होम /न्यूज /बिहार /शराब का धंधा छोड़ नीरा का काम करने वालों को बिहार सरकार देगी 1 लाख रुपये, पढ़ें सीएम नीतीश ने क्या कहा

शराब का धंधा छोड़ नीरा का काम करने वालों को बिहार सरकार देगी 1 लाख रुपये, पढ़ें सीएम नीतीश ने क्या कहा

नशा मुक्ति दिवस पर पटना के ज्ञान भवन में आयोजित कार्यक्रम में सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि शराबबंदी से जुड़ी मेरी बात मान लीजिए. मै खुद आकर आपका चरण स्पर्श कर लूंगा.

नशा मुक्ति दिवस पर पटना के ज्ञान भवन में आयोजित कार्यक्रम में सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि शराबबंदी से जुड़ी मेरी बात मान लीजिए. मै खुद आकर आपका चरण स्पर्श कर लूंगा.

Bihar News: मुख्यमंत्री ने मीडिया और सभागार में लोगों से मुखातिब होते हुए कहा कि शराबबंदी से जुड़ी मेरी बात मान लीजिए. ...अधिक पढ़ें

पटना. मद्य निषेध दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को शराबबंदी कानून को सख्ती से लागू करने के लिए  पुलिस, मद्य निषेध विभाग की टीम के साथ ही प्रशासन के अधिकारियों को कहा कि भीतर रहकर शराब का धंधा कर रहे असली धंधेबाज को पकड़कर जेल में भेजिए. वही लोग गरीबों को इस काम में लगा रहे हैं. ऐसे गरीब लोगों की सतत जीविकोपार्जन योजना के तहत मदद कीजिए. नशा मुक्ति दिवस पर पटना के ज्ञान भवन में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री लोगों को संबोधित कर रहे थे. अपने संबोधन में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लोगों से कहा कि ताड़ी के धंधे में लिप्त लोग यह काम छोड़कर नीरा निर्माण में अभी से ही लग जाए तो सरकार उन्हें एक लाख रुपए की सहायता देगी.

मुख्यमंत्री ने मीडिया और सभागार में लोगों से मुखातिब होते हुए कहा कि शराबबंदी से जुड़ी मेरी बात मान लीजिए. मै खुद आकर आपका चरण स्पर्श कर लूंगा. नीतीश कुमार ने कहा कि शराब के धंधे में लगे असली व्‍यक्ति को पहचानिए. यह देखिए कि कौन कर रहा है इधर-उधर. कार्यक्रम में मौजूद मुख्य सचिव आमिर सुबहानी को मुख्यमंत्री ने मंच से ही यह निर्देश दिया कि हर विभाग से शराबबंदी को लेकर यह प्रचार-प्रसार कराएं कि शराब कितनी बुरी चीज है. बहुत लोग शराब छोड़ चुके हैं और अब  कुछ ही लोग बचे हैं.

सीएम नीतीश ने की बापू की भी चर्चा 

मुख्यमंत्री ने कहा कि शराबबंदी को लेकर कुछ बड़े लोग मेरे द्वारा जितने काम किए गए हैं, उसकी चर्चा नहीं करते. मुझे इसकी परवाह नहीं है. उन्होंने पुलिस व प्रशासन से जुड़े लोगों को कहा कि समाज सुधार के अभियान को निरंतर जारी रखिए. इस बारे में जुड़ी पुस्तिका एक-एक घर में पहुंची है. पूरे तौर पर इस काम में लगेंगे तो राज्य आगे बढ़ेगा. मुख्यमंत्री ने बापू की चर्चा करते हुए कहा कि बापू ने कहा था कि शराब बुरी चीज है. जिस व्यक्ति ने देश को आजादी दिलायी क्या उनकी बात नहीं मानेंगे.

‘एक लाख की मदद का ऑफर दीजिये’

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने संबोधन में ताड़ी की खास तौर पर चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि बे वजह ताड़ी से जुड़े लोगों को मत पकड़िए. यूं ही हम किसी को पकड़ने के लिए नहीं कह रहे हैं. इस धंधे में लगे लोगों को सतत जीविकोपार्जन योजना के तहत एक लाख रुपए की मदद का ऑफर दीजिए. सरकार की इस योजना के तहत 40,893 परिवार ने लाभ लेकर गोपालन, बकरीपालन, मुर्गीपालन व शहद का काम किया.

सीएम ने शराब के दुष्प्रभाव पर पर की चर्चा 

नशा मुक्ति दिवस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने शराब के दुष्प्रभाव पर विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट पर खास तौर पर चर्चा की. रिपोर्ट का हवाला देते हुए सीएम ने खासतौर पर कहा कि बीमारियों से अधिक मौत शराब पीने से होती है. यह दो हजार तरह की बीमारियों को बढ़ाता है. आत्महत्या के कुल मामले में 18 प्रतिशत इस तरह के लोगों से जुड़े हैं जो शराब पीते हैं. वहीं 27 प्रतिशत सड़क दुर्घटनाएं शराब पीने वालों की वजह से हैं.

Tags: Bihar News, PATNA NEWS

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें