Home /News /bihar /

CM नीतीश कुमार सहित मंत्रियों की संपत्ति का ब्यौरा जारी, जानिए किसके पास कितनी प्रॉपर्टी

CM नीतीश कुमार सहित मंत्रियों की संपत्ति का ब्यौरा जारी, जानिए किसके पास कितनी प्रॉपर्टी

जारी आंकड़ों के मुताबिक उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से ज्यादा अमीर हैं. (फाइल फोटो)

जारी आंकड़ों के मुताबिक उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से ज्यादा अमीर हैं. (फाइल फोटो)

कैबिनेट विभाग की वेबसाइट पर जारी आंकड़ों के मुताबिक उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) से ज्यादा धनवान हैं.

पटना. बिहार (Bihar) के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) समेत सूबे के सभी मंत्रियों ने मंगलवार देर रात अपनी संपत्ति (Assets) का ब्योरा जारी कर दिया है. नीतीश कुमार द्वारा घोषित संपत्ति के अनुसार, उनके पास कैश के रूप में 38 हजार रुपये हैं, जबकि उनके बेटे निशांत के पास 9697 रुपये हैं. घोषित संपत्ति के अनुसार, कुछ मंत्रियों से उनकी पत्नी और उनके बेटे अधिक धनवान हैं. कुछ ऐसे मंत्री भी हैं, जो फिलहाल कर्जदार हैं. मंत्रियों की संपत्ति सार्वजनिक होने के बाद से कई दिलचस्प पहलू सामने आए हैं.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार
कैबिनेट विभाग की वेबसाइट पर जारी आंकड़ों के मुताबिक, इस बार भी पिछले वर्ष की तरह चल और अचल संपत्ति दोनों में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से ज्यादा अमीर उनके बेटे निशांत हैं. लेकिन तमाम पुश्तैनी संपत्ति बेटे के नाम पर होने की वजह से यह बढ़ोतरी हुई है. CM नीतीश कुमार के कैश में थोड़ी कमी आई है. साल 2018 में उनके पास कैश इन हैंड 40 हजार 39 रुपये था, जबकि इस बार 38 हजार 39 रुपये हैं. उनके बेटे के पास कैश इन हैंड में बढ़ोतरी हुई है. पिछली बार उनके पास चार हजार 697 रुपये थे. वहीं, इस बार यह बढ़कर 9697 रुपये हो गया है.

मुख्यमंत्री नीतीश के तीन बैंक खातों में करीब 40 हजार रुपये जमा हैं. बेटे के दो खातों में करीब 24 हजार 900 रुपये हैं. बेटे के नाम पर पीपीएफ खाता में 20 लाख 76 हजार 900 रुपये हैं. फिक्स डिपॉजिट के रूप में 73 लाख 68 हजार 257 रुपये हैं. बेटे ने दो लाख 38 हजार 840 रुपये के म्यूजुअल फंड ले रखे हैं, जिनका वर्तमान मूल्य 60 हजार है. पोस्ट ऑफिस की अलग-अलग स्कीमों में 21 लाख 63 हजार 202 रुपये जमा हैं.

सीएम के पास पुरानी तो बेटे के पास नई कार है. मुख्यमंत्री के पास 2015 मॉडल की फोर्ड कंपनी की इको स्पोर्ट कार है, जिसे 11 लाख 32 हजार 753 रुपये में खरीदा गया था. बेटे के पास 2016 मॉडल की हुंडई ग्रांड आई-10 कार है, जिसकी कीमत छह लाख 40 हजार 789 रुपये है. सीएम के पास 20 ग्राम सोने की दो अंगूठी हैं, जिसकी कीमत 65 हजार है. जबकि बेटे के पास 30 ग्राम सोना, पांच किलो चांदी के बर्तन, पांच पीस गिन्नी और 82 चांदी के सिक्के हैं, जिनकी कीमत 14 लाख 60 हजार रुपये है.

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी नीतीश कुमार से हैं बीस
उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी मुख्यमंत्री नीतीश से संपत्ति के मामले में बीस (अपेक्षाकृत ज्यादा) हैं. सुशील कुमार मोदी का एक आशियाना नोएडा में भी है. सुशील मोदी के पास नकद के रूप में 44,300 रुपये हैं. वहीं उनके आश्रित के पास यानी पत्नी के पास 33,500 रुपये नकद है.

साल 2017 में डिप्टी सीएम मोदी के पास 94 लाख 92 हजार 29 रुपये की चल और अचल संपत्ति थी. वहीं उनकी पत्नी के पास 1 करोड़ 35 लाख 79 हजार 198 रुपये की चल और अचल संपत्ति थी. साल 2018 में उपमुख्यमंत्री के पास कुल 1 करोड़ 40 लाख 9 हजार, 266 रुपये की चल और अचल संपत्ति थी.

रामसेवक सिंह के पास 1.34 करोड़ रुपये की अचल संपत्ति
समाज कल्याण मंत्री रामसेवक सिंह के पास सबसे अधिक 1.34 करोड़ रुपये की अचल संपत्ति है. उनके पास निवेश, सोना, चांदी, वाहन और बीमा को मिलाकर कुल 36.43 लाख की चल संपत्ति हैं. उनकी पत्नी के पास कोई अचल संपत्ति नहीं है. पत्नी के पास पांच लाख तीन हजार रुपये जबकि परिवार के निर्भर सदस्य के पास पांच लाख 48 हजार रुपये की चल संपत्ति है.

राइफल और पिस्टल के शौकीन हैं जय कुमार सिंह
विज्ञान एवं प्रावैधिकी मंत्री जय कुमार सिंह हथियारों के शौकीन हैं. मंत्री के पास एक रिवॉल्वर और एक राइफल है. उनके पास खेती की जमीन नहीं हैं. उनके पास तीन लाख 21 हजार की चल संपत्ति है, जबकि पत्नी के पास 14.14 लाख की चल संपत्ति है. मंत्री के पास गैर कृषि भूमि के रूप में 53 लाख की संपत्ति है. मंत्री के ऊपर कुल 31 लाख 84 हजार कर्ज है.

राणा रणधीर के पास एक लाख रुपये कैश
सहकारिता मंत्री राणा रणधीर के पास एक लाख रुपये कैश है. एक स्कार्पियो, एक सफारी गाड़ी है. उनके पास 5.25 लाख रुपये की कीमत वाला 105 ग्राम सोना है. 75 हजार की एक राइफल और एक लाख की रिवॉल्वर है. 13 लाख रुपये की कीमत वाल बांड है. 50 हजार की चल संपत्ति है. मात्र 24 लाख की कीमत वाला पटना में एक जमीन का प्लाट है.

महेश्वर हजारी की पत्नी के पास है अधिक अचल संपत्ति
योजना और विकास मंत्री महेश्वर हजारी के पास जहां 1.01 करोड़ की अचल संपत्ति है तो उनकी पत्नी के पास 2.48 करोड़ की अचल संपत्ति है. उनको व्यवसाय और किराये से सालाना 28.38 लाख की आय है तो खेती से 3.31 लाख की आय हुई है. अन्य स्रोतों से 15.64 लाख की आय हैं. हजारी के पास 80.79 लाख तो पत्नी के पास 45.18 लाख की चल संपत्ति है.

बृजकिशोर बिंद हैं सबसे गरीब मंत्री
खान और भूतत्व विभाग के मंत्री बृजकिशोर बिंद नीतीश सरकार के सबसे कम पैसे वाले मंत्री हैं. उनके पास बैंकों में करीब 37 लाख  27 हजर रुपये जमा है. पत्नी के नाम छह लाख 73 हजार रुपये जमा हैं.  इनके पास एक स्कार्पियो और एक बोलेरो गाड़ी है. गाड़ी खरीद का साढ़े आठ लाख कर्ज भी है. इनके पास 77 हजार रुपये मूल्य का सोना और पत्नी के पास 70 हजार रुपये की कीमत के जेवर हैं.

नंदकिशोर यादव एक करोड़ की संपत्ति के हैं मालिक
सूबे के पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव के पास कुल एक करोड़ की संपत्ति है. उनके पास 1991 में पांच हजार रुपये में खरीदी गई बजाज सुपर स्कूटर है. नकद 14 हजार दो सौ रुपये है. जबकि, बैंकों में करीब 40 लाख रुपये जमा हैं. चार लाख 35 हजार की एनएससी है. सौ ग्राम सोना और तीन सौ ग्राम चांदी के गहने हैं. कुल मिला कर 45.66 लाख की अचल और 55.90 लाख की चल संपत्ति है. इसमें पटना सिटी के इलाके में नौ लाख 90 हजार रुपये की पुश्तैनी मकान है. कौटिल्या नगर में जो मकान है उसकी कीमत करीब 45 लाख रुपये है.

गाड़ियों के शौकीन हैं श्याम रजक
नीतीश कैबिनेट के उद्योग मंत्री श्याम रजक गाड़ियों के शौकीन हैं. उनके पास होंडा सिटी कार और दो  स्कॉर्पियो है. पत्नी के पास टाटा सफारी है. रजक के पास 1.20 करोड़ और पत्नी के नाम 93 लाख की संपत्ति है. नकद के मामले में पत्नी अधिक धनवान हैं.

इनके पास नकद 1.10 लाख और पत्नी के पास 1.90 लाख रुपये हैं. बैंक बैलेंस में भी पत्नी आगे हैं. पत्नी के नाम 50 लाख का कर्ज है. रजक के पास 15.42 लाख का सोना है और पत्नी के नाम 17.85 लाख के जेवर हैं. खेतीहर जमीन उनके पास नहीं है. लोहानीपुर में एक मकान है. दानापुर में 5 कट्टा जमीन है, जिसकी कीमत 82 लाख है.

विनोद नारायण झा के पास पटना और नोएडा में फ्लैट
पहली बार पीएचईडी मंत्री बने बीजेपी नेता विनोद नारायण झा के पास नकद साढ़े 14 हजार रुपये हैं. पत्नी के पास नौ हजार रुपये हैं. बैंकों में 40 लाख रुपये जमा हैं. दो लाख 39 हजार रुपये की करीब एसबीआई पालिसी है. झा के पास एक स्कार्पियो है. झा के पास पटना के एसके पुरी मुहल्ले में एक फ्लैट है, जिसकी कीमत चालीस लाख रुपये है. पत्नी के नाम नोएडा में एक फ्लैट है, जिसकी कीमत 56 लाख रुपये है.

जर्मन बंदूक के शौकीन हैं कृष्णनंदन वर्मा 
बिहार के शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा के पास एक जर्मन बंदूक है. कर्ज से स्कार्पियो खरीदी है. इनके पास 82 हजार और पत्नी के पास 55 हजार नकद है. बैंकों में करीब 23 लाख जमा हैं. 40 लाख का पटना में मकान है. 55 लाख की खेतिहर जमीन है. पत्नी के पास जहानाबाद में 18 लाख का आवासीय प्लॉट है.

तीन बड़ी गाड़ियों की मालकिन हैं बीमा भारती
बिहार के गन्ना उद्योग मंत्री बीमा भारती के पास नकद साठ हजार रुपये है. इनके पति अवधेश मंडल के पास नकद एक लाख 20 रुपये हैं. बैंकों में बीमा भारती के नाम पांच लाख 59 हजर रुपये जमा हैं. बीमा भारती के पास तीन बड़ी गाड़ियां हैं. पति-पत्नी के पास 720 ग्राम सोना है. पति के पास एक हीरो होंडा मोटरसाइकिल, ट्रैक्टर और मारुति कार है.

विनोद सिंह के पास मार्शल से लेकर फॉर्च्यूनर तक
पिछड़ा वर्ग और अति पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री विनोद कुमार सिंह के पास मार्शल, स्कॉर्पियो, मारुति और फॉर्च्यूनर है. सात हजार के गहने हैं जबकि पत्नी के पास 56 हजार के गहने हैं. मंत्री के पास 4.48 चार लाख की खेतिहर जमीन हैं. उनके पास 60 लाख का मकान है. विभिन्न बैंकों में मंत्री ने 29 लाख जमा कराया है तो उनकी पत्नी ने 50 हजार निवेश कराया है.

प्रमोद कुमार कला के नहीं राइफल के हैं शौकीन
कला, संस्कृति एवं युवा विभाग के मंत्री प्रमोद कुमार राइफल और पिस्टल के शौकीन हैं. उनकी पत्नी सहित उनके पास 9 करीब तीन करोड़ 60 लाख 50 हजार 476 रुपये की संपत्ति है. पत्नी के नाम पर 55 लाख रुपये कीमत का पटना में एक फ्लैट है. मंत्री के पास एक स्कॉर्पियो और एक मोटरसाइकिल है.

ये भी पढ़ें-

मां को श्रद्धांजलि देने CM नीतीश पहुंचे कल्‍याण बीघा, लोगों की सुनी फरियाद

उपेंद्र प्रसाद बने पटना के SSP, लिपि सिंह बनी मुंगेर की SP, देखें पूरी लिस्ट

Tags: Bihar News, Nitish kumar, Property value, Sushil Modi

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर