शक्ति मलिक हत्याकांड: CM नीतीश पर मानहानि मुकदमा कर सकते हैं तेजस्वी, माफी की मांग

तेजस्वी यादव (फाइल फोटो)
तेजस्वी यादव (फाइल फोटो)

तेजस्वी यादव (Tejaswi Yadav) ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) पर भी हत्या का मुक़दमा है, पर कोर्ट ने अब तक कॉगलिजेंस नहीं लिया है. मैं इसपर कुछ नहीं बोलूंगा, ये जरूर बोलूंगा कि बड़ी मेहनत से छवि बनती है और एक पल में सब खत्म हो जाता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 8, 2020, 7:49 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार पुलिस (Bihar Police) ने पूर्णिया में दलित नेता शक्ति मलिक (Dalit leader Shakti Malik) हत्याकांड का खुलासा करते हुए केस में शामिल मुख्य आरोपी आफताब समेत सात अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया है. पूर्णिया पुलिस ने यह भी  कहा है कि इस हत्याकांड में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejaswi Yadav) समेत नामजद छह राजद नेताओं का कोई हाथ नहीं है. इस मामले में पुलिस का बयान आने के बाद नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने शक्ति मलिक हत्याकांड पर बिहार के सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) पर बड़ा हमला बोला है. तेजस्वी ने पटना में प्रेस कांफ्रेंस आयोजित कर इस बारे में कहा है कि पुलिस ने हत्याकांड में सात लोगों को गिरफ्तार किया है. मेरा और राजद नेताओं का नाम राजनीतिक साजिश के तहत हत्याकांड में खींचा गया है.

तेजस्वी ने आगे कहा कि सत्ताधारी दल ने मुझ पर और मेरे बड़े भाई (तेजप्रताप यादव) पर झूठा आरोप लगाया. बिहार के सीएम को बताना चाहिए कि वो इतने डरे हुए क्यों हैं कि उन्हें झूठा आरोप लगाना पड़ रहा है? क्या हम पर झूठा आरोप लगाने के लिए सरकार माफी मांगेगी? तेजस्वी ने कहा कि मुख्यमंत्री पर भी हत्या का मुक़दमा है, पर कोर्ट ने अब तक कॉगलिजेंस नहीं लिया है. मैं इसपर कुछ नहीं बोलूंगा, ये जरूर बोलूंगा कि बड़ी मेहनत से छवि बनती है और एक पल में सब ख़त्म हो जाता है.

तेजस्वी ने सीएम  नीतीश कुमार और जेडीयू-बीजेपी के नेताओं पर उन्हें बदनाम करने की साजिश रचने का आरोप लगाया और कहा कि अगर वे माफी नहीं मांगेंगे तो नीतीश कुमार सहित सभी नेताओं पर वो मानहानि का मुक़दमा करेंगे. तेजस्वी के इस बयान पर जेडीयू के कार्यकारी अध्यक्ष अशोक चौधरी ने कहा की उन्हें मुकदमा करने से कौन रोक रहा है.  तेजस्वी ग़लत बॉक्स में फंस गए हैं इसलिए बेचेन हैं.



बता दें कि शक्ति मलिक हत्याकांड में पुलिस ने मुख्य आरोपी आफताब समेत सात अपराधियों को गिरफ्तार किया है. जब्त सीसीटीवी फुटेज में हत्या के बाद अपराधी भागते दिखे थे. गिरफ्तार आरोपियों के पास से पुलिस ने चार देशी कट्टा, एक पिस्तौल और चाकू बरामद किया है. पुलिस के मुताबिक हत्या से एक दिन पहले शक्ति मलिक ने आफताब समेत कुछ लोगों के साथ रुपये नहीं लौटाने पर गाली-गलौज किया था. इसके नाराज होकर आफताब समेत सातों आरोपियों ने प्लानिंग के बाद शक्ति मलिक की हत्या कर दी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज