Bihar: डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने केंद्र से मांगा अनुदान, विपक्ष ने पूछा-खजाना कैसे हुआ खाली
Patna News in Hindi

Bihar: डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने केंद्र से मांगा अनुदान, विपक्ष ने पूछा-खजाना कैसे हुआ खाली
बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने बीजेपी की डिजिटल रैली में विपक्ष पर साधा निशाना.

बिहार के डिप्टी सीएम और वित्त मंत्री सुशील मोदी (Deput CM Sushil kumar) ने केंद्र सरकार (Central Government) को चिट्ठी लिखकर वित्त वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही में ही केन्द्रांश की राशि देने की मांग की है. विपक्ष ने आरोप लगाते हुए खजाना खाली हो जाने की बात कही है.

  • Share this:
पटना. बिहार के डिप्टी सीएम और वित्त मंत्री सुशील मोदी (Deput CM  Sushil kumar) ने केंद्र सरकार (Central Government) को चिट्ठी लिखकर वित्त वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही में ही केन्द्रांश की राशि देने की मांग की है. देश के साथ बिहार में लॉकडाउन (Lockdown) से पैदा हुए हालातों में सुशील मोदी ने चिट्ठी लिखकर कहा है कि 15 वें वित्त आयोग की अनुशंसा के तहत मिलने वाली राशि बिहार को पहली तिमाही में ही दे दी जाए.

सुशील मोदी ने 7434 करोड़ अनुदान की मांग की

डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने केंद्र को पत्र लिखकर 7 हजार 434 करोड़ की राशि की मांग की है. सुशील मोदी ने 15 वे वित्त आयोग की अनुशंसा के तहत 7434 करोड़ के अनुदान के साथ विश्विद्यालयों शिक्षकों के वेतन पर होने वाले खर्च और समग्र शिक्षा अभियान का केन्द्रांश पहली तिमाही में ही देने की बात कही. सुशील मोदी ने पत्र में लिखा है कि पंद्रहवे वित्त आयोग की अनुशंसा के तहत 2020-21 में पंचायती राज संस्थाओं को और 5018 करोड़ शहरी निकायों को 2416 करोड़ मिलना तय हुआ है. यह राशि यदि पहले मिल जाएगी तो राज्य में कई काम करने में सुविधा होगी अन्यथा बारिश के कारण काम करना कठिन हो जाएगा.



विपक्ष ने पूछा खजाना कैसे हो गया खाली
डिप्टी सीएम सुशील मोदी के केंद्र को लिखे पत्र पर विपक्ष ने आरोप लगाते हुए खजाना खाली हो जाने की बात कही है. कांग्रेस नेता प्रेमचन्द्र मिश्रा ने कहा कि हाल ही में बजट पेश हुआ जिसमें हजारों करोड़ के फायदे की बात कही गई थी. ऐसे में पहली तिमाही में ही पैसे मांगने की क्या मजबूरी आ गई. इतनी जल्दी खजाना खाली कैसे हो गया? आरजेडी नेता भाई वीरेंद्र ने भी सरकार पर सवाल खड़ा करते हुए तंज कसा कि क्या सारा पैसा सिंगापुर में जमा करा दिया गया है? अगर पैसा कही नहीं गया तो इतनी जल्दी पैसे मांगने की क्या जरूरत पड़ गई?

विपक्ष के सवाल को जेडीयू ने बताया बेवकूफाना

जेडीयू प्रवक्ता राजीव रंजन ने उलटवार करते हुए विपक्ष के खजाना खाली हो जाने के बयान को बेवकूफाना करार दिया है. राजीव रंजन ने कहा कि विपक्ष कभी कभी हास्यास्पद सवाल करता है. सभी लोग जानते हैं कि लॉकडाउन में सिर्फ बिहार ही नहीं दुनिया भर की आर्थिक स्थिति पर असर पड़ा है. बिहार का अंश अगर पहले मिल जाता है तो राज्य को आर्थिक मजबूती मिलती है तो विपक्ष को परेशानी क्यों हो रही है?

ये भी पढ़ें: Lockdown ​हटाने के पक्ष नहीं हैं बिहार के CM नीतीश कुमार, इस बात की है चिंता!

Bihar: चीनी मिल ने 600 लोगों को नौकरी से हटाया, किसानों का है करोड़ों का बकाया
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज