किसानों को खरीफ फसलों के बीज की नहीं होगी दिक्कत, सभी जिलों में बीज की होम डिलीवरी करेगी सरकार
Patna News in Hindi

किसानों को खरीफ फसलों के बीज की नहीं होगी दिक्कत, सभी जिलों में बीज की होम डिलीवरी करेगी सरकार
खरीफ फसलों की खेती को लेकर बिहार सरकार के कृषि मंत्री ने एक समीक्षात्मक बैठक की

वर्तमान में राज्य को 15 लाख क्विंटल बीज की आवश्यकता होती है, जिसके मुकाबले यहां बीज उत्पादन काफी कम होता है. इसके लिए राज्य में बिहार राज्य बीज निगम को बीज उत्पादन क्षमता को बढ़ाने के साथ-साथ बीज प्रसंस्करण इकाईयों की क्षमता भी बढ़ाना होगा.

  • Share this:
पटना. बिहार में अबकी सीजन में खरीफ फसल की खेती करने वाले किसानों को बीज की किल्लत नहीं होगी. कृषि विभाग ने लॉकडाउन (Lockdown) के बीच जिलों में खरीफ फसलों के बीज की होम डिलीवरी करने का फैसला लिया है. इसके लिए पर्याप्त मात्रा में बीज उत्पादन का लक्ष्य रखा गया है.​ कृषि विभाग बीज उत्पादन बढ़ाने पर जोर दे रहा है. विभाग की कोशिश है कि राज्य को बीज के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाया जा सके. विभाग की समीक्षा बैठक में कृषि मंत्री प्रेम कुमार (Minister Prem Kumar) ने भी माना कि राज्य में 15 लाख क्विंटल बीज की आवश्यकता है जिसमें हम काफी पीछे हैं. इसीलिए राज्य में बिहार राज्य बीज निगम को बीज उत्पादन कि क्षमता बढ़ाने के साथ बीज प्रसंस्करण इकाईयों की क्षमता भी बढ़ानी होगी. केन्द्र एवं राज्य सरकार का यह प्रयास है कि लाॅकडाउन से राज्य में कृषि का कार्य कम-से-कम प्रभावित हो.

 
बीज को लेकर समीक्षा बैठक
कृषि मंत्री डाॅ. प्रेम कुमार ने खरीफ मौसम में राज्य के किसानों को विभिन्न फसलों के बीज समय पर उपलब्ध कराने के लिए वीडीयो कांफ्रेस के जरिए बैठक की. समीक्षा बैठक में निदेशक, बिहार राज्य बीज एवं जैविक प्रमाणन एजेंसी, बिहार राज्य बीज निगम के मुख्यालय के पदाधिकारियों और सभी बीज प्रसंस्करण केन्द्रों के प्रभारी पदाधिकारी शामिल रहे. मंत्री ने बिहार राज्य बीज निगम के अधिकारियों को निर्देश दिया है कि किसानों को समय पर खरीफ फसलों का बीज हरहाल में उपलब्ध कराया जाये ताकि उन्हें बीज के लिए किसी भी कठिनाई का सामना न करना पड़े. मंत्री ने कड़े लहजे में कहा कि काम में कोताही बर्दाश्त नहीं की जायेगी.



 
बीज के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनेगा बिहार 


प्रेम कुमार ने कहा कि बिहार राज्य बीज निगम के पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि बिहार को बीज के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाया जाये. इसके लिए बिहार राज्य बीज निगम के द्वारा बीज उत्पादन क्षमता को बढ़ाना होगा. उन्होंने कहा कि वर्तमान में राज्य को 15 लाख क्विंटल बीज की आवश्यकता होती है, जिसके मुकाबले यहां बीज उत्पादन काफी कम होता है. इसके लिए राज्य में बिहार राज्य बीज निगम को बीज उत्पादन क्षमता को बढ़ाने के साथ-साथ बीज प्रसंस्करण इकाईयों की क्षमता भी बढ़ाना होगा. मंत्री ने पदाधिकारियों को नये बीज प्रसंस्करण इकाईयों का निर्माण भी आवश्यकतानुसार कराने का निर्देश दिया.

एक लाख क्विंटल बीज उत्पादन का लक्ष्य
बिहार राज्य बीज निगम के पास तत्काल 65 हजार क्विंटल सामान्य प्रभेद के धान बीज के लक्ष्य के विरूद्ध अब तक 27,733 हजार क्विंटल बीज की आपूर्ति की जा चुकी है. इसी प्रकार 10,500 क्विंटल संकर प्रभेद का धान बीज के लक्ष्य के विरूद्ध अब तक 1,769.12 क्विंटल संकर प्रभेद का धान बीज की आपूर्ति की जा चुकी है. इस खरीफ मौसम में बिहार राज्य बीज निगम द्वारा 1,05,000 क्विंटल बीज उत्पादन का लक्ष्य निर्धारित किया गया है.
 
लाॅकडाउन में कृषि ना हो प्रभावित 
मंत्री ने कहा कि वर्तमान में राज्य में बिहार राज्य बीज निगम के कुदरा, शेरघाटी, भागलपुर, बेगूसराय और हाजीपुर में अवस्थित बीज प्रसंस्करण इकाईयों में प्रतिवर्ष कुल 5,30,000 क्विंटल बीज का प्रसंस्करण किया जाता है. इसके अतिरिक्त 3,00,000 क्विंटल प्रसंस्करण क्षमता की इकाई कुदरा में स्थापित करने की प्रक्रिया चल रही है. निकट भविष्य में ही बिहटा (पटना) में भी स्थापित नये बीज प्रसंस्करण इकाई के द्वारा बीज प्रसंस्करण कार्य शुरू हो जायेगी. उन्होंने कहा कि राज्य के 30 जिला के 32 राजकीय बीज गुणन प्रक्षेत्रों में एक टन प्रति घंटा क्षमता वाले बीज प्रसंस्करण इकाई एवं 500-500 मैट्रिक टन क्षमता वाले गोदाम के निर्माण की योजना स्वीकृत की गई है. इसके निर्माण हेतु भवन निर्माण विभाग को पत्र निर्गत किया गया है. इसके अतिरिक्त शेरघाटी में 50,000 क्विंटल क्षमता का आर॰सी॰सी॰ का गोदाम निर्माण की योजना है.

ये भी पढ़ें- 24 घंटे के दौरान बिहार में 19 हत्याएं, विपक्ष ने नीतीश सरकार से पूछे सवाल

ये भी पढ़ें- 24 घंटे के दौरान बिहार में 19 हत्याएं, विपक्ष ने नीतीश सरकार से पूछे सवाल
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading