बिहार विधानसभा स्पीकर विजय सिन्हा को सता रहा है कोरोना का डर, विधायकों से की ये मार्मिक अपील

बिहार विधानसभा स्पीकर को कोराना का डर सता रहा है.

बिहार विधानसभा स्पीकर को कोराना का डर सता रहा है.

बिहार विधान सभा के स्पीकर विजय सिन्हा को बढ़ते कोरोना का डर सताने लगा है. उन्होंने बढ़ते संक्रमण पर गहरी चिंता जाहिर की है. उन्होंने कहा कि कोरोना से उनके मन में भय है. क्या आम और क्या खास, सभी लोग बुरी तरह से भयाक्रांत हैं.

  • Last Updated: April 15, 2021, 8:07 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा के स्पीकर विजय कुमार सिन्हा (Bihar Assembly Speaker Vijay Sinha) ने कोरोना महामारी के बढ़ते संक्रमण पर गहरी चिंता जाहिर की है. उन्होंने कहा कि कोरोना का संक्रमण जिस तरह से बढ़ रहा है उससे मन में भय है. क्या आम और क्या खास, सभी लोग बुरी तरह से भयाक्रांत हैं. इस महामारी में सिर्फ सरकार के भरोसे नहीं बैठ सकते हैं. इसके लिए सामाजि-राजनीतिक कार्यकर्ताओ को भी आगे आना होगा. स्पीकर ने बिहार के विधायकों से भी मदद की अपील की है.

विधायकों से की मार्मिक अपील

स्पीकर विजय सिन्हा ने कहा कि हमारे विधान सभा सचिवालय के 19 स्टाफ कोरोना संक्रमित हुए हैं. मेरे आवास पर भी दो स्टाफ कोरोना संक्रमित पाये गये हैं. मन मे भय की स्थिति है, सिर्फ सरकार के भरोसे हम नही बैठ सकते हैं. विजय सिन्हा ने सभी विधायक से अपील की है कि पिछली बार की तरह इस बार भी काम करना होगा। विपदा की इस घड़ी में लोगो की मदद करनी होगी. ऑक्सीजन सिलिंडर और दवा की कालाबाज़ारी पर विस अध्यक्ष ने सरकार से अपील की है कि ऐसे लोगों पर सरकार कार्रवाई करें.

हमने पिछले साल सीख लेनी चाहिए थी
विजय सिन्हा ने कहा कि यह महामारी बिहार में प्रत्येक दिन संक्रमण के अपने रिकाॅर्ड को तोड़ रही है. जिस कारण  प्रति दिन बड़ी संख्या में लोगों की मौत हो रही है. हमें पिछले साल फैली इस बीमारी से सीख लेनी चाहिए. इस बीमारी ने संपूर्ण मानव जाति के आचार-विचार, रहन-सहन एवं खान-पान को बदलने के लिए मजबूर कर दिया है. इस बीमारी ने यह सिखाया है कि सात्विक जीवन शैली रखने वाले लोगों का इम्यून पावर प्रकृति मजबूत करती है. यह महामारी अब मानवता के लिए महायुद्ध बन गयी है, जिसे हर हाल में हम सबको मिल कर हराना होगा. उन्होंने सभी वर्ग के लोग से अपील की है कि जो जहां है, वहीं से सेवा भाव से इस महायुद्ध से लड़ने का प्रण लें और तन, मन और धन से अपना बहुमूल्य योगदान दें.

स्पीकर ने कहा कि राज्य के सभी प्राईवेट हाॅस्पीटल प्रबंधन, डाॅक्टर्स, नर्सेज, जाॅंच घर, दवा एजेंसी, दवा दुकानदार, ऑक्सीजन सेवा प्रदाता और अन्य सेवा प्रदाताओं से अपील की है. यह समय दौलत कमाने का नहीं है, बल्कि मानवता की सेवा करने का है. अध्यक्ष विजय सिन्हा ने लोगों से आह्वान किया कि सभी न्यूनतम लाभ लेकर अपनी बहुमूल्य सेवा प्रदान करें. संभव हो लाभरहित सेवा प्रदान करें. हमलोग अपने पूर्वजों के उस विरासत को आगे बढ़ायें, जिसमें आपदा-विपदा के समय सबलोग मिलकर एक-दूसरे की मदद करते रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज