'केंद्र मुहैया कराए राशन तभी दे पाएंगे बिना राशन कार्ड वालों को अनाज', चिराग को बिहार सरकार का जवाब!
Patna News in Hindi

'केंद्र मुहैया कराए राशन तभी दे पाएंगे बिना राशन कार्ड वालों को अनाज', चिराग को बिहार सरकार का जवाब!
बिहार सरकार ने डेढ़ करोड़ लोगों के लिए मांगे राशन

खाद्य आपूर्ति मंत्री मदन साहनी ने साफ किया है कि बिना राशन कार्ड वाले 30 लाख परिवारों को राशन तभी मिल पाएगा जब केंद्र राशन मुहैया कराए.

  • Share this:
पटना. लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान सभी लोगों को राशन मुहैया कराने का मामला सबसे बड़ा चैलेंज बना हुआ है. बिहार में राशन कार्ड वालों को अनाज देने के साथ बिना कार्ड वालों को भी राशन देने की बात कही है. पर बिहार सरकार ने यह पूरा मामला केंद्र के पाले में डाल दिया है. बिहार के खाद्य व उपभोक्ता मंत्री मदन सहनी (Madan Sahni) ने केंद्रीय खाद्य मंत्रालय को चिट्ठी लिख अनाज देने की मांग रख दी है. मदन सहनी ने केंद्रीय खाद्य  मंत्री रामविलास पासवान (Ramvilas Paswan) को चिट्ठी लिखकर 30 लाख परिवारों यानि 1.5 करोड़ लोगों के लिए राशन की मांग की है.

बिहार के खाद्य आपूर्ति मंत्री मदन साहनी ने कहा कि इतने लोगो के लिए कम से कम 75 हजार मीट्रिक टन अनाज की जरूरत पड़ेगी. बिहार सरकार ने इसमे 30 हजार मीट्रिक टन गेंहू और 45 हजार मीट्रिक टन चावल देने की मांग की है.

केंद्र के मिलने के बाद ही मिलेगा बिना राशन कार्ड वालों को अनाज
बिहार सरकार ने बिना राशन कार्ड वालो को अनाज देने की घोषणा भले ही कर दी हो पर खाद्य आपूर्ति मंत्री मदन साहनी ने साफ किया है कि बिना कार्ड वाले 30 लाख परिवारों को राशन तभी मिल पाएगा जब केंद्र राशन मुहैया कराए. मदन साहनी ने कहा कि केम्द्रीय खाद उवभोक्ता मंत्री रामविलास पासवान बिहार से ही हैं. वो जितनी जल्दी राशन मुहैया कराएंगे उतनी जल्दी हमलोग राशन बांट पाएंगे.
चिराग पासवान को बिहार सरकार ने दिया करारा जवाब


बिहार के खाद्य आपूर्ति मंत्री के केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान को लिखी चिट्ठी को चिराग पासवान को जवाब के तौर पर देखा जा रहा है. गौरतलब है कि हाल में ही रामविलास पासवान के सांसद पुत्र व लोक जन शक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान ने बिहार सरकार पर सवाल खड़ा करते हुए कहा था कि बिहार में 14.5 लाख परिवारों का नाम बिहार सरकार ने अबतक नही भेजा है जिसके कारण गरीबों को राशन मुहैया कराने में दिक्कत हो रही है. बहरहाल अब गेंद केंद्र के पाले में जाने के बाद देखना होगा कि चिराग पासवान क्या जवाब देते हैं.

ये भी पढ़ें


Lockdown 2.0: मजदूरों को लाने पर बिहार सरकार ने खड़े किए हाथ, सुशील मोदी बोले- हमारे पास इतने संसाधन नहीं




MHA गाइडलाइंस से प्रवासियों के बिहार आने का रास्‍ता साफ, CM नीतीश ने केंद्र सरकार के फैसले का किया स्वागत

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज