बिहार की हिलसा सीट, जहां सिर्फ 12 वोट से हुआ हार-जीत का फैसला

फाइल फोटोः नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू और बीजेपी का गठबंधन इस चुनाव में विजयी बनकर उभरा है.
फाइल फोटोः नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू और बीजेपी का गठबंधन इस चुनाव में विजयी बनकर उभरा है.

चुनाव आयोग (Election Commission) की ओर से मंगलवार को देर रात वेबसाइट पर अपडेट किए गए परिणाम के मुताबिक जेडीयू (JDU) के कृष्ण मुरारी शरण उर्फ प्रेम मुखिया ने 61,848 वोट हासिल किए, जबकि आरजेडी के अत्री मुनी उर्फ शक्ति सिंह यादव को 61,836 वोट मिले.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 11, 2020, 7:54 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) की मतगणना सांसें रोक देने वाली रही, जहां हर राउंड के बाद उम्मीदवार की किस्मत का तराजू हिचकोले खाता रहा. देर रात तक चली मतगणना में कांटे की टक्कर देखने को मिली और कुछ सीटों पर तो जीत-हार का फैसला महज कुछ वोटों का रहा. हालांकि बिहार की हिलसा विधानसभा सीट (Hilsa Seat) के परिणाम को लेकर तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) की पार्टी आरजेडी (RJD) ने सवाल खड़े किए.

मंगलवार को देर रात चुनाव आयोग की वेबसाइट पर जारी किए गए चुनाव परिणाम के मुताबिक जनता दल यूनाइटेड (JDU) के कृष्ण मुरारी शरण उर्फ प्रेम मुखिया ने 61,848 वोट हासिल किए, जबकि आरजेडी के अत्री मुनी उर्फ शक्ति सिंह यादव को 61,836 वोट मिले.

हिलसा के चुनाव परिणाम के कॉलम में 'परिणाम घोषित' लिखा है और जीत का अंतर सिर्फ '12' वोट है.



इससे पहले जब हिलसा सीट के लिए चुनाव आयोग की वेबसाइट ये बता रही थी कि वोटों की गिनती जारी है. आरजेडी ने आरोप लगाया कि हिलसा सीट पर फर्जी तरीके से जेडीयू उम्मीदवार को विजयी घोषित करने की कोशिश हो रही है. तेजस्वी की पार्टी ने दावा कि पहले उनके उम्मीदवार को 500 से ज्यादा वोटों से विजयी घोषित किया गया था.
आरजेडी ने अपने एक ट्वीट में लिखा, 'हिलसा विधानसभा क्षेत्र से आरजेडी प्रत्याशी शक्ति सिंह को निर्वाचन अधिकारी ने 547 वोट से विजयी घोषित कर दिया था. सर्टिफ़िकेट लेने के लिए इंतज़ार करने को कहा गया. सीएम आवास से रिटर्निंग ऑफिसर को फ़ोन आता है. फिर अचानक अधिकारी कहते है पोस्टल बैलेट रद्द होने के कारण आप 13 वोट से हार गए.'

चुनाव आयोग के मुताबिक जेडीयू उम्मीदवार को पोस्टल बैलेट के 232 वोट मिले और आरजेडी उम्मीदवार को 233 वोट हासिल हुए.

बिहार चुनाव की मतगणना में विपक्षी पार्टियों ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) और उनकी सरकार के दबाव में उनके उम्मीदवारों को जीत के सर्टिफिकेट नहीं दिए जा रहे हैं. आरजेडी ने दावा किया कि उसके गठबंधन को 119 सीटों पर 'जीत' मिली है, बजाय कि 110 सीटों के. आरजेडी ने इन सीटों की लिस्ट भी अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट की.

उधर, चुनाव आयोग ने देर रात को प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए विपक्षी पार्टियों के आरोपों को खारिज किया. आयोग ने कहा, 'हम किसी के दबाव में नहीं हैं.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज