Bihar Election Results 2020: जानें चुनावी नतीजों के बीच चर्चा में क्यों हैं प्रशांत किशोर?

Bihar Election Results: बिहार के सियासी विमर्श में मौजूद हैं प्रशांत किशोर.
Bihar Election Results: बिहार के सियासी विमर्श में मौजूद हैं प्रशांत किशोर.

Bihar Election Results : राजनीतिक जानकार बताते हैं कि प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) हर नीति में भी सिर्फ और सिर्फ नीतीश ही थे. अब जब नीतीश से ही अलगाव हो गया तो दूसरे चेहरे को प्रोमोट करने की कवायद भी की थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 10, 2020, 11:28 AM IST
  • Share this:
पटना. 20 जुलाई 2020... यही वह तारीख है जब चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishore) ने अपना आखिरी ट्वीट किया था. इसमें उन्होंने कोरोना वायरस (COVID-19) के खतरों से आगाह किया था और राजनीति पर कोई बात नहीं की थी. सबसे खास बात यह रही कि इसके बाद भी बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) को लेकर सूबे में सियासी गतिविधियां लगातार रहीं पर सीएम नीतीश कुमार  (CM Nitish Kumar) से जुदा होने के बाद बिहार को बदल देने के दावा करने वाले प्रशांत किशोर की ओर से कोई हलचल नहीं रही. आलम यह रहा कि वे सोशल मीडिया (Social media) पर भी एक्टिव नहीं रहे.

बिहार के राजनीतिक जानकार बताते हैं कि प्रशांत किशोर के लिए बिहार में राजनीति का आधार ही नीतीश कुमार और उनकी विकासवादी राजनीति रही थी. यही वजह थी कि बिहार में बहार है, नीतीशे कुमार है! पिछले विधानसभा चुनाव (2015) में ठेठ बिहारी बातचीत की शैली में बने इस स्लोगन को पीके ने गढ़ा था. लेकिन पिछले कुछ महीनों से बिहार से अचानक उनका गायब हो जाना,  चर्चा का विषय बना  हुआ है.

पीके की सियासत का आधार थे नीतीश

आगे पढ़ें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज