Big News: उपेंद्र कुशवाहा बने मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार, ओवैसी के साथ बिहार में बना ग्रैंड डेमोक्रेटिक सेक्युलर फ्रंट

ग्रैंड डेमोक्रेटिक सेक्युलर  फ्रंट के प्रेस कांफ्रेंस में उपेंद्र कुशवाहा और असदुद्दीन ओवेसी व अन्य नेता.
ग्रैंड डेमोक्रेटिक सेक्युलर फ्रंट के प्रेस कांफ्रेंस में उपेंद्र कुशवाहा और असदुद्दीन ओवेसी व अन्य नेता.

असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin owaisi) ने कहा कि पिछले 15 सालों में बिहार का कोई विकास नहीं हुआ, बिहार की जनता में घुटन हो रही है. बिहार में नया विकल्प देने की कोशिश है. हमारा अलायंस सभी से अलग होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 8, 2020, 5:40 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार में 'ग्रैंड डेमोक्रेटिक सेक्युलर फ्रंट' नाम से एक नया गठबंधन बना है. इसमें असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin owaisi) की पार्टी AIMIM, उपेंद्र कुशवाहा (Upendra kushwaha) की रालोसपा (RLSP), मायावती (Mayawati) की बसपा (BSP), के अलावा समाजवादी दल डेमोक्रेटिक, जनतांत्रिक पार्टी सोशलिस्ट शामिल है. नए अलायंस ने उपेंद्र कुशवाहा को अपना नेता घोषित किया है और उनके नेतृत्व में ही यह फ्रंट चुनाव लड़ेगा. उपेंद्र कुशवाहा को इस ग्रैंड अलायंस का सीएम उम्मीदवार घोषित किया गया है. इस गठबंधन की संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में उपेंद्र कुशवाहा, असदुद्दीन ओवैसी, देवेंद्र यादव मौजूद रहे. उपेंद्र कुशवाहा ने इस दौरान घोषणा की कि फ्रंट के संयोजक देवेंद्र यादव होंगे और सभी दल एक साथ बिहार में चुनाव लड़ेंगे.

इस मौके पर असदुद्दीन ओवैसी ने भी ऐलान किया कि इस अलायंस के मुख्यमंत्री उपेंद्र कुशवाहा होंगे. ओवैसी ने कहा कि पिछले 15 सालों में बिहार का कोई विकास नहीं हुआ, बिहार की जनता में घुटन हो रही है. बिहार में नया विकल्प देने की कोशिश है. हमारा अलायंस सभी से अलग होगा.

प्रेस कांफ्रेंस में उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि हमें जितना बांटेंगे उतना एकजुट होंगे. बिहार में दोनों गठबंधन फेल हैं. नीतीश कुमार को गद्दी इस कंपिटिशन के लिए नही सौंपी थी. नीतीश कुमार ने 5 साल जनता से मांगे थे, 15 साल मिले पर बिहार पीछे ही गया है.



कुशवाहा ने कहा कि नया गठबंधन नौजवानों के लिए समर्पित है. बिहार के युवा बिहार से बाहर पलायन के लिए मजबूर हैं. नीतीश कुमार ने शिक्षा की बुरी हालत कर दी है. दोनों अलायंस ने 30 साल में नए पीढ़ी को बर्बाद किया. बिहार की जनता हमें 5 साल का मौका दे तो बिहार में विकास और रोजगार कैसे मिलता है दिखाएंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज