Bihar Assembly Election 2020: रामदास अठावले ने भी ठोकी ताल, NDA को समर्थन देने का ऐलान

बिहार चुनाव की हलचल तेज हो गई है.
बिहार चुनाव की हलचल तेज हो गई है.

रामदास अठावले (Ramdas Athawale) ने सुशांत सिंह राजपूत मामले में जल्द पूरी करने की बात कही. उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र सरकार को कृषि कानून (Agriculture Bill 2020) हर हाल में लागू करना पड़ेगा.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: September 30, 2020, 11:50 PM IST
  • Share this:
पटना. केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले (Ramdas Athawale) बुधवार से बिहार के दौरे पर हैं. पटना एयरपोर्ट पर रामदास अठावले ने कहा है कि बिहार में विधानसभा चुनाव होने हैं. हमारी पार्टी रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया भी बिहार के कई जिलों में सक्रिय है. बिहार चुनाव में हमारी पार्टी भी उतरने जा रही है. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इस दौरे में हम सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar), डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी, बिहार बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जयसवाल से मुलाकात करेंगे. हालांकि बिहार एनडीए में रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया को कोई जगह मिलेगी नहीं. पर मैं नीतीश कुमार, सुशील मोदी, संजय जयसवाल की आगामी चुनाव को लेकर चर्चा करूंगा.

रामदास अठावले ने कहा कि अगर हमारी पार्टी को सत्ता में भागीदारी देने की बात होती है, तो हम कोई उम्मीदवार खड़ा नहीं करेंगे. अगर बात नहीं बनती है तो हम बिहार में कई सीटों पर उम्मीदवारों उतारेंगे और बाकी सभी सीटों पर एनडीए का समर्थन करेंगे.





सुशांत केस में बड़ा बयान
वहीं, केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने सुशांत सिंह राजपूत मामले में कहा कि सुशांत सिंह राजपूत पटना के रहने वाले थे. सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या क्यों करेंगे? उनके पास रूपये भी थे. सीबीआई को पूरे मामले की जांच जल्द से जल्द पूरी कर लेनी चाहिए. मुम्बई की पुलिस ने 2 महीने में कुछ नहीं किया था और हम लोगों ने दवाब बनाया तो सीबीआई जांच की जा रही है. केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार को कृषि कानून को हर हाल में लागू करना पड़ेगा. भारत सरकार जो कानून बनाती है, उसे राज्यों को लागू करना होता है.

ये भी पढ़ें: Hathras Case: कैलाश विजयवर्गीय बोले- 'CM योगी के प्रदेश में कभी भी पलट जाती है गाड़ी'

महागठबंधन को झटका

सीटशेयरिंग को लेकर मचे घमासान के बीच महागठबंधन को बड़ा झटका लगा है. दरअसल भाकपा-माले (CPI-ML) ने बिहार विधानसभा चुनाव के लिए राज्य के कुल 30 विधानसभा क्षेत्रों के नाम समेत अपने सीटों की पहली सूची जारी कर दी है. पार्टी की ओर से कहा गया कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन यानी एनडीए के खिलाफ विपक्ष की कारगर एकता न होना दुखद होगा. पार्टी के राज्य सचिव कुणाल ने कहा है कि विधानसभा चुनाव में सीटों के तालमेल को लेकर भाकपा-माले व राष्ट्रीय जनता दल के बीच राज्य स्तर पर कई राउंड की बातचीत चली. हमने अपनी सीटों की संख्या घटाकर 30 कर ली थी. संपूर्ण तालमेल की स्थिति में इन प्रमुख 30 सीटों में से भी 10 सीटें और भी कम करते हुए हमने 20 प्रमुख सीटों पर हमारी दावेदारी स्वीकार कर लेने का प्रस्ताव रखा था, लेकिन बात नहीं बनी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज