शिक्षा मंत्री बोले- नियोजित शिक्षकों को CM नीतीश ने ही दिया मौका, जो पहले सड़क पर थे

हाल ही में, बिहार के करीब 3.7 लाख नियोजित शिक्षकों को सुप्रीम कोर्ट से राहत नहीं मिली. शीर्ष अदालत ने समान काम-समान वेतन के लिए दायर किए गए रिव्यू पिटिशन को खारिज कर दिया

News18 Bihar
Updated: September 4, 2019, 8:49 PM IST
शिक्षा मंत्री बोले- नियोजित शिक्षकों को CM नीतीश ने ही दिया मौका, जो पहले सड़क पर थे
शिक्षा मंत्री ने कहा कि समान वेतन के अलावे और भी कई मुद्दे हैं. इसी मुद्दे को तूल देना गलत है.
News18 Bihar
Updated: September 4, 2019, 8:49 PM IST
बिहार (Bihar) के शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा (Krishnanandan Prasad Verma) ने नियोजित शिक्षकों (Contractual Teachers) को लेकर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि नियोजित शिक्षकों को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने ही मौका दिया था जो कि पहले सड़क पर थे. नीतीश कुमार की वजह से ये स्कूल पहुंच गए.

शिक्षा मंत्री ने जहां 5 सितंबर को शिक्षकों के हड़ताल पर रहने को हास्यास्पद बताया. वहीं निवेदन भी किया है कि शिक्षक दिवस का अपना महत्व है और शिक्षकों को उस दिन हर हाल में हड़ताल स्थगित करनी चाहिए. उन्होंने कहा कि समान वेतन (Equal Pay for equal work) के अलावे और भी कई मुद्दे हैं. इसी मुद्दे को तूल देना गलत है.

बिहार के 3.7 लाख नियोजित शिक्षकों को SC ने नहीं दी राहत
हाल ही में, बिहार के करीब 3.7 लाख नियोजित शिक्षकों को सुप्रीम कोर्ट से राहत नहीं मिली. शीर्ष अदालत ने समान काम-समान वेतन के लिए दायर किए गए रिव्यू पिटिशन को खारिज कर दिया. बीते 10 मई को भी सुप्रीम कोर्ट ने नियोजित शिक्षकों को नियमित शिक्षकों के समान वेतन देने का आदेश देने से इनकार कर दिया था. तब सुप्रीम कोर्ट ने बिहार सरकार की याचिका मंजूर कर ली थी और पटना हाईकोर्ट  का आदेश रद्द कर दिया था. जिसके बाद यह रिव्यू पिटिशन दायर की गई थी. सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को रिव्यू पिटिशन पर अपना फैसला सुनाते हुए कहा कि पुराने फैसले में बदलाव की कोई जरूरत नहीं है.

(इनपुट- रजनीश कुमार)

ये भी पढ़ें-

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 29, 2019, 9:36 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...