Bihar Corona Update: कोरोना की बेकाबू रफ्तार ने 59 लोगों की ली जान, रिकवरी रेट में जबरदस्‍त गिरावट

सांकेतिक फोटो.

सांकेतिक फोटो.

Corona News: बिहार (Bihar) में कोरोना (Corona) से हालात बद से बदतर होता जा रहा है और हर तरफ खौफ मंडराने लगा है. आलम यह है कि 24 घंटे में राज्य में 59 मरीजों की जान चली गई.

  • Share this:
पटना. बिहार में कोरोना (Coronavirus) संक्रमण से हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं. हर तरफ खौफ मंडराने लगा है. आलम यह है कि 24 घंटे में राज्य में 59 मरीजों की जान चली गई, जबकि राज्य में 11 हजार 489 नए मरीजों में कोरोना की पुष्टि हुई है. सबसे ज्यादा मरीज पटना जिले में मिले हैं, जहां एक दिन में 2643 नए कोरोना मरीज सामने आए हैं. राज्य में एक्टिव मरीजों का आंकड़ा बढ़कर 69 हजार 898 तक पहुंच गया है. चिंता की बात तो यह है कि रिकवरी रेट में व्यापक गिरावट हो रही है. अब रिकवरी रेट घटकर 80.36 तक पहुंच गया है.

संसाधन बढ़ाने और दवा की आपूर्ति को लेकर प्रमंडलीय आयुक्त सजंय अग्रवाल ने अधिकारियों को निर्देश दिया और भरोसा दिया कि कोविड-19 से संबंधित दवाओं की किल्लत नहीं होगी. कोविड की बेसिक दवाएं पर्याप्त हैं. इस संबंध में प्रमंडलीय आयुक्त संजय कुमार अग्रवाल ने पटना के जिलाधिकारी, ड्रग इंस्पेक्टर, सभी प्रमुख दवा दुकानदारों, कम्पनी डिस्ट्रीब्यूटर एवं ड्रग एसोशिएशन के साथ बैठक कर लगातार आपूर्ति व स्टॉक का भी निर्देश दिया है.

इन दवाओं की व्यवस्था

प्रमंडलीय आयुक्त संजय कुमार अग्रवाल ने कोविड की बेसिक दवाएं जैसे एजिथरल, फेबिकुल्यू, ऑक्सीमीटर, एन्हेलर, जिंकोविट के साथ सभी प्रकार के विटामिंस की दवाओं की उपब्धता तथा आपूर्ति सुनिश्चित कराने को कहा है. साथ ही पटना के सभी दवा दुकान को खुला रखने को भी कहा है. उन्होंने कहा है कि लोगों को कोविड-19 की बेसिक दवाएं आसानी से उपलब्ध हो सकें इसके लिए जरूरी है कि सभी दुकानें खुली रहे. लोगों को दवा आपूर्ति करने में दिक्कत न हो इसके लिए सभी दुकानदार को प्रशासन का पूर्ण सहयोग मिलेगा. सभी मेजर उत्पादकों को दवा की आपूर्ति को बढ़ाने को कहा है.
इनकी की सराहना

दवा दुकानदारों को कोरोना वाॅरियर बताते हुए उनके द्वारा की जा रही मानवता की सेवा की सराहना आयुक्त ने की है. बैठक में जिला पदाधिकारी को टीम बनाकर विभिन्न दवा दुकानों में दवा की उपलब्धता का सर्वे करने निर्देश दिया गया है. एडीएम (सप्लाई) तथा एसओआर इसकी जांच सुनिश्चित करेंगे. बताया गया कि रेमडेविसिर की आपूर्ती में सुधार हुआ है, परन्तु थोड़ी कमी अभी भी है. इस पर निगरानी रखी जा रही है. इस बैठक में मेडिकाना, सोना, केशव, एनके मेडिकल आदि रिटेल दुकानदार उपस्थित थे. स्टॉक होल्डर दवा कम्पनी जैसे सिप्‍ला, मेनकाइंड, केडिला के प्रतिनिधि के रूप में क्षेत्रीय पदाधिकारी मौजूद थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज