पटना: 2 घंटे तक पुलिस हिरासत में रहीं बिहार की CM कैंडिडेट पुष्पम प्रिया चौधरी, जानें क्या है पूरा मामला

Bihar Chunav: प्लूरल्स पार्टी की प्रमुख पुष्पम प्रिया चौधरी बांकीपुर और बिस्फी विधानसभा से बिहार चुनाव के मैदान में हैं. (फोटो साभारः पुष्पम प्रिया टि्वटर)
Bihar Chunav: प्लूरल्स पार्टी की प्रमुख पुष्पम प्रिया चौधरी बांकीपुर और बिस्फी विधानसभा से बिहार चुनाव के मैदान में हैं. (फोटो साभारः पुष्पम प्रिया टि्वटर)

बिहार की सीएम फेस पुष्पम प्रिया (Pushpam Priya Chaudhry) राज्य में निष्पक्ष चुनाव के लिये राष्ट्रपति शासन की मांग को लेकर राजभवन जाकर बिहार के राज्यपाल फागू चौहान को एक ज्ञापन सौंपना चाहती थीं, इसी दौरान पटना पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 28, 2020, 11:14 AM IST
  • Share this:
पटना. सीएम कैंडिडेट और प्लुरल्स पार्टी (Plurals Party) की प्रमुख पुष्पम प्रिया चौधरी (Pushpam Priya Choudhary) को पटना पुलिस ने हिरासत में ले लिया. मंगलवार की देर शाम पटना पुलिस ने पुष्पम को इनकम टैक्स चौराहे पर उस समय हिरासत में लिया, जब वह अपने समर्थकों के साथ राज्यपाल से मिलने जा रही थीं. पटना पुलिस का कहना है कि उन्‍हें प्रतिबंधित इलाके में जाने की अनुमति नहीं थी, उसके बावजूद वह बिना किसी अधिकारी को बताए और नियमों के विरुद्ध जा रही थीं. इसी दौरान इनकम टैक्स चौराहे पर कोतवाली एसएचओ के साथ पुष्पम प्रिया चौधरी की जमकर नोकझोंक भी हुई.

दरअसल, पुष्पम प्रिया चौधरी की पार्टी के वैशाली से उम्मीदवार की जमकर पिटाई हुई है. आरोप है कि पुलिस-प्रशासन पूरे मामले में कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है. इन्हीं बातों को लेकर पुष्पम अपनी पार्टी के कुछ नेताओं के साथ राज्यपाल से मिलना चाह रही थीं. वह राज्यपाल से अनुरोध करना चाह रही थीं कि बिहार में राष्ट्रपति शासन लगा कर चुनाव कराया जाए. पुलिस के मुताबिक, चुनाव की वजह से यह इलाका प्रतिबंधित जोन में है. ऐसे में बिना इजाजत के प्रतिबंधित इलाके में किसी का प्रवेश वर्जित है. पुष्‍पम प्रिया ने इसका उल्‍लंघन किया, इसीलिए पुलिस ने तत्काल उनको हिरासत में लिया.


 पटना के डाकबंगला चौराहे पर मीडिया से बातचीत करते हुए पुष्पम प्रिया ने आरोप लगाया कि एक साजिश के तहत बिहार चुनाव में उनके प्रत्याशियों का निर्वाचन रद्द किया जा रहा है. प्रिया ने कहा कि कभी किसी बड़ी पार्टी के प्रत्‍याशी का नामांकन खारिज नहीं हुआ है. पुष्पम ने पटना में कहा कि महामहिम से केवल यह कहना है कि राष्ट्रपति शासन लगाने में क्या दिक्कत है. बिहार में अधिकारियों का इस्तेमाल किया जा रहा है. पुष्पम प्रिया ने दावा किया कि जब तक राज्यपाल से मिलने नहीं दिया जाएगा वह कहीं नहीं जाएंगी. पुलिस अधिकारियों ने पुष्पम को लगभग साढ़े 8 बजे हिरासत में लिया और उनको रात के करीब 10 बजकर 30 मिनट पर हिरासत से छोड़ दिया गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज