पटना में सोमवार से स्कूल खुलने पर असमंजस बरकरार, DM बोले- बिना आदेश न खोले जाएं स्कूल

बिहार समेत देश भर के स्कूल कोरोना वायरस संक्रमण के कारण मार्च से ही बंद हैं (फाइल फोटो)
बिहार समेत देश भर के स्कूल कोरोना वायरस संक्रमण के कारण मार्च से ही बंद हैं (फाइल फोटो)

पटना के जिलाधिकारी कुमार रवि (DM Kumar Ravi) ने अगले आदेश तक स्कूलों को बंद रखने को कहा है. उन्होंने बताया कि अब तक राज्य सरकार के तरफ से कोई सरकारी आदेश नहीं आया है, अगर सरकार आदेश देगी तभी प्रदेश में स्कूल खुलेंगे (School Reopen). लेकिन तब तक स्कूल अपनी तैयारी पूरी कर लें

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 19, 2020, 11:32 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार (Bihar) में सोमवार 21 सितंबर से नौवीं से 12वीं क्लास तक की पढ़ाई के लिए स्कूल खुलने को लेकर लगातार असमंजस की स्थिति बनी हुई है. देश भर में एचआरडी मिनिस्ट्री (HRD Ministry) के द्वारा शैक्षणिक संस्थान खोले जाने को लेकर भले ही गाइडलाइन (Guideline) जारी कर दिया गया लेकिन राज्य सरकार (State Government) ने इस बाबत अब तक कोई आदेश जारी नहीं किया है. पटना के जिलाधिकारी (डीएम) कुमार रवि (DM Kumar Ravi) ने अगले आदेश तक स्कूलों को बंद रखने को कहा है. उन्होंने बताया कि अब तक राज्य सरकार के तरफ से कोई सरकारी आदेश नहीं आया है, अगर सरकार आदेश देगी तभी प्रदेश में स्कूल खुलेंगे (School Reopen). लेकिन तब तक स्कूल अपनी तैयारी पूरी कर लें.

स्कूल खुले तो इन गाइडलाइन का करना पड़ेगा पालन  
राज्य सरकार के आदेश में बाद अगर स्कूल खुलते हैं तो उन्हें स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी गाइडलाइन का स्कूलों को सख्ती से पालन करना पड़ेगा. बिना अभिभावक के सहमति पत्र के स्कूल किसी भी स्टूडेंट को आने की अनुमति नहीं देगा. स्कूल में छात्रों को मास्क लगाना और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना अनिवार्य होगा. साथ ही हर दिन क्लासरूम सेनिटाइज हो, इसका भी स्कूल को ख्याल रखना होगा.

स्कूल खोलने की तैयारी में जुटे स्कूल मैनेजमेंट  
पटना के स्कूलों ने अपनी पूरी तैयारी कर ली है. डीएवी बीएसईबी की मानें तो पूरे स्कूल परिसर को दस दिन के अंदर चार बार सैनेटाइज किया गया है. स्कूल के प्रिंसिपल वी.एस ओझा ने बताया कि पूरे परिसर को नियमित रूप से सैनेटाइज किया जा रहा है. पानी की टंकी की सफाई कई बार की गई है. वहीं, सेंट जेवियर्स हाईस्कूल के प्राचार्य फादर किस्ट्रू ने बताया कि स्कूल परिसर के हर कोने की सफाई करवाई गई है. साथ ही इसे कई बार सैनेटाइज भी किया गया है. जिन छात्रों को 21 सितंबर को स्कूल बुलाया गया है उन्हें पढ़ाई संबंधित सारी चीजें लेकर आने को कहा गया है.



पानी का बोतल घर से लेकर आएंगे छात्र  
छात्र अपने साथ किताबें, कॉपी, पेन के अलावा पानी का बोतल भी घर से लेकर स्कूल आएंगे. इसके अलावा सभी छात्रों को सैनेटाइजर लेकर आने को कहा गया है. जिन छात्रों को सर्दी जुकाम हो तो उन्हें एहतियातन स्कूल आने से मना किया गया है.

फिलहाल नहीं चलेगी स्कूल बस 
तीन घंटे चलने वाली क्लास के लिए स्कूल आने वाले स्टूडेंट्स को बस की फिलहाल सुविधा नहीं होगी. स्कूलों की माने तो नौवीं से 12वीं तक आने वाले बच्चों की संख्या काफी कम होगी. इसके अलावा छात्रों के रूट्स भी अलग-अलग हैं, इसे देखते हुए फिलहाल बस की सुविधा छात्रों को नहीं दी जा सकती है. हालांकि बाद में जरूरत के हिसाब से स्कूल इसपर विचार करेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज