लाइव टीवी

बिहार कैबिनेट ने लगाई 10 एजेंडों पर मुहर, 1533 नए पदों के प्रस्ताव किए मंजूर

News18 Bihar
Updated: November 20, 2019, 7:22 AM IST
बिहार कैबिनेट ने लगाई 10 एजेंडों पर मुहर, 1533 नए पदों के प्रस्ताव किए मंजूर
मुख्य्ंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में बिहार कैबिनेट की बैठक में 10 प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान की गई.

नीतीश मंत्रिमंडल ने इंदिरा गांधी हृदय रोग संस्थान (IGIC) के पुराने सात पदों को सरेंडर करते हुए डॉक्टर, टेक्निशियन और नन टेक्निशियन के कुल 383 पद सृजित करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है.

  • Share this:
पटना. बिहार कैबिनेट (Bihar cabinet) की बैठक में कुल 10 एजेंडों पर मुहर लगाई गई. पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग (Department of Environment and Forest and Climate Change) के तहत बिहार राज्य जैव विविधता परिषद पटना के कार्यालय एवं क्षेत्रीय कार्यो के संचालन के लिए विभिन्न कोटि के संविदा (Contract) आधारित पदों के सृजन के प्रस्ताव की मंजूरी मिली है. वहीं उद्यानों में माली की कमी को देखते हुए कैबिनेट ने 1000 हजार माली (gardener) के पदों पर बहाली की स्वीकृति दे दी है. इसके अलावा नवादा, मधुबनी सहित कई अस्पताल में नए पद का सृजन का रास्ता भी साफ हो गया है इसकी जानकारी कैबिनेट सचिव दीपक प्रसाद ने दी.

दीपक प्रसाद ने बताया कि मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में बिहार कैबिनेट की बैठक में पथ निर्माण, स्वास्थ्य, पर्यावरण, वन एवं जल वायु परिवर्तन विभाग के साथ ही सामान्य प्रशासन विभाग के अधीन कुल 1533 नए पदों के सृजन को स्वीकृति प्रदान की गई.

सबसे अधिक पटना उद्यान प्रमंडल में माली के पदों पर होगी. इसके एक हजार नए पद सृजित किए गए हैं जबकि स्वास्थ्य विभाग के चार अलग-अलग प्रस्ताव के तहत 523 पद सृजित किए गए हैं.

नीतीश मंत्रिमंडल ने इंदिरा गांधी हृदय रोग संस्थान (IGIC) के पुराने सात पदों को सरेंडर करते हुए डॉक्टर, टेक्निशियन और नन टेक्निशियन के कुल 383 पद सृजित करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है.

प्रधान सचिव ने कहा कि इंदिरा गांधी हृदय रोग संस्थान की क्षमता जल्द ही बढ़ाई जाएगी. अभी यह संस्थान 145 बेड का है जिसे 250 बेड का किया जाएगा.

बिस्तरों की संख्या बढ़ने के बाद यहां डॉक्टरों और तकनीशियन की आवश्यवकता को देखते हुए कैबिनेट ने 383 नए पद सृजित किए है. वर्तमान में 444 पद हैं और 383 नए पद जुड़ने के साथ ही ये कुल 827 हो जाएंगे.

नए स्वीकृत पदों में स्पेशलिस्ट डॉक्टरों के पद भी हैं. जो IGIC में कम से कम पांच वर्षो तक अपनी सेवा देंगे. इसके बाद इन्हें जिलों में भेजा जाएगा.
Loading...

इनपुट- अमित कुमार सिंह

ये भी पढ़ें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 20, 2019, 7:09 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...