Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    बिहार विधानसभा चुनाव खत्म हुआ, पर नहीं रुकी JDU-RJD के बीच की जुबानी जंग

    जेडीयू के नेताओं ने आरजेडी पर जमकर निशाना साथा. (फाइल फोटो)
    जेडीयू के नेताओं ने आरजेडी पर जमकर निशाना साथा. (फाइल फोटो)

    जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार ने एक बार फिर से राजनीतिक शुचिता का परिचय दिया है. जब भी कोई अंगुली उनपर उठी, उन्होंने उसका जवाब दिया. लेकिन तेजस्वी यादव के पास क्या कोई नैतिकता है?

    • News18Hindi
    • Last Updated: November 21, 2020, 5:41 PM IST
    • Share this:
    पटना. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) तो खत्म हो चुका. एनडीए (NDA) की अगुवाई में नई सरकार ने काम करना भी शुरू कर दिया. पर राजद (RJD) और जेडीयू (JDU) के बीच चल रही जुबानी जंग अभी नहीं थमी है. जेडीयू के कई नेताओं ने एक साथ आज आरजेडी पर हमला बोला है.

    जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने मेवालाल के इस्तीफे पर कहा कि मैं मेवालाल को धन्यवाद देता हूं, जिन्होंने पद छोड़ कर अच्छी मिसाल पेश की है. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार ने एक बार फिर से राजनीतिक शुचिता का परिचय दिया है. जब भी कोई अंगुली नीतीश कुमार पर उठी, उन्होंने उसपर कार्रवाई कर उसका जवाब दिया. उन्होंने सवाल किया कि लेकिन तेजस्वी यादव के पास क्या कोई नैतिकता है? क्या उनके लिए राजनीतिक शुचिता कोई मायने नहीं रखती है. नेता प्रतिपक्ष इसका पालन खुद क्यों नहीं करते. वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि तेजस्वी यादव को बोलने का कोई हक नहीं है. जब उन पर मामला चल रहा है, तो वे खुद कोई मिसाल पेश क्यों नहीं करते.

    नीतीश कुमार की तारीफ करते हुए वशिष्ठ नारायण ने कहा कि नीतीश कुमार जीरो टॉलरेंस की बात करते हैं और उसी पर चलते हैं. लेकिन तेजस्वी यादव ऐसा नहीं कर सकते. उनपर खुद कई आरोप लगे हैं, लेकिन वह दूसरों पर आरोप लगा रहे हैं. उन्हें चाहिए कि वह अपने पर लगे आरोपों पर कुछ ऐसा करें कि वह मिसाल बन जाए.



    इसी क्रम में जेडीयू के मंत्री अशोक चौधरी ने कहा कि नीतीश कुमार ट्रिपल C से कभी समझौता नहीं करते. उन्होंने कहा कि 16 नवंबर को मेवालाल ने शपथ ली थी. 17 को़ अभियोजन के SP ने जांच की अनुमति मांगी. 18 को उसकी रिपोर्ट आई और 19 को मेवालाल ने इस्तीफा दे दिया. इसे कहते हैं शुचिता का परिचय देना.
    'तेजस्वी यादव को नैतिकता के नाम पर इस्तीफा देना चाहिए'

    इस मौके पर जेडीयू नेता संजय सिंह ने कहा कि तेजस्वी यादव पर कई मामले चल रहे हैं. उन्हें भी नैतिकता के नाम पर इस्तीफा दे देना चाहिए. नेता प्रतिपक्ष जैसे संवैधानिक पद पर आसीन व्यक्ति पर आरोप लगा हुआ है और वह पद नहीं छोड़ रहा, लेकिन वे दूसरे की नैतिकता की नैतिकता को कठघरे में खड़ा कर रहा.

    जेडीयू के प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा कि हम अपराध और भ्रष्टाचार से कभी समझौता नहीं करते हैं. राजद पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि तेजस्वी जी आप भ्रष्टाचार के जनक हैं. बावजूद इसके आप नैतिकता की बात करते हैं. दरअसल आप लालु परिवार का नया DNA हैं. उन्होंने कहा कि बिना संपती के लालू परिवार रह ही नहीं सकता है

    जेडीयू के नेता अजय आलोक ने तो साफ तौर पर कहा कि चुनाव खत्म हुआ है, लेकिन लड़ाई खत्म नहीं हुई है. एक तरफ नीतीश कुमार चेहरा है तो दूसरी तरफ़ लालू परिवार का चेहरा है. जनता सब देख रही है. नीतीश कुमार के कहने पर मेवालाल ने इस्तीफा दिया है. पूरा NDA एक मत है. किसी फैसले पर इसमें कोई सवाल नहीं है.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज