RJD के टिकट पर चुनाव लड़ रहे अनंत सिंह के खिलाफ दर्ज हैं 38 केस, जेल में रहकर भी दोगुनी हुई संपत्ति

पटना में पेशी के दौरान अनंत सिंह (फाइल फोटो)
पटना में पेशी के दौरान अनंत सिंह (फाइल फोटो)

Bihar Assembly Election 2020: मोकामा के विधायक अनंत सिंह की पहचान बाहुबली के तौर पर है. सरकार में रहकर भी सरकार के खिलाफ बोलने वाला यह राजनेता फिलहाल RJD के टिकट पर चुनाव मैदान में हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 15, 2020, 8:27 AM IST
  • Share this:
पटना. बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर जिन सीटों पर सबकी नजर है, उनमें से एक सीट मोकामा का भी है. दरअसल, इस सीट से बाहुबली और छोटे सरकार जैसे नामों से मशहूर अनंत कुमार सिंह इस बार भी चुनावी मैदान में हैं. जेल में रहकर भी चुनाव जीतने वाले इस बाहुबली को 2020 के विधानसभा चुनाव में लालू प्रसाद यादव की पार्टी यानी RJD ने टिकट दिया है. इस दौरान जब अनंत कुमार सिंह ने अपना नामांकन दाखिल किया तो उनको लेकर कई अहम जानकारी सामने आई है. इसमें संपत्ति से लेकर उनके आपराधिक इतिहास तक का विस्तृत ब्‍योरा है.

59 साल के अनंत कुमार सिंह पर फिलहाल 38 मामले चल रहे हैं, जिनमें हत्या से लेकर कई अन्य आपराधिक वारदात शामिल हैं. 41 साल पहले यानी 1979 में अनंत कुमार सिंह के खिलाफ पुलिस ने पहली केस फाइल की थी, जिसके बाद से इस बाहुबली नेता ने पीछे मुड़कर नहीं देखा और धीरे-धीरे अपराध की दुनिया का बेताज बादशाह बन गया. इस दौरान अनंत सिंह की धमक राजनीति में भी दिखी.

मोकामा से बाहुबली विधायक अनंत सिंह ने राजद से अपना नामांकन पत्र भरा है. नामांकन के दौरान दिए गए एफिडेविट में विधायक करोड़ों के मालिक बताए गए है तो वहीं पत्नी एक करोड़ इनकम टैक्स भरती हैं. जानें इस बाहुबली राजनेता से जुड़ी अहम जानकारियां -



38 मामले हैं दर्ज
अपने एफिडेविड ने अनंत सिंह ने बताया है कि बिहार के अलग-अलग थानों में उन पर कुल 38 मामले चल रहे हैं, जिनमें हत्या और हत्या की धमकी से जुड़े संगीन अपराध भी शामिल हैं.

पांच साल में बढ़ी सम्पत्ति

जेल में रहते हुए अनंत सिंह की सम्पत्ति दोगुनी हुई है. 2015 में सम्पत्ति 27.99 करोड़ थी तो 2020 में बढ़कर 68.55 करोड़ रुपए हो गई.

करोड़ों का भरा इनकम टैक्स

2019-20 में जहा अनंत सिंह ने लगभग 8 लाख रुपया आइटीआर भरा था, तो पत्नी नीलम देवी ने 1 करोड़ 20 लाख का आइटीआर फाइल किया था.

एक गाड़ी के मालिक हैं अनंत

बाहुबली विधायक यूं तो घोड़ों की बेहतर नस्ल अपने पास रखते हैं (जिनकी कीमत लाखों में होती है) पर गाड़ी के मामले में विधायक सिर्फ एक गाड़ी स्कॉर्पियो ही रखे हैं, जबकि पत्नी नीलम देवी के पास फॉर्चूनर के साथ चार गाड़ियां हैं.

जेल से जीतते हैं चुनाव

पिछला चुनाव भी विधायक अनंत सिंह ने जेल में रहते जीता था और बिहार सरकार के मंत्री नीरज को हराया था. इस बार भी जेल में एके-47 बरामदगी मामले में अनंत बंद हैं, लेकिन समर्थकों का मानना है कि फिर चुनाव जीतेंगे.

जदयू से है टक्कर

मोकामा में बाहुबली विधायक की टक्कर जदयू के संत माने जाने वाले राजीव लोचन से है. जानकारों की मानें तो यहां एक तरफा लड़ाई है, हालांकि राजीव लोचन अपनी जीत का दावा जरूर कर रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज