बिहार के एग्जिट पोल से कांग्रेस गदगद लेकिन राजस्थान वाले हालात दोहराने का भी सता रहा डर

बिहार कांग्रेस के नेता (फाइल फोटो)
बिहार कांग्रेस के नेता (फाइल फोटो)

Bihar Exit Poll: बिहार में कांग्रेस ने इस बार का चुनाव राजद और वाम दलों के साथ मिलकर लड़ा है. एग्जिट पोल में कांग्रेस को भी अच्छी सीटें मिल रही हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 8, 2020, 10:42 AM IST
  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Election 2020) के तीसरे चरण की वोटिंग खत्म होने के बाद जो एग्जिट पोल आए हैं, वो महागठबंधन के लिए बांछे खिलाने वाली हैं. अपनी जीत को लेकर आश्वस्त कांग्रेस (Congress) पार्टी अंदरूनी तैयरियों में भी जुट गई है. कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता और वरिष्ठ नेता रणदीप सुरजेवाला और अविनाश पांडे आज पटना पहुंचने वाले हैं.

कांग्रेस केंद्रीय नेतृत्व रणदीप सुरजेवाला और अविनाश पांडे को ऑब्ज़र्वर बनाकर पटना भेज रही है. उन पर मुख्य जिम्मेदारी चुनाव जीतकर आने वाले विधायकों को पार्टी में बनाए रखने और सरकार बनाने की रणनीति पर काम करने की जिम्मेदारी दी गई है. सूत्रों से मिली जानकारी का मुतिबाक, आज दोनों की मुलाकात महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के दावेदार और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव से भी होगी.

कांग्रेस को राजस्थान वाली स्थिति होने का डर है इसलिए कांग्रेस की सेंट्रल टीम की पूरी कोशिश होगी कि जीते हुए विधायकों से लगातार संपर्क में रहा जाए, इतना ही नहीं पार्टी कानूनी मोर्चे पर भी तैयार रहेगी. कांग्रेस पार्टी के बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल कोरोना पॉजिटिव हैं, जिस कारण वो टेलिफोन से कांग्रेस नेताओं के संपर्क में रहेंगे.



बिहार में 243 सीटों पर तीन चरणों में विधानसभा चुनाव संपन्न हुए हैं. आरजेडी, कांग्रेस और लेफ्ट गठबंधन की सरकार को अधिकांश एग्जिट पोल में बढ़त मिलती दिख रही है. आपको बता दें कि एग्जिट पोल एक अनुमान होता है, जो कि अंतिम नतीजे से भिन्न भी हो सकता है. बिहार में मतों की गिनती का काम मंगलवार यानी 10 नवंबर को होगा और उसी दिन सरकार को लेकर तस्वीर साफ होने लगेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज