कांग्रेस ने EVM की सुरक्षा के लिए अपने नेताओं से स्ट्रॉन्ग रूम पर नजर रखने को कहा

आज दिखेगा बिहार में मतदाताओं का जादू.
आज दिखेगा बिहार में मतदाताओं का जादू.

कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता राजेश राठौर ने बताया कि पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय, झारखंड के मंत्री बन्ना गुप्ता, राजस्थान के दो मंत्री राजेंद्र यादव और रघु शर्मा और पंजाब के विधायक गुरकीरत सिंह कोटल भी पटना में हैं.

  • Share this:
पटना. कांग्रेस (Congress) ने बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections) को लेकर कई टीवी चैनलों के एग्जिट पोल में विपक्षी महागठबंधन को प्रदेश में सत्ताधारी एनडीए (NDA) पर बढ़त की भविष्यवाणी के मद्देनजर ‘गड़बड़ी’ की आशंका को देखते हुए अपनी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को सभी 38 जिलों में भेजने के साथ उनसे स्ट्रॉन्ग रूम (strong room) में रखी गई ईवीएम (EVM) की सुरक्षा के लिए सजग और सतर्क रहने को कहा है. आपको बता दें कि बिहार विधानसभा की 243 सीटों के लिय चुनाव तीन चरणों में 28 अक्टूबर (71 सीट), 3 नवंबर (94 सीट) और 7 नवंबर (78 सीट) को संपन्न हुआ था और मतगणना 10 नवंबर को है.

एग्जिट पोल से उत्साहित है कांग्रेस

एग्जिट पोल के अनुमानों से उत्साहित कांग्रेस ने संभवत: सहयोगी दलों के साथ उचित तालमेल सहित परिणाम आने के बाद अपने विधायकों को भी एकजुट रखने के लिए अपने वरिष्ठ नेताओं रणदीप सुरजेवाला और बीपीसीसी स्क्रीनिंग कमेटी के अध्यक्ष अविनाश पांडेय को पटना भेजा है. कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता राजेश राठौर ने बताया कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय, झारखंड के मंत्री बन्ना गुप्ता, राजस्थान के दो मंत्री राजेंद्र यादव और रघु शर्मा और पंजाब के विधायक गुरकीरत सिंह कोटल भी पटना में हैं.



स्ट्रॉन्ग रूम पर 24 घंटे नजर
बिहार विधान परिषद में कांग्रेस सदस्य प्रेम चंद्र मिश्रा ने अपनी पार्टी द्वारा प्रत्येक जिलों में मतगणना के लिए पर्यवेक्षक नियुक्त किए जाने की मीडिया रिपोर्ट को खारिज करते हुए कहा, 'लोगों ने इसे गलत समझा है. ऐसा नहीं है... विभिन्न जिलों से संबंधित और पटना में रहने वाले पार्टी नेताओं को अपने संबंधित जिला मुख्यालय शहर में रहने और ईवीएम की सुरक्षा के लिए अपने जिलों में स्ट्रॉन्ग रुम पर कड़ी निगरानी रखने के लिए कहा गया है'. मिश्रा ने कहा कि एग्जिट पोल में परिणाम के महागठबंधन के पक्ष में होने की भविष्याणी के मद्देनजर लोगों (सत्ता पक्ष) द्वारा गड़बड़ी किए जाने की आशंका को लेकर ईवीएम की सुरक्षा के लिए स्ट्रॉन्ग रूम पर चौबीसों घंटे नजर रखने को पार्टी नेताओं से कहा गया है.

बिना शर्त समर्थन, किसी पद की मांग नहीं

सुरजेवाला ने नतीजों की घोषणा के बाद प्रतिद्वंद्वियों द्वारा नवनिर्वाचित विधायकों को अवैध शिकार से बचाने के लिए राज्य का दौरा करने से इनकार करते हुए कहा, 'बिहार के लोग आत्मसम्मान में विश्वास करते हैं ... कोई भी राशि उन्हें नहीं खरीद सकती.' सुरजेवाला ने मंगलवार को नतीजों की घोषणा के बाद नवनिर्वाचित विधायकों को पटना भेजने के लिए कोई निर्देश जारी करने से इनकार करते हुए कहा कि वे विधानमंडल दल के नेता के चुनाव और अन्य औपचारिकताओं के लिए अपनी सुविधा के अनुसार खुद राज्य की राजधानी आएंगे. एक सवाल के जवाब में कि क्या विपक्षी दलों द्वारा सरकार बनाने की स्थिति में पार्टी उपमुख्यमंत्री के पद की मांग करेगी, मिश्रा ने कहा 'हमने गठबंधन को बिना शर्त समर्थन दिया है इसलिए किसी भी पद की कोई मांग नहीं है'. इस बीच, सत्ता में वापस आने की संभावना को देखते हुए, कांग्रेस के कार्यकर्ता और नेता पटना स्थित पार्टी के प्रदेश मुख्यालय सदाकत आश्रम में पहुंचना शुरू कर दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज