Bihar Election 2020: पटना से लेकर दिल्ली तक मंथन, लेकिन नहीं सुलझ रही NDA में सीट बंटवारे की गुत्थी

एनडीए के नेताओं की फाइल फोटो
एनडीए के नेताओं की फाइल फोटो

Bihar Election 2020: बिहार में होने वाले चुनाव को लेकर महागठबंधन में सीटों का ऐलान शनिवार को कर दिया गया है ऐसे में एनडीए के उपर एक मनोवैज्ञानिक दबाव भी कायम हो गया है.

  • Last Updated: October 4, 2020, 6:56 AM IST
  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर जहां महागठबंधन (Mahagathbandhan) ने सीटों का बंटवारा कर लिया है तो वहीं एनडीए (NDA) में सीट शेयरिंग का पेंच अभी भी फंसा हुआ है. एक तरफ चिराग पासवान अलग राग अलाप रहे हैं तो वहीं कई दौर के बैठकों के बाद भी जेडीयू बीजेपी के बीच का मामला भी फंसा हुआ है.

बैठकों से नहीं निकल रहा समाधान

एनडीए में सीटों के बंटवारे को लेकर जारी जिच दूर करने की कवायद शनिवार को दिनभर चली. एनडीए के दोनों प्रमुख दल जदयू-भाजपा की कोर टीम के नेताओं ने सीट-टू-सीट विस्तार से बातचीत की. इस कसरत के बाद जदयू नेता अपनी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ भी बैठे. सीटों के बंटवारे के मसले पर एनडीए के घटक दलों से बातचीत करने के लिए भाजपा की ओर से अधिकृत नेता बिहार भाजपा प्रभारी भूपेन्द्र यादव और चुनाव प्रभारी पूर्व सीएम देवेन्द्र फडणवीस शुक्रवार की देर रात दिल्ली गए थे. शनिवार की दोपहर में ही पटना लौट गए. इन दोनों नेताओं के आते ही एनडीए में सीट बंटवारे के मसले पर बातचीत की प्रक्रिया फिर शुरू हो गई.



बीजेपी के नेता हुए दिल्ली रवाना
जेडीयू नेताओं के साथ बैठक के बाद भाजपा के बिहार प्रभारी भूपेंद्र यादव और देवेंद्र फडऩवीस के साथ सुशील मोदी, संजय जैसवाल, नित्यानंद राय, मंगल पांडेय चार्टर्ड प्लेन से शनिवार की देर रात पटना से दिल्ली रवाना हुए हैं. सूत्रों के मुताबिक, शनिवार दिन में जदयू नेताओं के साथ हुई बैठक के बाद भी एनडीए में सीट शेयरिंग पर साफ रास्ता नहीं निकला है. जदयू संग बैठक के बाद कुछ मुद्दे हैं जिसे भाजपा आलाकमान से चर्चा के बाद ही सुलझाया जाएगा, यानी ये साफ है कि सीट बंटवारे को लेकर पेंच अभी भी फंसा है. सीट बंटवारे में हो रही देरी का सीधा असर प्रत्याशियों के संभावित चेहरों पर पड़ रहा है खासकर उन लोगों को जिनको पहले चरण के चुनाव में ही चुनावी मैदान में उतरना है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज