Assembly Banner 2021

बगैर कोविड रिपोर्ट निगेटिव के जेल नहीं भेजे जाएंगे अभियुक्त, जानें बिहार के जेलों की नई व्यवस्था

पटना बेउर जेल (फाइल फोटो)

पटना बेउर जेल (फाइल फोटो)

Bihar Corona Rules: बिहार सरकार के गृह और कारा विभाग ने ये फैसला राज्य में कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर लिया है. नए नियमों के तहत कैदियों को काढ़ा देने का भी फैसला लिया गया है.

  • Share this:
पटना. बिहार में कोरोना के बढ़ते संक्रमण (Corona Cases In Bihar) को देखते हुए जेल प्रशासन भी चौकस हो चुका है. कैदियों को कोविड (Covid-19) ना हो इसको जेल लेकर काफी गंभीर नजर आ रहा है. दरअसल बिहार सरकार के गृह विभाग के सचिव और जेल आईजी मिथलेश मिश्रा ने एक अहम निर्देश जारी किया है. जेल आईजी ने अपने इस निर्देश पत्र में किसी भी तरह के अभियुक्त या आरोपियों की गिरफ्तारी किए जाने के बाद उनकी कोरोना जांच कराना अनिवार्य कहा है. और तो और जब तक अभियुक्त का कोविड जांच रिपोर्ट निगेटिव नहीं आ जाती तब तक उसे जेल के किसी भी खण्ड में नही डाला जाए उसे एक हॉल में रखा जाए.

अगर उसकी रिपोर्ट पॉजेटिव आती है तो जेल में बने क्वारंटाइन वार्ड में रखा जाए. स्वस्थ्य होने के बाद ही जेल के अंदर किसी खण्ड में शिफ्ट किया जाए. जेल प्रशासन का मानना है कि कोरोना का संक्रमण अगर किसी भी जेल में पहुंच जाता है तो जेल के अंदर कोरोना को फैलने से रोक पाना बहुत मुश्किल होगा. गौरतलब है कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए जेल आईजी द्वारा बिहार के सभी जेल अधीक्षकों को कैदियों की इम्यूनिटी बढ़ाने हेतु नियमित रूप से काढ़ा देने का निर्देश जारी किया है. वहीं सर्दी खांसी या जुखाम के लक्षण दिखाई देने पर इसकी जानाकारी तुरंत जेल प्रशासन के आला अधिकारी को देने को कहा गया है.

Youtube Video




कारा कर्मियों के बाहर घूमने पर पाबंदी
जेल प्रशासन के मुताबिक सभी जेल के अधीक्षकों को जेल के अंदर कोरोना संक्रमण का विस्तार ना हो इसके इसको लेकर कारा कर्मियों के बाहर घूमने पर सख्ती के साथ रोक लगा दी गई है. अधीक्षक की अनुमति के बगैर कोई भी जेल कर्मी बाहर नहीं जाएगा, साथ ही साथ जेल के प्रवेश गेट पर सेनेटाइजर की व्यवस्था सुनिश्चित करने का निर्देश जारी किया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज