Home /News /bihar /

स्याही फेंकने मामले में कांग्रेस नेता का CM नीतीश पर फूटा गुस्सा, कहा- मुंह पर फेंको उनके पैसे

स्याही फेंकने मामले में कांग्रेस नेता का CM नीतीश पर फूटा गुस्सा, कहा- मुंह पर फेंको उनके पैसे

केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे पर स्याही फेंके जाने की घटना के बाद विपक्षी नेताओं के बयान आने शुरू हो गए हैं.

केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे पर स्याही फेंके जाने की घटना के बाद विपक्षी नेताओं के बयान आने शुरू हो गए हैं.

केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे (Ashwini Chobey) डेंगू (Dengue) के मरीजों को देखने और वार्डों का निरीक्षण करने पीएमसीएच (PMCH) पहुंचे थे. निरीक्षण के दौरान एक युवक ने उन पर स्याही फेंक दिया. इस घटना के बाद कांग्रेस (Congress) नेत्री रंजीत रंजन (Ranjeet Ranjan) ने बड़ा बयान दिया है.

अधिक पढ़ें ...
    नई दिल्ली. केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे (Ashwini Choubey) पर मंगलवार को पटना (Patna) में स्याही (Ink) फेंकने की घटना ने राजनीतिक रंग ले लिया है. सुपौल से पूर्व सांसद और बिहार कांग्रेस (Congress) की महिला नेत्री रंजीत रंजन (Ranjeet Ranjan) ने इस घटना पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. रंजीत रंजन ने व्यंग्य भरे लहजे में कहा, 'क्या उम्मीद रखते हैं? चप्पल फेंकने और स्याही फेंकने की परंपरा सही नहीं है, लेकिन जिस तरह की त्रासदी पटना के लोगों ने झेली है और उसके बाद जिस तरह से एनडीए नेताओं के तरफ से बयान दिए गए हैं, उसका यह आक्रोश है.'

    नीतीश कुमार पर कांग्रेस हुई हमलावर

    रंजीत रंजन आगे कहती हैं, 'आखिरकार 4,000 करोड़ रुपये कहां गए? नालों की सफाई हुई कि नहीं? मुजफ्फरपुर गर्ल्स शेल्टर होम कांड और चमकी बुखार के वक्त ये शातिर मुस्कान लिए घूम रहे थे. यह अंधेर नगरी चौपट राजा वाली बात है. राजा मजबूत हो तो मजाल नहीं अधिकारियों की इस तरह का हिमाकत कर देना. अब आप बाढ़ प्रभावित लोगों को 6,000 रुपये देने की बात करते हैं. ऐसे पैसे सीएम के मुंह पर फेंक दिया जाना चहिए.'

    मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पटना में एक बाढ़ग्रस्त इलाके का मुआयना करते हुए (फोटो: पीटीआई)


    PMCH में डेंगू पीड़ितों के वॉर्ड निरीक्षण के दौरान स्याही फेंका 

    बता दें कि मंगलवार को पटना के पीएमसीएच अस्पताल में केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे डेंगू पीड़ित मरीजों को देखने और वार्डों का निरीक्षण करने पहुंचे थे. चौबे जब वार्ड का निरीक्षण कर अपनी गाड़ी में सवार होने जा रहे थे, तभी अचानक उन पर एक व्यक्ति ने स्याही फेंक दी. स्याही मंत्री के शरीर के साथ-साथ गाड़ी पर भी जाकर लगी.



    मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया कि स्याही फेंकने वाले युवक के साथ एक और भी शख्स था. घटना के बाद केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे की सुरक्षा में लगे जवानों ने दोनों को पकड़ने की कोशिश की लेकिन वो फरार हो गए. बाद में अश्विनी चौबे ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि ये वही लोग हैं, जो अपराध जगत से नाता रखते हैं और किसी जमाने में अपराध के क्षेत्र में काफी आगे थे.

    पप्पू यादव ने आरोपी व्यक्ति को जानने से किया इनकार

    वहीं स्याही फेंकने के आरोपी निशांत झा ने एक प्रादेशिक न्यूज़ चैनल से बातचीत करते हुए कहा कि  उसका संबंध पप्पू यादव की जन अधिकार पार्टी (JAP) से है. लेकिन, यह उसका व्यक्तिगत निर्णय था. इस घटना पर पप्पू यादव ने कहा है कि वो निशांत झा नाम के ऐसे किसी व्यक्ति को नहीं जानते.

    ये भी पढ़ें: 

    PMC बैंक के बर्खास्त MD जॉय थॉमस ने जुनैद खान बनकर कैसे चूना लगाया

    डेंगू को लेकर केजरीवाल सरकार और MCD के अलग-अलग दावे, जानें कौन सही कौन गलत!

    Tags: Bihar floods, BJP, Bjp jdu, Nitish kumar, PATNA NEWS, PMCH hospital, Ranjeet Ranjan

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर