Bihar Election: मतगणना को लेकर सुरक्षा चाक चौबंद, 55 केंद्रों पर होगी सीसीटीवी से निगरानी

बेलहर के जेडीयू प्रत्याशी ने कहा कि पार्टी के सांसद मेरे खिलाफ हवा बनाते रहे.
बेलहर के जेडीयू प्रत्याशी ने कहा कि पार्टी के सांसद मेरे खिलाफ हवा बनाते रहे.

Bihar Election:बिहार विधानसभा चुनाव की 10 नवंबर को मतगणना (Counting) होगी, जिसके लिए चुनाव आयोग ने केंद्र पर सीसीटीवी लगाने के अलावा त्रिस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था की है.

  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) की 10 नवंबर को होने वाली मतगणना (Counting)के लिए निर्वाचन आयोग ने सीसीटीवी से निगरानी और कड़ी सुरक्षा व्यवस्था सहित व्यापक इंतजाम किए हैं. मुख्य चुनाव अधिकारी एच आर श्रीनिवास (HR Srinivas)ने बताया कि स्ट्रांग रूम में ईवीएम कड़ी सुरक्षा में रखी हैं. 10 नवंबर को वोटों की गिनती के लिए राज्यभर में बनाए गए कुल 55 मतगणना केंद्रों पर त्रिस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था की गयी है.

मतगणना केंद्रों पर पुलिस बलों की तैनाती
श्रीनिवास ने बताया कि ईवीएम तथा मतगणना केंद्रों की सुरक्षा के लिए राज्यभर में केंद्रीय सशस्त्र बलों (सीएएफपी) की कुल 19 कंपनी तथा मतगणना के दौरान विधि व्यवस्था बनाए रखने के लिए 59 कंपनी तैनात की गयी हैं.सीएपीएफ की एक कंपनी में करीब सौ जवान होते हैं. उन्होंने कहा कि 55 मतगणना केंद्रों के भीतरी हिस्से में केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों की तैनाती की गयी है, जबकि बिहार सैन्य पुलिस बल को मध्य पंक्ति की सुरक्षा में लगाया गया है. इसके अलावा जिला सशस्त्र पुलिस बाहरी पंक्ति में तैनात हैं.

55 मतदान केंद्र और 414 हॉल...
मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय से प्राप्त जानकारी के मुताबिक, 28 अक्टूबर, 3 नवंबर और 7 नवंबर को तीन चरणों में संपन्न हुए मतदान में वोटों की गिनती के लिए राज्य के सभी 38 जिलों के कुल 55 मतदान केंद्र और 414 हॉल बनाए गए हैं. बिहार के चार जिलों-पूर्वी चंपारण (12 विधानसभा क्षेत्र), गया (10 निर्वाचन क्षेत्र), सीवान (आठ निर्वाचन क्षेत्र) और बेगूसराय (सात) में सबसे अधिक तीन-तीन मतदान केंद्रों की व्यवस्था की गई है. बाकी जिलों में एक या दो मतगणना केंद्र बनाए गए हैं. इसके अलावा प्रदेश की राजधानी पटना में, जहां सबसे अधिक 14 विधानसभा क्षेत्र हैं, के सभी निर्वाचन क्षेत्रों के मतों की गणना के लिए एएन कॉलेज में केवल एक मतदान केंद्र की स्थापना की गयी है,जहां मतगणना के लिए 30 काउंटिंग हॉल तैयार किए गए हैं. वहीं, मुजफ्फरपुर जिला जहां 11 निर्वाचन क्षेत्र हैं, में भी वोटों की गिनती के लिए एक ही मतगणना केंद्र बनाया गया है.





अपर पुलिस महानिदेशक (मुख्यालय) जितेंद्र कुमार ने कहा कि नियंत्रण कक्ष में लगाए गए सीसीटीवी कैमरों का स्क्रीन जिला निर्वाचन अधिकारियों के कार्यालयों में है और मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय द्वारा नियमित रूप से उनकी निगरानी की जा रही है. डाक के जरिए डाले गए मतों की पहले गिनती होगी और उसके बाद ईवीएम के वोटों की गिनती की जाएगी.

बिहार विधानसभा की 243 सीटों के लिए तीन चरणों में 28 अक्टूबर (71 सीटों), 3 नवंबर (94 सीटों) और 7 नवंबर (78 सीटों) को मतदान संपन्न हुआ था.


आपको बता दें कि तीसरे और अंतिम दौर के मतदान के बाद जारी अधिकतर एग्जिट पोल में राजद नेता तेजस्वी यादव के नेतृत्व वाले विपक्षी महागठबंधन को बढ़त दिखाई गई है. हालांकि बिहार विधानसभा में बहुमत का जादुई आंकड़ा 122 का है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज