Bihar Election 2020: जीत के बावजूद बड़ा झटका, नीतीश सरकार के 10 मंत्री हारे चुनाव

नितिश सरकार के 10 मंत्री चुनाव हार गए हैं.
नितिश सरकार के 10 मंत्री चुनाव हार गए हैं.

बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election 2020) में बेहद रोमांचक मुकाबले में मुख्यमंत्री और जदयू प्रमुख नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के नेतृत्व वाले राजग ने 125 सीटों पर जीत कर बहुमत का जादुई आंकड़ा हासिल कर लिया, लेकिन 10 मंत्रियों को हार का सामना करना पड़ा.

  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election 2020) में बेहद रोमांचक मुकाबले में मुख्यमंत्री और जदयू प्रमुख नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के नेतृत्व वाले राजग ने 125 सीटों पर जीत कर बहुमत का जादुई आंकड़ा हासिल कर लिया. लेकिन चुनाव में बड़े उलटफेर में नीतीश सरकार के मंत्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा, सुरेश शर्मा, शैलेश कुमार, फिरोज अहमद, ब्रजकिशोर बिंद और जयकुमार सिंह सहित 10 मंत्रियों को हार का सामना करना पड़ा. नीतीश सरकार में समाज कल्याण मंत्री रामसेवक सिंह हथुआ से चुनाव हार गए. राजद उम्मीदवार राजेश कुमार ने रामसेवक को करीब 30 हजार मतों के अंतर से पराजित किया. जदयू (JDU) नेता और बिहार सरकार में शिक्षा मंत्री कृष्ण नंदन वर्मा को राजद उम्मीदवार सुदय यादव ने हराया है.

रोहतास जिले की दिनारा सीट से राज्य के सहकारिता मंत्री जय कुमार सिंह चुनाव हार गए हैं. उन्हें राजद के विजय कुमार मंडल ने हराया जिन्हें कुल 59,541 वोट मिले जबकि 51,313 वोट प्राप्त कर दूसरे नंबर पर लोजपा उम्मीदवार और भाजपा के बागी राजेंद्र सिंह रहे. जयकुमार सिंह 27,252 वोट के साथ तीसरे नंबर पर रहे. मुजफ्फरपुर विधानसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार और नीतीश सरकार में नगर विकास मंत्री सुरेश कुमार शर्मा को महागठबंधन की तरफ से कांग्रेस के विजेंद्र चौधरी ने 6 हजार वोटों के अंतर से हराया.

चुनाव में इन चेहरों को मिली हार



बिहार सरकार में परिवहन मंत्री संतोष कुमार निराला को राजपुर सुरक्षित सीट से कांग्रेस के विश्वनाथ राम ने करीब 20 हजार वोटों के अंतर से हराया.  वहीं, अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री फिरोज अहमद को सिकटा सीट पर भाकपा-माले के बृजेंद्र प्रसाद गुप्ता ने करीब 13 हजार मतों के अंतर से पराजित किया. राज्य सरकार में मंत्री एवं जदयू प्रत्याशी शैलेश कुमार को जमालपुर विधानसभा सीट पर कांग्रेस के डॉ. अजय कुमार सिंह ने करीब चार हजार मतों से पराजित किया. परिवहन मंत्री संतोष कुमार निराला को राजपुर सीट पर कांग्रेस के विश्वनाथ राम ने करीब 20 हजार वोटों के अंतर से हराया. राज्य के मंत्री एवं भाजपा उम्मीदवार ब्रजकिशोर बिंद को चैनपुर सीट पर बसपा प्रत्याशी जमा खान ने 24 हजार से अधिक मतों से पराजित किया.
ये भी पढ़ें: PHOTOS: झाबुआ के कड़कनाथ मुर्गा बनेंगे महेन्द्र सिंह धोनी के फार्म हाउस की शान, जानें पूरा मामला

प्रदेश सरकार में मंत्री लक्ष्मेश्वर राय को लौकहां विधानसभा सीट पर राजद के भारत भूषण मंडल ने करीब नौ हजार मतों से पराजित किया. नीतीश सरकार में मंत्री एवं जदयू उम्मीदवार रमेश रिषीदेव को सिंहेश्वर विधानसभा सीट पर राजद के चंद्रहास चौपाल ने करीब पांच हजार मतों के अंतर से पराजित किया.

इन नेताओं को मिली जीत

चुनाव में जिन महत्वपूर्ण नेताओं ने जीत हासिल की उनमें हम पार्टी के प्रमुख जीतन राम मांझी, राजद नेता तेजस्वी यादव, तेज प्रताप यादव, राष्ट्र मंडल खेल में स्वर्ण पदक विजेता श्रेयसी सिंह, विधानसभा के स्पीकर विजय कुमार चौधरी, राज्य सरकार में मंत्री नंद किशोर यादव शामिल हैं. हम पार्टी के प्रमुख जीतन राम मांझी 16,034 वोटों के अंतर से इमामगंज सीट से जीते. राजद नेता तेजप्रताप यादव 21,139 वोटों के अंतर से हसनपुर सीट से चुनाव जीते. महागठबंधन से मुख्यमंत्री पद के प्रत्याशी तेजस्वी यादव ने 37 हजार वोटों से ज्यादा अंतर से जीत दर्ज की.

विधानसभा के स्पीकर विजय कुमार चौधरी ने सरायरंजन से अपने निकटतम प्रतिद्वन्द्वी को 4000 मतों के अंतर से पराजित किया. राजद के अब्दुल बारी सिद्दीकी केवटी सीट से भाजपा के मुरारी मोहन झा से 5,267 वोटों के अंतर से हारे. वहीं लालू प्रसाद के करीबी माने जाने वाले भोला यादव को हायाघाट विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के राम चंद्र प्रसाद ने 10,252 वोटों के अंतर से हराया. राष्ट्रमंडल खेल में स्वर्ण पदक विजेता एवं भाजपा उम्मीदवार श्रेयसी सिंह ने राजद के विजय प्रकाश को 41 हजार मतों से पराजित किया. कांग्रेस उम्मीदवार और शरद यादव की बेटी सुभाषिनी यादव को मधेपुरा के बिहारीगंज सीट से हार का सामना करना पड़ा.

वहीं, सारण की परसा सीट पर जदयू के प्रत्‍याशी चंद्रिका राय हार गए. चंद्रिका राय की पुत्री एश्वर्य के साथ लालू प्रसाद के बड़े पुत्र तेज प्रताप यादव का विवाह हुआ था लेकिन यह रिश्ता ज्यादा समय नहीं चल सका. अभी यह मामला अदालत में है. प्लूरल्स पार्टी की प्रमुख पुष्पम प्रिया चौधरी बांकीपुर और बिस्फी विधानसभा से चुनावी मैदान में थीं और दोनों सीट से चुनाव हार गईं. वहीं , शत्रुघ्न सिन्हा के पुत्र लव सिन्हा को बांकीपुर सीट पर भाजपा के नितिन नवीन ने पराजित किया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज