केंद्रीय मंत्री बोले- नीतीश तो दिल्ली में भी फिट हो जाएंगे, बिहार में अति पिछड़े या सवर्ण को मिले कमान

केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे (फाइल फोटो)
केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे (फाइल फोटो)

भाकपा माले की नेता कविता कृष्णन ने कहा है कि बिहार में चुनाव नहीं आंदोलन था. महागठबंधन की एकता जमीन तक दिखी. शुरू से ही एनडीए में विखराव दिख रहा था. और बीजेपी के पोस्टर से नीतीश गायब हो गए थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 8, 2020, 6:48 AM IST
  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) के एग्जिट पोल (Exit Poll) में अधिकतर न्यूज चैनल्स महागठबंधन (Grand Alliance) की सरकार बनने का दावा कर रहे हैं, लेकिन एनडीए के नेता कह रहे हैं कि 10 नवंबर का इंतजार कीजिए, सब पलट जाएगा. इसी मुद्दे पर केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे (Ashwini Chaube) ने न्यूज़18 से खास बातचीत की है. उन्होंने एनडीए की जीत का दावा करते हुए कहा कि, एग्जिट पोल में वोकल जनता शामिल होती है लेकिन साइलेंट वोटर जो होते हैं वो विंनिग मूड डिसाइड करते हैं. उन्होंने यह भी कहा कि NDA की सरकार बनेगी तो मेरी निजी राय है कि अतिपिछड़ा या सवर्ण को कमान दी जाए. नतीजे से पहले ही अश्विनी चौबे ने इशारों में कहा. कि नीतीश कुमार (Nitish Kumar) तो दिल्ली में भी फिट हो जायेंगे हालांकि ये फैसला नीतीश कुमार को लेना है कि वो किसी को दायित्व देते हैं या नहीं.

भाकपा माले नेत्री कविता कृष्णन ने कहा है कि बिहार में चुनाव नहीं आंदोलन था. महागठबंधन की एकता जमीन तक दिखी. शुरू से ही एनडीए में विखराव दिख रहा था. बीजेपी के पोस्टर से नीतीश गायब हो गए थे. बिहार के लोगों ने मिसाल देश के सामने मिसाल पेश की है. लोगों ने बता दिया कि  सिर्फ आसमान में दिखने वाले मुद्दों पर चुनाव नहीं होगा जनता की रोजी रोटी की बात करने वाले को वोट दिया जाएगा.

वहीं, राजद सांसद व प्रवक्ता मनोज झा ने कहा कि इस चुनाव का एजेंडा विपक्ष ने तय किया. रोजगार जैसे मुद्दों पर सत्ता पक्ष को मजबूरन अपनाना पड़ा. महागठबंधन ने जो घोषणा की है बिहार के लोगों को सरकार में आने के बाद सुविधा देने की वह पूरा किया जाएगा. जनता ने प्रचंड बहुमत मतदान के माध्यम से महागठबंधन को बहुमत दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज