लाइव टीवी

दलितों पर अत्याचार के मामले में बिहार आगे, थानों में कम ही दर्ज की जाती हैं FIR: SC आयोग
Patna News in Hindi

News18 Bihar
Updated: February 18, 2020, 9:03 PM IST
दलितों पर अत्याचार के मामले में बिहार आगे, थानों में कम ही दर्ज की जाती हैं FIR: SC आयोग
एससी आयोग की समीक्षा बैठक में अध्यक्ष रामशंकर कठेरिया ने रखे आंकड़े

एससी आयोग के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामशंकर कठेरिया ने कहा है कि देश में अनुसूचित जाति (SC) पर सबसे ज्यादा अत्याचार बिहार में होते हैं. उन्होंने कहा कि बिहार में दलित अत्याचार का प्रतिशत राष्ट्रीय औसत से दोगुना है.

  • Share this:
पटना. राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामशंकर कठेरिया (Ramshankar Katheria) ने बिहार में दलितों को लेकर हो रहे कामकाज पर राज्य स्तरीय समीक्षा बैठक की. बैठक में बिहार के मुख्य सचिव (Chief Secrarary) और डीजीपी सहित कई विभागों के प्रधान सचिव और अन्य अधिकारी शामिल थे. बैठक के बाद राम शंकर कठेरिया ने बिहार के राज्यपाल से भी मुलाकात की. उसके बाद उन्होने प्रेस कांफ्रेंस कर समीक्षा बैठक (Review meeting) के मामले की जानकारी दी.

बिहार में एससी पर हो रहे सबसे अधिक अत्याचार
एससी आयोग के राष्ट्रीय अध्यक्ष राम शंकर कठेरिया ने बिहार में एससी पर हो रहे अत्याचारों पर चिंता जताते हुए कहा कि बिहार में दलितों पर हो रहे आत्याचार के मामले देश के औसत से काफी अधिक हैं. देश में इनका औसत 21 प्रतिशत है जबकि बिहार में ये आंकड़ा 42 प्रतिशत पर है. वहीं उन्होंने ऐसे मामलों पर बिहार में सजा के प्रतिशत पर भी चिंता जताते हुए कहा कि बिहार में सजा का रेट सिर्फ 4 प्रतिशत है जो राष्ट्रीय औसत से काफी कम है. उन्होंने कहा कि बिहार में थानों के स्तर पर एफआईआर काफी कम होती हैं इस वजह से ऐसे मामले कोर्ट में दर्ज किए जाते हैं.

कई मानकों में पीछे है बिहार



एससी आयोग के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामशंकर कठेरिया ने एससी महिलाओं की साक्षरता दर पर भी चिंता जताई. उन्होंने कहा कि बिहार में एससी महिलाओं की शिक्षा पर ध्यान नहीं दिया जाता, जिस वजह से इस मानक में भी बिहार पीछे है. वहीं स्कूलों से एससी के बच्चों का ड्रॉप आउट भी देश में सबसे अधिक बिहार का ही है. कठेरिया ने कहा कि दलितों की योजनाओं के लिए आने वाले बजट का पैसा भी राज्य में पूरा खर्च नहीं हो पा रहा है, हालांकि मुख्य सचिव ने आश्वासन दिया है कि इन सब मानकों में सुधार किया जाएगा.

ये भी पढ़ें - 
बिहार में नीतीश के 'सुशासन' की काट के लिए विपक्ष रच रहा यह 'चक्रव्यूह'!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 18, 2020, 9:03 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर