Bihar Assembly Election: नीतीश या तेजस्वी? क्या कहता है ज्योतिष विज्ञान, जानें बिहार का राजनीतिक भविष्य
Patna News in Hindi

Bihar Assembly Election: नीतीश या तेजस्वी? क्या कहता है ज्योतिष विज्ञान, जानें बिहार का राजनीतिक भविष्य
बिहार के राजनीतिक भविष्य को लेकर ज्योतिषीय आंकलन.

Bihar Assembly Election 2020: बिहार के प्रमुख नेताओं के जन्मतिथि के आधार पर ये ज्योतिषीय आकलन (Astrological Assessment) किया गया है. विधानसभा चुनाव के बाद कैसा होगा राजनीतिक भविष्य, पढ़ें...

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
पटना. भारतीय परंपरा और संस्कृति में ज्योतिष शास्त्र (Astrology) का अपना अहम स्थान है. भारत में इसे केवल केवल भाग्य जानने का एक आसान जरिया ही नहीं, बल्कि एक विज्ञान भी माना जाता है. ज्योतिष का क्षेत्र तो काफी विस्तृत है, लेकिन अंक शास्त्र का क्षेत्र ज्योतिष की तुलना में सीमित है. हर जगह हम अंकों में अपना भविष्यफल खोजने लगते हैं. आजकल बड़े-बड़े फिल्मी सितारें, बड़ी सफल हस्तियां भी अंक विज्ञान के प्रभाव से अछूती नहीं है. ऐसे में इसी आधार पर हमने भी बिहार के राजनीतिक भविष्य (Political Future of Bihar) को लेकर ज्योतिष शास्त्र के एक बड़े जानकार नंदन संस्कृत विद्यालय, सरिसवपाही, मधुबनी के सहायक प्राध्यापक डॉ. काशीनाथ झा से बात की. उन्होंने ज्योतिषीय गणना के आधार पर बिहार के राजनीतिक भविष्य के कुछ संकेत दिए हैं.

यहां यह स्पष्ट कर दें कि बिहार के प्रमुख नेताओं के द्वारा घोषित जन्मतिथि के आधार पर ये ज्योतिषीय आकलन किया गया है, जो कि काफी हद तक आने वाली राजनीति भविष्य के बारे में बताता है. आइये जानते हैं कि बिहार के चार प्रमुख नेताओं की ज्योतिषीय गणना क्या कहती है?

CM नीतीश कुमार
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का जन्म अनुराधा नक्षत्र और वृश्चिक राशि में हुआ है. इस वर्ष प्रवेश कुंडली के आधार पर 25 जनवरी से नीतीश पर शनि का साढ़े साती हट गया है. ज्योतिष शास्त्र कहता है कि जब शनि जाता है तो वह कुछ देकर ही जाता है. इस कारण जो भी कार्य करेंगे इसमें सफलता मिलने की संभावना है. इसके साथ ही 10 सितंबर से 13 नवंबर तक मंगल थोड़ा वक्री हो जाता है. 23 सितंबर से वर्ष के अंत तक केतु का भी प्रभाव होगा जो मानसिक चिंता और बाधा का कारण हो सकता है, लेकिन कार्य सिद्ध होगा. हालांकि, थोड़ा विलंब हो सकता है.



सुशील मोदी


भाजपा नेता और उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के साथ भाजपा से गठबंधन है. सुशील मोदी का सतभिखा नक्षत्र है और कुंभ राशि है. इनके लिए भी 24 जनवरी से दिसंबर तक शनि का साढ़े साती प्रभाव है. इस कारण ये अपनी सेटिंग-गेटिंग में लगे रहेंगे. दौड़-धूप भी लगी रहेगी. 4 मई से 17 जून तक इनकी राशि पर मंगल का प्रभाव है. 11 मई से 28 सितंबर तक चूंकि कुंभ राशि के स्वामी शनि के वक्री होने के कारण थोड़ी उलझन बढ़ाएगा. हालांकि, अंत में सफलता मिल जाएगी. यानि गठबंधन टूटने की कोई संभावना नहीं दिख रही है.

तेजस्वी यादव
नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव का विशाखा नक्षत्र है और तुला राशि है. 24 जनवरी से पूरे वर्ष तक शनि का साढ़े साती है. इससे अधिक संघर्ष, पारिवारिक उलझन, कार्य सिद्धि में बाधा और आर्थिक परेशानी का योग है. 18 जून से वर्ष के अंत तक शनि के साथ मंगल की दृष्टि है. इससे उत्तेजना अधिक होगी, क्रोध अधिक होगा, जिससे कि महत्वपूर्ण कार्यों में बाधा आने के संकेत हैं. तनाव भी अधिक रहेगा इसका भी योग बन रहा है.

लालू प्रसाद यादव
RJD अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव का अश्विनी नक्षत्र है और मेष राशि है. इनके लिए 30 जून से 29 नवंबर तक बृहस्पति की शुभ दृष्टि है इन पर. लेकिन, 7 फरवरी 2020 से मंगल आठवां स्थान पर है, जिससे स्वास्थ्य में बाधा है. पारिवारिक उलझन रहेगी. 19 सितंबर से 13 नवंबर तक इनकी राशि वक्री हो गई है. इस कारण इनमें भी क्रोध अधिक रहेगा और उत्तेजना अधिक होगी.

दूसरी ओर तेजस्वी यादव के लिए पारिवारिक उलझन सबसे बड़ी बाधा बनने जा रही है. पिता को लेकर अधिक परेशानी होगी. 18 जून से वर्ष के अंत तक शनि के साथ मंगल सातवें और आठवें स्थान पर है. इससे क्रोध, उत्तेजना और तनाव रहेगा. इस कारण किसी की सही बात भी इन्हें गलत लगेगी, जिससे सही निर्णय लेने में चूक हो सकती है.

इन चारों ही व्यक्तियों की राशि और नक्षत्र के आधार पर की गई ज्योतिषीय गणना के आधार पर तो यही कहा जा सकता है कि नीतीश कुमार के लिए राह प्रसस्त होगी. हालांकि, राह इतनी सुगम भी नहीं होगी. दरअसल, ऐसी राजनीति की पूरी संभावना है कि बीजेपी और जेडीयू के बीच विवाद पैदा करने की कोशिश होगी, लेकिन ज्योतिषीय गणना के अनुसार अंतत: गठबंधन बने रहने की संभावना है.

( डिस्क्लेमर- इस ज्योतिषीय गणना का न्यूज 18 न तो समर्थन करता है और न ही खंडन. यह सिर्फ और सिर्फ एक ज्योतिषाचार्य द्वारा ग्रह-नक्षत्रों का आकलन है और उसी के आधार पर परिणाम की संभावना जताई गई है.)

ये भी पढ़ें


पीएम स्पेशल पैकेज का प्रचार करेगी BJP, कांग्रेस ने पूछा- बताएं बिहार को कितना मिला? JDU ने कही ये बात




बिहार: भारत-नेपाल टेंशन के बीच चंपारण बॉर्डर पर दो आउटपोस्ट बनाएगी SSB

First published: May 30, 2020, 9:39 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading