लाइव टीवी

बिहार उपचुनाव: भतीजे के लिए नीतीश के साथ मैदान में उतरे थे रामविलास पासवान, मिली बंपर जीत

Amrendra Kumar | News18 Bihar
Updated: October 24, 2019, 5:46 PM IST

समस्तीपुर बिहार

सीट संख्या: 23 | क्षेत्र: North Bihar
लाइवस्थिति
पार्टी प्रत्याशी का नाम
LJP Ramchandra Paswan
जीते
बिहार उपचुनाव: भतीजे के लिए नीतीश के साथ मैदान में उतरे थे रामविलास पासवान, मिली बंपर जीत
प्रिंस पासवान चिराग पासवान के चचेरे भाई हैं (फाइल फोटो)

प्रिंस पासवान (Prince Paswan) रामचंद्र पासवान के पुत्र हैं. उनके पिता रामचंद्र पासवान के निधन से खाली हुई समस्तीपुर सीट (Samastipur Loksabha Seat) से लोजपा (LJP) ने टिकट दिया था.

  • Share this:
पटना. बिहार की एकमात्र लोकसभा सीट (Loksabha seat) के लिए हुए उपचुनाव (By Election) में एनडीए (NDA) को जीत मिली है. बिहार की समस्तीपुर (Samastipur) सीट से लोजपा प्रत्याशी प्रिंस पासवान ने जीत हासिल की है. प्रिंस पासवान, चिराग पासवान के भाई और रामविलास पासवान के भतीजे हैं. इस सीट से उनकी जीत तय मानी जा रही थी क्योंकि उपचुनाव से पहले ये सीट उनके ही पिता रामचंद्र पासवान (Ramchandra Pathak) की थी, जिनका कुछ दिनों पहले ही निधन हुआ था. प्रिंस ने पासवान खानदान की इस पुश्तैनी सीट से जीत हासिल कर लोजपा का कब्जा बरकरार रखा है. प्रिंस ने अपने पिता की इस सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार डॉ अशोक राम को हराया है. प्रिंस की जीत इस मायने में भी खास हैं.

प्रिंस राज ने मतगणना की शुरुआत से ही बढ़त बना ली और उन्होंने करीब एक लाख से अधिक मतों से ये जीत हासिल की है. गिनती के दौरान प्रिंस हर राउंड में कांग्रेस उम्मीदवार डॉ अशोक राम से ज्यादा बढ़त लेते रहे. 2019 के लोकसभा चुनाव में प्रिंस के पिता रामचंद्र पासवान ने भी कांग्रेस के उम्मीदवार अशोक राम को 2 लाख 50 हजार से अधिक वोटों से हराया था.

समस्तीपुर विधानसभा इलेक्शन रिजल्ट

लाइव
पार्टी मतदान हुआ वोट प्रतिशत प्रत्याशी का नाम
LJP 562443 55.19% Ramchandra Paswanविजेता
INC 310800 30.50% Dr. Ashok Kumar
NOTA 35417 3.48% Nota
WAP 29392 2.88% Vidya Nand Ram
IND 22187 2.18% Suraj Kumar Das
AAM 14114 1.39% Asha Devi
BSP 11718 1.15% Mantesh Kumar
VSP 10512 1.03% Vijay Kumar Ram
YKP 6309 0.62% Pinku Paswan
BMF 5524 0.54% Raj Kumar Ram
VPI 5467 0.54% Lalo Paswan
JAP 5142 0.50% Ratan Bihari



पासवान परिवार से सांसद बनने वाले पांचवे शख्स
रामविलास पासवान की पहचान दलित नेता के तौर पर होती है तो इसके साथ-साथ उनके परिवार की पहचान बिहार के बड़े राजनीतिक घराने के तौर पर होती है. वो खुद जहां केंद्र में मंत्री हैं, तो उनके भाई-पुत्र भी सांसद हैं. चिराग पासवान के बाद प्रिंस पासवान खानदान की नई पीढ़ी के दूसरे चेहरे हैं, जो संसद पहुंचे हैं. पासवान परिवार की बात करें तो 2019 के चुनाव में इस परिवार से चार लोग सांसद थे, जिनमें रामविलास पासवान, उनके भाई रामचंद्र पासवान (उनका अब निधन हो चुका है) और छोटे भाई पशुपति कुमार पारस समेत बेटे चिराग पासवान शामिल थे. प्रिंस सांसद बनने वाले पासवान परिवार के पांचवें चेहरे हैं. वो राजनीति में नए हैं लेकिन पिता के निधन से खाली हुई सीट से उनको रामविलास पासवान ने मौका देकर राजनीति में उतार दिया है.

ram vilas paswan, samastipur loksabha seat, prince paswan
अपने परिवार के लोगों के साथ रामविलास पासवान (फाइल फोटो)


इस सीट से थे 11 प्रत्याशी
समस्तीपुर में लोकसभा उपचुनाव की जंग भी बड़ी रोचक थी. इस सीट से 11 प्रत्याशियों ने अपना नामांकन का पर्चा दाखिल किया. इसमें एनडीए से लोजपा प्रत्याशी प्रिंस राज, महागठबंधन की ओर से कांग्रेस प्रत्याशी डॉ अशोक कुमार, युवा क्रांतिकारी पार्टी से रंजू देवी,वाजिव अधिकार पार्टी से विद्यानंद राम, निर्दलीय से सूरज दास, अनामिका, शशिभूषण दास, शैलेन्द्र चौधरी, निर्दोष कुमार, आनंद कुमार, आशा देवी शामिल थे.
Loading...

पिता की जीत के रिकॉर्ड को रखा कायम
बिहार की समस्तीपुर सीट से वर्ष 2014 में केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने छोटे भाई रामचंद्र पासवान को जीत दिलाई थी. इस वजह से ये उनके लिए  प्रतिष्‍ठा की सीट बन गई थी. प्रिंस राज की जीत से एलजेपी अपना गढ़ बचा पाने में कामयाब हो गई है.

नीतीश ने भी किया था प्रचार
बीते 17 सितंबर से जब सीएम नीतीश कुमार ने बिहार में चुनाव अभियान की शुरुआत की तो यहां उनके अलावा डिप्टी सीएम और बीजेपी नेता सुशील कुमार मोदी एवं रामविलास पासवान एक साथ मंच पर नजर आए. जाहिर है तमाम विपरीत बातों के बीच यहां एनडीए पूरी तरह एकजुट दिखा और जनता में इसका अच्छा मैसेज गया. उनके साथ चिराग पासवान ने भी कंधे से कंधा मिलाकर चुनाव प्रचार किया जिसका असर मतदाताओं के मिजाज पर स्पष्ट रूप से पड़ा.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 24, 2019, 4:11 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...