Bihar Elections: जेडीयू-बीजेपी में सीट बंटवारे पर लगी मुहर, लोजपा को लेकर इन उलझनों का क्या?

जेडीयू-बीजेपी में सीटों का बंटवारा हो गया है. जेडीयू 122, तो बीजेपी के खाते में 121 सीटें गईं.
जेडीयू-बीजेपी में सीटों का बंटवारा हो गया है. जेडीयू 122, तो बीजेपी के खाते में 121 सीटें गईं.

Bihar Elections: सबसे बड़ा कनफ्यूजन ये कि लोजपा चुनाव में पीएम मोदी (PM Modi) की तस्वीर का इस्तेमाल कर सकती है या नहीं. चुनावी सभाओं में चिराग (Chirag Paswan) पीएम मोदी का नाम लेंगे या नहीं.

  • Share this:
पटना. लोजपा सुप्रीमो चिराग पासवान (Chirag Paswan) के जेडीयू के खिलाफ खुलकर सामने आने के बाद बिहार की राजनीति में नया मोड़ आ गया है. मंगलवार को एनडीए (NDA) की संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में चिराग पासवान सहित तमाम मुद्दों पर कन्फ्यूजन को दूर करने की कोशिश की गई. ले‍किन कई कन्फ्यूजन अनछुए रह गए, जो बीजेपी और जदयू के कार्यकर्ताओं के बीच सवाल के रूप में पूरे चुनाव में तैरता रहेगा. एनडीए में नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने बढ़त जरूर हासिल कर ली, ले‍किन बचे हुए कंफ्यूजन परेशानी पैदा कर सकते हैं.

नीतीश कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में ऐलान करते हुए बताया कि जदयू को 122 सीटें मिली हैं, जबकि बीजेपी के हिस्से में 121 सीटें गई हैं. इसलिए एनडीए में नीतीश कुमार ने एक सीट की बढ़त जरूर हासिल की है. साथ ही यह भी बताया कि जदयू अपने कोटे से जीतन राम मांझी की पार्टी हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा को 7 सीटें देगी, जबकि बीजेपी मुकेश सहनी की पार्टी वीआईपी को 6 सीट देगी. इस लिहाज से जदयू और बीजेपी दोनों 115 और 115 सीटों पर चुनाव लड़ेगी.

लोजपा को लेकर कन्फ्यूजन बरकरार



प्रेस कांफ्रेंस में जेडीयू और बीजेपी दोनों ने लोजपा को लेकर ज्यादातर कन्फ्यूजन दूर कर कार्यकर्ताओ के बीच स्पष्ट संदेश देने की कोशिश जरूर की. पर अब भी कई कनफ्यूजन बचे रह गए, जो पूरे चुनाव में मतदाताओं के बीच दौड़ता रहेगा. बीजेपी ने साफ किया कि बिहार में लोजपा एनडीए का हिस्सा नहीं रहेगा. यह भी तय हो गया कि केंद्र में रामविलास पासवान मंत्री बने रहेंगे. केंद्र में लोजपा को कोई नुकसान नहीं होने जा रहा. दूसरा सबसे बड़ा कनफ्यूजन यह रह गया कि लोजपा पीएम मोदी की तस्वीर का इस्तेमाल नहीं कर सकती, पर चिराग पीएम मोदी का नाम लेते रहेंगे. नाम लेने से कोई नहीं रोक सकता. बीजेपी की तरफ से सुशील मोदी ने स्पष्ट किया कि लोजपा पीएम की तस्वीर का इस्तेमाल नहीं करेगा. इसके लिए चुनाव आयोग को चिट्ठी भी लिखी जाएगी.
ये कनफ्यूजन पड़ सकता है भारी
पहले चरण के नामांकन के दौरान ऐसी भी खबरें आ रही हैं कि बीजेपी से वैसे उम्मीदवार जिन्हें टिकट नहीं मिल सका, उसे लोजपा अपने टिकट पर जेडीयू के खिलाफ उतारकर परेशानी पैदा कर सकता है. दिनारा सीट पर यह उदाहरण देखने को भी मिला. बीजेपी के नेता राजेन्द्र सिंह ने रातों रात बीजेपी की जगह लोजपा से टिकट लेकर दिनारा से जदयू उम्मीदवार और मंत्री जय कुमार सिंह के खिलाफ मैदान में उतर गए हैं. अंदरखाने की खबरों की माने तो लोजपा ऐसे एक दर्जन से ज्यादा सीटों पर स्थिति पैदा कर सकता है, जो जेडीयू की परेशानी बढ़ा सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज