Bihar Assembly Election: तेजस्वी के 10 लाख नौकरी देने के वादे पर BJP का वार- 15 साल में क्या किया

तेजस्वी यादव के बयान पर बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने हमला किया. (फाइल फोटो)
तेजस्वी यादव के बयान पर बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने हमला किया. (फाइल फोटो)

तेजस्वी ने कहा कि 5 अगस्त को हमने बेरोज़गारी का पोर्टल और एक टोल फ्री या मिस्ड कॉल नंबर जारी किया था उस बेरोज़गारी हटाओ पोर्टल में लगभग 9,47,324 बेरोज़गार युवा ने अपने बायोडाटा के साथ पंजीकृत किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 27, 2020, 7:22 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) की सरगर्मियों के बीच राजद नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) के पहली कैबिनेट बैठक में 10 लाख नौकरियों के बारे में फैसला करने के ऐलान ने सियासी हलचल तेज कर दी है. भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने तेजस्वी के इस बयान पर हमला किया है. बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने आज बिहार भाजयुमो द्वारा संकलित पुस्तक 'युवाओं का विकास, मोदी जी के साथ' का विमोचन करते हुए RJD पर हमला किया. जायसवाल ने कहा कि राजद ने 15 साल के शासन में युवाओं को रोजगार देने के लिए क्या किया. इस चुनाव में किसान सबसे बड़ा मुद्दा है, जिसके लिए पीएम मोदी ने ऐतिहासिक फैसला लिया है. बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि किसान के लिए राजग सरकार ने जो काम किया है, कुछ अनपढ़ लोग इसे नहीं समझ सकते हैं.

इससे पहले तेजस्वी यादव ने अपने बयान में कहा था कि अगर चुनाव के बाद बिहार में RJD की सरकार बनी तो कैबिनेट की पहली बैठक में ही प्रदेश के 10 लाख युवाओं को नौकरी देने के बारे में फैसला लिया जाएगा. आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के बेटे तेजस्वी ने कहा कि उनकी यह बयान चुनावी वादा नहीं, बल्कि मजबूत इरादा है.





पोर्टल पर 13 लाख से ज्यादा बेरोजगार लोगों ने पंजीकृति किया
बिहार में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच विधानसभा के चुनाव हो रहे हैं. इस चुनाव में बेरोजगारी को अपनी पार्टी का मुद्दा बनाते हुए तेजस्वी यादव का यह ऐलान सियासत के मद्देनजर अहम माना जा रहा है. तेजस्वी यादव ने अपने बयान में RJD द्वारा लॉकडाउन के दौरान शुरू किए गए पोर्टल के बारे में भी जानकारी दी. उन्होंने कहा, '5 अगस्त को हमने बेरोज़गारी का पोर्टल और एक टोल फ्री या मिस्ड कॉल नंबर जारी किया था, उस बेरोज़गारी हटाओ पोर्टल में लगभग 9,47,324 बेरोज़गार युवाओं ने अपने बायोडाटा के साथ पंजीकृत किया है. वहीं मिस्ड कॉल नंबर पर 13,11,626 लोगों ने मिस्ड कॉल करके पंजीकृत किया.'



बदली-बदली हैं परिस्थितियां

आपको बता दें कि बिहार विधानसभा चुनाव के ऐलान के पहले और बाद में भी, अभी तक महागठबंधन में मुख्यमंत्री के चेहरे (CM Face) को लेकर घटक दलों के बीच एक राय नहीं बन पाई है. तेजस्वी यादव को सीएम का चेहरा मानने के लिए विभिन्न दलों के नेता तैयार नहीं हैं. रालोसपा के महागठबंधन से छिटकने के पीछे भी यही महत्वपूर्ण कारण बताया जा रहा है. ऐसे में तेजस्वी यादव के आज का बयान काफी महत्वपूर्ण हो जाता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज