लाइव टीवी

बिहार BJP अध्‍यक्ष के खिलाफ वारंट को लेकर सियासत तेज, संजय जायसवाल ने दी सफाई

Neel kamal | News18 Bihar
Updated: December 8, 2019, 10:42 PM IST
बिहार BJP अध्‍यक्ष के खिलाफ वारंट को लेकर सियासत तेज, संजय जायसवाल ने दी सफाई
बिहार बीजेपी के अध्यक्ष संजय जायसवाल पश्चिमी चंपारण से सांसद हैं (फाइल फोटो)

संजय जायसवाल (Sanjay Jaiswal) ने 23 अगस्त 2019 को बिहार के डीजीपी को पत्र लिखकर इस कांड में न्याय देने की बात कही थी.

  • Share this:
पटना. लोकसभा चुनाव के दौरान घटी घटना में बिहार बीजेपी (Bihar BJP) के अध्यक्ष संजय जायसवाल (Sanjay Jaiswal) के खिलाफ वारंट जारी होने पर राजनीति भी शुरू हो गई है. इस मामले में मोतिहारी पुलिस ने गिरफ्तारी का आदेश दिया है. 2019 लोकसभा चुनाव के दौरान तत्कालीन सांसद संजय जायसवाल को घोड़ासहन थाना कांड संख्या 165/19 में अभियुक्त बनाया गया था.

संजय जायसवाल ने डीजीपी के लिखा पत्र
संजय जायसवाल ने 23 अगस्त 2019 को बिहार के डीजीपी को पत्र लिखकर इस कांड में न्याय देने की बात कही थी. सांसद संजय जायसवाल ने खुद को पीड़ित बताया था और कहा था कि घटना को अंजाम देने वालों ने खुद को बचाने के लिए उन पर झूठा केस दर्ज करवा दिया है. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने साफ किया था कि लोकसभा चुनाव 2019 में मैं भाजपा का प्रत्याशी तो और 12 मई को वोटिंग के दिन शेखौना के लोगों ने फोन कर मुझे बताया कि बूथ संख्या 162 और 163 पर एक समुदाय विशेष के लोग वोटिंग से रोक रहे हैं और मारपीट कर रहे हैं. संजय जायसवाल ने कहा कि इसकी सूचना हमने तत्काल अधिकारियों और रिटर्निंग ऑफिसर की दी. फिर मैं उस बूथ पर पहुंचा तो देखा कि कई मतदाता घायल हैं.

उग्र भीड़ मुझे मार देती

जायसवाल ने पत्र में लिखा है कि जब वो गांव में पहुंचे तो उग्र भीड़ ने मुझे घेर लिया. पत्थरबाजी के बाद भीड़ मुझ पर लाठी से वार करने लगे. अगर हमारे बॉडीगार्ड फायरिंग नहीं करते तो मेरी हत्या कर दी जाती. यह सबकुछ घोड़ासहन थानेदार और पीठासीन पदाधिकारी के सामने हुआ.

वहींं, एक फेसबुक पोस्ट के जरिए संजय जायसवाल ने अपना पक्ष रखा है.
संजय जायसवाल के करीबियों से जानकारी मिली है कि जिस केस में पुलिस ने गिरफ्तारी का आदेश दिया है, उस मामले में संजय जायसवाल से कोई पूछताछ ही नहीं हुई है. पुलिस ने बिना पूछताछ के ही पीड़ित को ही आरोपी बना दिया और गिरफ्तारी का आदेश दे दिया है.

विपक्ष की साजिश: भूपेंद्र यादव
बीजेपी के राष्ट्रीय महामंत्री और बिहार प्रभारी भूपेंद्र यादव ने कहा यह विपक्ष की साजिश है. संजय जायसवाल को विपक्ष द्वारा फंसाने की कोशिश की जा रही है. लेकिन सभी पहलुओं पर विपक्ष को कानूनी रूप से भी जवाब दिया जाएगा.

बीजेपी की ओर से दिया जाएगा कानूनी जवाब: निखिल आनंद
वहीं, बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता निखिल आनंद ने कहा कि राज्य में सुशासन की सरकार है. कोई भी व्यक्ति किसी के खिलाफ भी केस दर्ज करा सकता है. लिहाजा बीजेपी की ओर से इसका कानूनी जवाब भी दिया जाएगा. लेकिन उन लोगों से बीजेपी को नसीहत की जरूरत नहीं है.  जिनके नेता हत्या बलात्कार और भ्रष्टाचार के आरोप में जेल की हवा खा रहे हैं. उन्होंने कहा कि आरजेडी की संस्कृति ही यही रही है कि जेल जाने के बाद भी कुकृत्य रचते रहते हैं.

जेडीयू का तंज- जेडीयू के लोग बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष को ही गिरफ्तार कराना चाहते हैं
इस पर आरजेडी ने तंज कसते हुए कहा कि जेडीयू और बीजेपी की लड़ाई अब सतह पर आ गई है. आरजेडी नेता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि जेडीयू के लोग बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष को ही गिरफ्तार कराना चाहते हैं ताकि 2020 के चुनाव में वह सीट को लेकर बारगेनिंग कर सके. तिवारी ने कहा कि बिहार विधानसभा 2020 के पहले ही जेडीयू और बीजेपी के बीच की लड़ाई जनता के सामने भी सड़क पर दिखने लगेगी.

आरजेडी के तंज पर जेडीयू ने किया पलटवार
आरजेडी के तंज पर जेडीयू नेता राजीव रंजन प्रसाद ने कहा कि पूरा मामला उन्हें पता नहीं है. लेकिन जेल जाने की आदत तो आरजेडी के नेताओं की है. इसलिए ऐसी छोटी घटनाओं को लेकर आरजेडी के लोग यह सोच रहे हैं कि जेडीयू और बीजेपी के स्वाभाविक गठबंधन पर कोई आंच आने वाली है तो वह गलतफहमी में जी रहे हैं. प्रसाद ने कहा कि आरजेडी समेत महागठबंधन के तमाम दलों की यही संस्कृति रही है कि एक दूसरे के खिलाफ भी रहे और साथ में एकजुटता भी दिखाएं. लेकिन महागठबंधन में शामिल तमाम लोगों को तमाम दलों को शायद यह नहीं पता कि जेडीयू और बीजेपी का गठबंधन कोई राजनीतिक गठबंधन नहीं बल्कि बिहार के विकास के लिए एक स्वाभाविक गठबंधन है.

संजय जायवाल को गिरफ्तार करे बिहार पुलिस: राजेश राठौर
महागठबंधन में शामिल कांग्रेस के नेता राजेश राठौर का कहना है कि बिहार पुलिस को जल्द से जल्द संजय जायसवाल को गिरफ्तार कर जेल भेजना चाहिए. साथ ही अमित शाह को संजय जयसवाल को बर्खास्त करना चाहिए. हालांकि कांग्रेस के नेता से जब यह पूछा गया कि आरजेडी के सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव भी जेल में बंद है. आरजेडी ने उन्हें लगातार 11वीं बार राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया है. ऐसे में कांग्रेस उन पर सवाल क्यों नहीं उठती. इस पर कांग्रेस का जवाब था कि संजय जयसवाल को भी जेल भेज दिया जाए और बीजेपी उन्हें प्रदेश अध्यक्ष बनाए रखें.

ये भी पढ़ें-

दिलमणि मिश्रा का धरना खत्म, प्रशासन ने पीड़िता को मदद पहुंचाने का दिया भरोसा

मुजफ्फरपुर: बोरे से 9 साल की बच्ची का शव बरामद, रेप के बाद हत्या की आशंका

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 8, 2019, 10:38 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर