Bihar Election Opinion Poll: महागठबंधन पर NDA भारी, बिहार में फिर से बनेगी नीतीश सरकार?

बिहार चुनाव का ओपिनियन पोल नीतीश कुमार के पक्ष में आने का दावा किया गया है.  (फाइल फोटो) .(File)
बिहार चुनाव का ओपिनियन पोल नीतीश कुमार के पक्ष में आने का दावा किया गया है. (फाइल फोटो) .(File)

Bihar Election Opinion Poll: वोटिंग पहले ही सीएसडीएस-लोकनीति (CSDS-Lokniti Opinion Poll) के साथ मिलकर एक न्यूज चैनल ने बिहार इलेक्शन का ओपिनियन सर्वे जारी किया है.

  • Share this:
पटना. बिहार (Bihar) में विधानसभा चुनाव (Assembly Election) के तहत पहले चरण की वोटिंग कुछ दिन बाद ही होनी है. तीन चरणों में हो रहे चुनाव के नतीजे 10 नवंबर को घोषित हो जाएंगे, लेकिन इससे पहले ही सर्वे एजेंसियों के साथ मिलकर अलग अलग न्यूज चैनल्स ओपिनियन पोल जारी कर रहे हैं. सीएसडीएस-लोकनीति (CSDS-Lokniti Opinion Poll) के साथ मिलकर एक न्यूज चैनल ने बिहार इलेक्शन का ओपिनियन सर्वे जारी किया है. इस एजेंसी के ओपिनयन पोल के मुताबिक बिहार की जनता एक बार फिर से नीतीश कुमार की सरकार बनाने के पक्ष में है. इतना ही नहीं सर्वे के मुताबिक चुनाव में महागठबंधन पर एनडीए भारी नजर आ रही है.

सर्वे रिपोर्ट के मुताबिक बिहार की जनता पसंदीदा मुख्यमंत्री के रूप में भी महागठबंधन के उम्मीदवार तेजस्वी यादव से एनडीए उम्मीदवार नीतीश कुमार को आगे रखी है. ओपिनियन पोल में सीटों पर जीत के आंकड़े भी जारी किए गए हैं. सीएसडीएस-लोकनीति के ओपिनियन पोल के मुताबिक बिहार चुनाव में एनडीए को 133 से लेकर 143 सीटें मिलने का अनुमान लगाया गया है. जबकि आरजेडी के नेतृत्व वाले महागठबंधन को 88-98 सीटें मिल सकती हैं. जबकि पोल के मुताबिक बीजेपी के साथ सरकार बनाने का दावा करने वाली चिराग पासवान की पार्टी लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) महज 2-6 सीटें ही मिलने का अनुमान लगाया गया है. ओपिनियन पोल के मुताबिक राज्य में अन्य दलों को 6 से 10 सीटें मिल सकती हैं.

इस तरह सर्वे का दावा

सर्वे एजेंसी का दावा है कि बिहार विधानसभा चुनाव से ठीक पहले हुए इस ओपिनियन पोल के दौरान 37 विधानसभा सीटों के 148 बूथों पर लोगों की राय पूछी गई है. इस दौरान, 3731 लोगों को सर्वे में शामिल किया गया है. एजेंसी का दावा है कि यह ओपिनियन पोल 10 से 17 अक्टूबर के बीच में कराया गया है. साथ ही इसमें सभी आयु वर्ग के लोगों को शामिल किया गया है. एजेंसी का दावा है कि सर्वे के दौरान जब लोगों से मुख्यमंत्री पद की पहली पसंद पूछी गई तो इसमें नीतीश कुमार ही सबसे आगे रहे. सर्वे में शामिल राज्य के 31 फीसदी लोग नीतीश कुमार को फिर से राज्य का मुख्यमंत्री देखना चाहते हैं. जबकि, महागठबंधन की ओर से मुख्यमंत्री उम्मीदवार तेजस्वी यादव को 27 फीसदी लोग सीएम देखना चाहते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज