नीति आयोग की बैठकः CM नीतीश कुमार ने PM मोदी के सामने रखी मांग, देश में बिजली के लिए लागू हो वन नेशन, वन रेट

नीति आयोग की बैठक में बिहार के सीएम नीतीश कुमार

नीति आयोग की बैठक में बिहार के सीएम नीतीश कुमार

Niti Ayog Meeting: बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने नीति आयोग की बैठक में कोरोना की रोकथाम को लेकर बिहार में किए जा रहे उपायों की जानकारी पीएम नरेंद्र मोदी को दी, साथ ही बिजली की दर पूरे देश में एक करने की भी मांग की.

  • Share this:
पटना. बिहार के सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने शनिवार को हुई नीति आयोग की बैठक में विशेष राज्य का दर्जा की मांग खुल कर तो नहीं की, लेकिन उन्होंने बैठक में इस बात की चर्चा जरूर कर दी. सीएम ने यह साफ कर दिया कि पिछले नीति आयोग की बैठक की तरह वे बिहार के लिए विशेष दर्जा की मांग के साथ-साथ राज्य के हित से जुड़े अन्य मुद्दे उठाते रहेंगे.

नीति आयोग की बैठक के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार के लिए कई मांगें रखीं. नीतीश कुमार ने कहा कि पूरे देश में बिजली की दर एक हो यानी वन नेशन, वन रेट. केंद्र सरकार को बिजली के दाम समान बनाने की दिशा में पहल करनी चाहिए. बिहार में हर घर बिजली पहुंच गयी, राज्य सरकार सब्सिडी पर 5000 करोड़ खर्च कर रही है. नीतीश ने कहा कि बिहार में उद्योग लगना बहुत जरूरी है. हम लोग लगातार प्रयासरत हैं. एथेनॉल के उत्पादन की दिशा में अब काम शुरू हो रहा है.

उन्होंने कहा कि 2007 में हमारी सरकार ने प्रस्ताव दिया था तब की केंद्र सरकार ने उसको नहीं माना था. अब इस पर बात हो गयी है. गन्ने से इथेनॉल बनाने का काम शुरू होगा. इथेनॉल से पेट्रोल-डीजल का विकल्प मिलेगा. बिहार में जो पैसा जमा होता है, विकसित राज्यों में चला जाता है, सीडी रेशियो बढ़ना चाहिए. बिहार के बैंकों में तीन लाख करोड़ से ज्यादा जमा होता है लेकिन केवल 1.25 करोड़ का ऋण यहां मिलता है, इस लिए केंद्र सरकार यह व्यवस्था करे कि राज्य का पैसा जो बैंकों में जमा हो रहा है वह राज्यों को दिया जाये.

नीति आयोग की बैठक में सीएम नीतीश कुमार कोरोना के दौरान राज्य सरकार की ओर से किये जा रहे कार्यो की जानकारी पीएम मोदी को देते हुए कहा कि बिहार में बड़े पैमाने पर काम किया गया है. बिहार में कोरोना का प्रकोप बहुत हद तक घट गया है. सरकार पूरी तरह सतर्क है और लोगों की जांच कराई जा रही है. बिहार में अगले चरण के टीकाकरण में 50 साल से अधिक उम्र वाले लोगों को और 50 साल से कम उम्र वाले व्यक्ति जो अन्य बीमारियों से ग्रस्त हैं उनके लिए उपलब्ध हो जाएगा. नीतीश कुमार ने कहा कि हम केंद्र सरकार को इस बात से आश्वस्त करते हैं कि कोरोना गाईडलाइन का पालन किया जाएगा.
बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने केंद्र सरकार के द्वारा लाये गए कृषि संबंधित तीनों एक्ट को भी किसान हित में बताते हुए कहा कि यह किसानों के खिलाफ नहीं है. पहले भी नीति आयोग की बैठक में एपीएमसी एक्ट में संशोधन करने को लेकर जब प्रस्ताव आया था तो मैंने जानकारी दी थी कि बिहार में एपीएमसी एक्ट हम लोगों ने वर्ष 2006 में ही बंद कर दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज