भागलपुर कोर्ट ने जारी किया वारंट, धौलपुर विधायक शोभारानी भूमिगत!

पूर्व धौलपुर विधायक बीएल कुशवाह और वर्तमान बीजेपी विधायक शोभारानी शोभारानी के खिलाफ भागलपुर कोर्ट से ने वांरट जारी किया है.


Updated: May 18, 2018, 9:16 AM IST
भागलपुर कोर्ट ने जारी किया वारंट, धौलपुर विधायक शोभारानी भूमिगत!
भाजपा विधायक शोभारानी कुशवाहा

Updated: May 18, 2018, 9:16 AM IST
राजस्थान की धौलपुर से विधायक शोभारानी कुशवाह के खिलाफ बिहार की भागलपुर कोर्ट से ने वांरट जारी कर दिया है. 12.50 करोड़ के फर्जीवाड़े में शोभारानी के खिलाफ यह वारंट 15 जनवरी को जारी समन के बाद भी कोर्ट में अपना पक्ष नहीं रखने के बाद जारी किया गया है. एसीजेएम कोर्ट के इस वारंट के बाद शोभारानी कथिततौर पर भूमिगत हो गई हैं.

उधर, विधायक शोभारानी के पीएम दिनेश प्रिय के अनुसार विधायक का कंपनी से कोई लेनादेना नहीं है. जब उनसे कोर्ट के वारंट और समन की बात पूछी गई तो उन्होंने ऐसी किसी जानकारी से भी इनकार कर दिया. बता दें कि भागलपुर कोर्ट ने जनवरी में इस मामले में शोभारानी समेत सभी आठों आरोपियों के खिलाफ समन जारी किया था.

धौलपुर के पूर्व बीएसपी विधायक बीएल कुशवाहा इस मामले में मुख्य आरोपी रहा है. हत्या के जुर्म में वो फिलहाल उम्रकैद की सजा काट रहे है. इस सजा के बाद धौलपुर सीट पर हुए उपचुनाव में पति के स्थान पर शोभारानी कुशवाह ने बीजेपी से चुनाव लड़ा और विधायक बनीं. शोभारानी भी गरिमा रियल एस्टेट एंड एलाइड लिमिटेड और गरिमा होम्स एंड फार्म हाउस लिमिटेड के निदेशक मंडल में पति और अन्य रिश्तेदारों के साथ हैं. यह वही कंपनी है जिसके जिरए 2010 से 2016 तक भागलपुर में रुपए दोगुना करने के नाम पर 12.50 करोड़ रुपए की ठगी की थी.

विधायक शोभारानी का पति बीएल कुशवाहा 2012 में हुई एक हत्या में दोषी पाया गया है. कोर्ट ने दिसंबर,2016 में उसे उम्रकैद की सजा सुनाई थी. तब से वह जेल में बंद है. मामले के मुताबिक 27 दिसम्बर 2012 को छात्रनेता नरेश कुशवाहा की हत्या हुई थी. इस मामले में विधायक पर हत्या की साजिश रचने का आरोप था.

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर