बिहार सरकार का दावा: लॉकडाउन में वापस लौटे मजदूरों को मिला रोजगार, ऐसे कर कर रहे कमाई
Patna News in Hindi

बिहार सरकार का दावा: लॉकडाउन में वापस लौटे मजदूरों को मिला रोजगार, ऐसे कर कर रहे कमाई
बिहार सरकार ने रोजगार देने का दावा किया है.

कोरोना वायरस (Corona Virus) के संक्रमण के खतरे के बीच लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान लाखों की संख्या में लोग बिहार (Bihar) वापस लौटे हैं.

  • Share this:
पटना. कोरोना वायरस (Corona Virus) के संक्रमण के खतरे के बीच लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान लाखों की संख्या में लोग बिहार (Bihar) वापस लौटे हैं. जिन्हें रोजगार देना सरकार के लिए एक चुनौती है. कृषि विभाग का कहना है बिहार की सरकार इस चुनौती को अवसर के रूप में बदलने की दिशा में कार्य कर रही है. कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार ने कहा कि अभी हाल ही में बिहार की औद्योगिक नीति में बिहार सरकार ने सकारात्मक परिवर्तन किया है, जिससे राज्य में बड़े पैमाने पर निवेश होगा, कृषि से जुड़े फूड प्रोसेसिंग के सेक्टर में बड़े पैमाने पर निवेश होगा. इससे लोगों के बीच रोजगार के अवसर उपलब्ध हो पायेगा. प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना में भी बिहार के 32 जिलों को शामिल किया गया है. इससे भी बिहार के लोगों को बड़े पैमाने पर रोजगार मिलेगा.

मंत्री डॉ. प्रेम ने कहा कि राज्य की सरकार भी कृषि सहित अन्य कई क्षेत्रों में लोगों को रोजगार देने की दिषा में गंभीरता से प्रयास कर रही है. कृषि के क्षेत्र में भी रोजगार की असीम संभावनाएं हैं. सरकार द्वारा इस पर भी तेजी से काम किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि राज्य में मखाना, मशरूम, शहद सहित 14 विशेष फसलों में भी उद्यानिक उत्पाद विकास योजना के माध्यम से बेरोजगारों को रोजगार उपलब्ध कराया जा रहा है.

खेती से जुड़े कार्यों में भी बड़े पैमाने पर रोजगार
डाॅ. प्रेम ने कहा कि इस वर्ष खेती से जुड़े कार्यों में भी बड़े पैमाने पर लोगों को रोजगार मिल रहा है. राज्य में समय पर वर्षा होने से बिहार में वापस लौटे प्रवासियों के लिए कृषि के क्षेत्र में जहां रोजगार का अधिक से अधिक अवसर मिल रहा है, वहीं राज्य के किसानों को भी धान की खेती करने में मजदूरों की उपलब्धता सहज हो रही है, जिससे किसान आसानी से धान की रोपनी कर रहे हैं.
ये भी पढ़ें: आनंदपाल एनकाउंटर केस: CBI जांच के बीच राजपूत नेताओं पर दर्ज FIR वापस ले सकती है गहलोत सरकार



भूमि संरक्षण संभाग ने 1.46 लाख रोजगार का दावा
डाॅ. प्रेम कुमार ने कहा कि कृषि विभाग के भूमि संरक्षण संभाग द्वारा कोरोना संक्रमण के कारण जारी लाॅकडाउन में बेरोजगारों को अधिक-से-अधिक रोजगार के अवसर सृजित किए गए हैं. राज्य में भूमि संरक्षण कार्यक्रम के अंतर्गत बड़े पैमाने पर तालाब, पक्का चेक डैम सहित विभिन्न प्रकार की जल संचयन संरचनाओं का निर्माण किया जाना है, जिसमें काफी अधिक संख्या में रोजगार की अवसर उपलब्ध हो सकते हैं. भूमि संरक्षण संभाग द्वारा अभी तक लगभग 1.46 लाख रोजगार दिवस सृजित किये गये हैं. इससे पलायन कर वापस लौटे लोगों को रोजगार मिल रहा है और उनकी कमाई हो रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading