता दल का दबदबा था. लेकिन पार्टी टूटने के बाद इस सीट पर लालू के उम्मीदवार को जनता ने समर्थन दिया है, जो बीस साल से जारी है. 20 साल से राजद ही इस सीट का नेतृत्व कर रही है.

2015 के चुनाव में भी यह सीट राजद के खाते आई, लेकिन भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने कांटे की टक्कर पेश की थी. क्योंकि हार जीत का अंतर 4,909 वोटों से था. राजद के नंदकुमार राय को 68,011 वोट मिले थे. जबकि बीजेपी ने अरुण कुमार सिंह को 63,102 वोट पड़े थे.

इससे पहले, 2010 के विधानसभा चुनाव में भी राजद ने यहां जीत हासिल की थी. उस साल राजद ने इस सीट से बृजकिशोर सिंह को उम्मीदवार बनाया था. उन्होंने जदयू प्रत्याशी को मात दी थी. बृजकिशोर सिंह को 42,783 वोट मिले थे. जबकि जदयू के उम्मीदवार नंदकुमार राय 28,466 वोटों के साथ दूसरे स्थान पर रहे थे. 2015 के अनुसार, बरुराज विधानसभा क्षेत्र में कुल 2,57,132 वोटर्स हैं और कुल 60.6 फीसदी वोटिंग हुई थी.



सीट का इतिहास
बरुराज सीट पर कांग्रेस की तरफ से लगातार साल 1951, 1957 और 1962 तक तीन बार रामचंद्र प्रसाद साही विधायक रहे हैं. 1967 के चुनाव में उनको हार मिली, लेकिन 1969 के चुनाव में एक बार फिर रामचंद्र जीते. बाद में लगातार चार चुनाव 1985, 1990, 1995, 2000 तक शशि कुमार राय विधायक बने. 1985 से शशि एलकेडी की टिकट पर जीते. शशि ने 1990 और 1995 का चुनाव जनता दल की टिकट पर जीता. इसके बाद 2000 और अक्टूबर 2005 का चुनाव जेडीयू की टिकट पर विजय हासिल की. 2010 से इस सीट पर आरजेडी का कब्जा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज