लाइव टीवी

JNU छात्र आंदोलन पर बोले सुशील मोदी- कैंपस में बीफ पार्टी करने वाले शहरी नक्सली

News18 Bihar
Updated: November 20, 2019, 3:19 PM IST
JNU छात्र आंदोलन पर बोले सुशील मोदी- कैंपस में बीफ पार्टी करने वाले शहरी नक्सली
JNU पर बिहार के डिप्टी CM सुशील मोदी बोले- कैम्पस में बीफ पार्टी करने वाले शहरी नक्सली गरीब छात्रों को कर रहे हैं गुमराह

  • Share this:
पटना. जवाहर लालू नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) में फीस बढ़ोतरी के खिलाफ चल रहे आंदोलन का असर अब देश के अन्य शहरों में भी दिख रहा है. छात्रों के विरोध को लेकर अब बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी (Deputy CM Sushil Kumar Modi)  ने ट्वीट कर टिप्पणी की है. सुशील मोदी ने JNU के छात्रों को न सिर्फ शहरी नक्सली कहा बल्कि राजनीति करने का भी आरोप लगाया.

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, 'जेएनयू में फीस वृद्धि कोई इतना बड़ा मुद्दा नहीं कि जिसके लिए संसद मार्च निकाला जाए. हकीकत यह है कि जो शहरी नक्सली इस कैम्पस में बीफ पार्टी, पब्लिक किसिंग, महिषासुर महिमामंडन, स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा का मानभंजन और देश के टुकड़े-टुकड़े करने के नारे लगाने जैसी गतिविधियों में लगे हुए हैं वो अब गरीब छात्रों को गुमराह कर राजनीतिक रोटी सेंकना चाहते हैं.'

 

इसी तरह एक यूजर वैभव विशाल ने लिखा, आप जैसे लोग जो आज जेएनयू में लगी इस आग को सेंक रहे हैं, भूल गए हैं कि आप भी ऐसे ही विश्वविद्यालयों से पनपे हैं. छात्रों की तुलना आतंकवादियों से करना निहायती छिछली किस्म की राजनीति का द्योतक है. शर्म की बात यह है कि आप भी एक ज़माने में छात्र नेता हुआ करते थे. क्या, सर!



सोनू कुमार नाम के एक यूजर ने लिखा, कतंत्र से तानाशाही की तरफ बढ़ते कदम... पढ़ाई छोड़ सड़क पर उतरने को मजबूर हुए छात्र, जिम्मेदार कौन?



बता दें कि जेएनयू के छात्र हॉस्टल फीस में बढ़ोतरी के कारण पिछले तीन सप्ताह से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. छात्रों ने सोमवार को संसद सत्र के पहले ही दिन अपने मांगो के समर्थन में संसद मार्च किया था. इस दौरान छात्र और पुलिस में झड़प हो गई थी जिसमें कई छात्र और कुछ पुलिस कर्मी घायल हो गए थे.

घटना के बाद यह मुद्दा मंगलवार को लोकसभा में गूंजा था, लेकिन अब तक इसपर कोई अंतिम निर्णय नहीं किया जा सका है और न ही फिलहाल सुलह के आसार ही दिख रहे हैं.

ये भी पढ़ें-

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 20, 2019, 2:30 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर