Bihar Election Result 2020: बिहार के करीब 1.69 फीसदी मतदाताओं ने दबाया NOTA का बटन

बिहार विधानसभा चुनाव में एनडीए को 125 सीटें, महागठबंधन को 110 सीटें मिली हैं. (सांकेतिक फोटो)
बिहार विधानसभा चुनाव में एनडीए को 125 सीटें, महागठबंधन को 110 सीटें मिली हैं. (सांकेतिक फोटो)

ईवीएम (EVM) में वर्ष 2013 में 'नोटा' के विकल्प की शुरुआत की गई थी. इसके बाद से हर चुनाव में मतदाता इसका इस्‍तेमाल कर रहे हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली.  बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election Results) में करीब 7 लाख मतदाताओं ने 'नोटा' (Nota) का बटन दबाया. ताजा आंकड़ों से यह जानकारी मिली है. चुनाव आयोग की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, अब तक 6,89,135 लोगों ने अथवा 1.69 फीसदी मतदाताओं ने नोटा के विकल्प को चुना है. यानि इन मतदाताओं ने किसी भी उम्मीदवार के पक्ष में मतदान नहीं किया. ईवीएम (EVM) में वर्ष 2013 में 'नोटा' के विकल्प की शुरुआत की गई थी, जिसका अपना अलग चिह्न है.

बिहार विधानसभा चुनाव नतीजों में एनडीए को पूर्ण बहुमत मिला है. नीतीश कुमार (Nitish Kumar) अगले पांच वर्षों के लिए फिर से सीएम बनना लगभग तय है. बता दें कि बिहार विधानसभा चुनाव में एनडीए को 125 सीटें, महागठबंधन को 110 सीटें, एलजेपी को 1 जबकि अन्य के खाते में 7 सीटें गई हैं. बिहार में एक बार फिर नीतीश कुमार ने साबित कर दिया कि उनका सुशासन बिहार की जनता की पहली पसंद है और वहां के लोग अभी भी उनपर भरोसा करते हैं. हालांकि, इस चुनाव को पूरी तरह से नीतीश कुमार के पक्ष में करने का श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दिया जा रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जिस तरह से बिहार में चुनावी रैलियां कीं उसके बाद से एनडीए पर बिहार की जनता का भरोसा बढ़ गया. प्रधानमंत्री ने लोगों को आगाह किया कि उनका वोट एक बार फिर बिहार में जंगलराज ला सकता है. प्रधानमंत्री की यही बात शायद बिहार की जनता के दिल में घर कर गई.

महागठबंधन के खाते में 110 सीटें
यदि बिहार के चुनाव नतीजों पर गौर करें तो एनडीए में बीजेपी के खाते में सबसे ज्यादा सीटें गई हैं. बिहार के चुनाव में बीजेपी को 74 सीटें हासिल हुई हैं. वहीं, जनता दल यूनाइटेड के खाते में 43 सीटें गई हैं. इस बार के चुनाव में वीआईपी को 4 और हम को 4 सीटें मिली हैं. इस बार के बिहार विधानसभा चुनाव में महागठबंधन से बीजेपी को कड़ी टक्कर मिली. वहीं, महागठबंधन के खाते में 110 सीटें गई हैं. महागठबंधन में आरजेडी के खाते में 75 सीटें, जबकि कांग्रेस को 19 सीटें मिली हैं. इस गठबंधन की अन्य पार्टियों में सीपीआईएमएल को 12 सीटें और सीपीएम को 2 सीटें मिली हैं. बिहार चुनाव में सीपीआई के खाते में मात्र 2 सीटें गई हैं. इस चुनाव में सबसे खराब स्थिति एलजेपी की रही. चिराग पासवान के नेतृत्व में इस बार ​का चुनाव लड़ रही एलजेपी को केवल 1 सीटें मिली है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज