आयुष डॉक्टरों के लिए खुशखबरी, एलोपैथ के समान मिलेगा मानदेय

एनआरएचएम और आरबीएसके के तहत नियोजित डॉक्‍टरों को 5 प्रतिशत वार्षिक वेतन वृद्धि के साथ अब 44,000 रुपए प्रति माह मानदेय मिलेगा.

News18 Bihar
Updated: December 7, 2018, 10:21 PM IST
आयुष डॉक्टरों के लिए खुशखबरी, एलोपैथ के समान मिलेगा मानदेय
प्रतीकात्मक तस्वीर
News18 Bihar
Updated: December 7, 2018, 10:21 PM IST
आयुर्वेदिक, होमियोपैथिक और यूनानी सहित अन्य देशी पद्धतियों के डॉक्‍टरों के मानदेय को लेकर बिहार सरकार ने बड़ा फैसला किया है. बिहार सरकार ने आयुष डॉक्टरों को भी एलोपैथ डॉक्टरों के समान मानदेय देने का निर्णय लिया है.

कैबिनेट के फैसले के बाद स्वास्थ्य विभाग से इसकी स्वीकृति मिल गई है. एनआरएचएम और आरबीएसके के तहत नियोजित डॉक्‍टरों को 5 प्रतिशत वार्षिक वेतन वृद्धि के साथ अब 44,000 रुपए प्रति माह मानदेय मिलेगा.

ये भी पढ़ें- तेजस्वी ने जारी की मंत्रियों के आवास में रहने वाले JDU के 9 नेताओं की सूची

आयुष कॉलेज के व्याख्याता और चिकित्सा पदाधिकारी को 10 प्रतिशत वार्षिक वृद्धि के साथ 75,000 रुपए प्रति माह मानदेय मिलेगा. आयुष कॉलेज के नियोजित प्रवाचक को 10 प्रतिशत वार्षिक वेतन वृद्धि के साथ 86,500 रुपए प्रति माह मानदेय मिलेगा. आयुष कॉलेज के संविदा व्याख्याता को 10 प्रतिशत वार्षिक वेतन वृद्धि के साथ 1,32,500 रुपए प्रति माह का मानदेय दिया जाएगा.

ये भी पढ़ें- प्रशांत किशोर से मिलने पहुंचे मोहित प्रकाश बोले- बीजेपी और जेडीयू में कोई तल्खी नहीं
वहीं, शुक्रवार को बिहार को स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने पटना स्थित इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान में कोकलियर प्लांट सेंटर का उद्घाटन किया. यहां जन्म से गूंगे-बहरे बच्चों का इलाज होगा. राज्य सरकार गरीब बच्चो के इलाज के लिए 5 लाख रुपए का खर्च उठाएगी. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि अगले दस महीने में इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान में मरीजों के लिए 350 बेड और बढ़ेंगे. यहां लिवर और हार्ट ट्रांसप्लांट भी होंगे.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर