Bihar Election News: चुनाव की सबसे युवा प्रत्याशी दिव्या प्रकाश हारीं, JDU के मेवालाल चौधरी जीते

चुनावी सभा को संबोधित करतीं दिव्या प्रकाश. फाइल फोटो.
चुनावी सभा को संबोधित करतीं दिव्या प्रकाश. फाइल फोटो.

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 (Bihar Assembly Election 2020) में तारापुर (Tarapur) की सीट कई मायनों में काफी अहम थी. क्योंकि इस सीट पर सबसे कम उम्र की उम्मीदवार दिव्या प्रकाश यादव (Divya Prakash Yadav) आरजेडी (RJD) की ओर से मैदान में थीं. लेकिन उनकी हार हुई.

  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव में आरजेडी की उम्मीदवार दिव्या प्रकाश को हार का सामना करना पड़ा है. उन्हें पीछे छोड़ते हुए जेडीयू के मेवालाल चौधरी ने जीत दर्ज की है. मेवालाल चौधरी यहां से करीब 5000 वोटों से जीते हैं. बिहार विधानसभा चुनाव 2020 (Bihar Assembly Election 2020) में तारापुर (Tarapur) की सीट कई मायनों में काफी अहम थी. क्योंकि इस सीट पर सबसे कम उम्र की उम्मीदवार दिव्या प्रकाश यादव (Divya Prakash Yadav) आरजेडी (RJD) की ओर से मैदान में हैं. दिव्या प्रकाश पूर्व सीएम लालू प्रसाद यादव की बेहद ही चहेती मानी जाती हैं. वो पूर्व केन्द्रीय मंत्री व लालू के बेहद करीबी जय प्रकाश यादव की बेटी हैं. इस सीट पर दिव्या प्रकाश का सीधा मुकाबला जेडीयू के मेवालाल चौधरी से है. कम उम्र की इस प्रत्याशी ने अपने भाषणों और चुनावी सभाओं से देशभर में सुर्खियां बटोरी थीं.

आरजेडी के सबसे युवा कैंडीडेट में से एक दिव्या पहली बार विधानसभा के चुनावी मैदान में हैं. दिव्या के पिता व लालू के करीबी जय प्रकाश यादव बांका से सांसद रहे थे. यूपीए सरकार में लालू यादव ने उन्हें मंत्री पद भी दिलवाया था. इस बार तेजस्वी यादव ने उनकी बेटी पर भरोसा दिखाया. माना जा रहा है कि दिव्या अपने पिता की राजनीतिक विरासत को आगे बढ़ाएंगी.

ये भी पढ़ें- बिहार चुनाव नतीजे LIVE: बिहार चुनाव के नतीजे अभी हैं दूर, EC ने कहा- अब तक बस 92 लाख वोटों की हुई गिनती, 4 करोड़ हैं बाकी



बेटी की तरह मानते हैं लालू
दिव्या के चुनावी हलफनामे के मुताबिक उनकी उम्र 28 वर्ष है. उनकी शादी हो चुकी है और उनके पति का नाम अमन यादव है, जो बिहार के ही रहने वाले हैं. दिव्या की छोटी बहन शेफाली यादव ने पुणे से वकालत की पढ़ाई की है और वे सुप्रीम कोर्ट में प्रैक्टिस कर रही हैं. बताया जाता है कि लालू दिव्या को अपनी बेटी की तरह ही मानते हैं. बताया जा रहा है कि पूर्व केन्द्रीय मंत्री की बेटी व लालू यादव की करीबी होने के कारण तेजस्वी यादव ने तारापुर सीट से इस बार उनपर भरोसा जताया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज