• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • AES से बच्चों की मौत पर चल रही थी बैठक, स्वास्थ्य मंत्री ने पूछा मैच का स्कोर, VIDEO वायरल

AES से बच्चों की मौत पर चल रही थी बैठक, स्वास्थ्य मंत्री ने पूछा मैच का स्कोर, VIDEO वायरल

वीडियो में मंगल पांडेय को कहते हुए देखा जा सकता है कि कितने विकेट आउट हुए है. वहीं पीछे से आवाज आती है चार विकेट. (Photo- ANI)

वीडियो में मंगल पांडेय को कहते हुए देखा जा सकता है कि कितने विकेट आउट हुए है. वहीं पीछे से आवाज आती है चार विकेट. (Photo- ANI)

वीडियो में मंगल पांडेय को कहते हुए देखा जा सकता है कि कितने विकेट आउट हुए है. वहीं पीछे से आवाज आती है चार विकेट.

  • Share this:
    बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने मुजफ्फरपुर के एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) या चमकी बुखार से होने वाली मौतों के बारे में राज्य के स्वास्थ्य विभाग की बैठक के दौरान क्रिकेट स्कोर पूछ लिया. अब इस पूरी घटना का एक वीडियो भी सामने आया है. वीडियो में दिखाई देता है कि मंगल पांडेय भारत-पाकिस्तान के बीच रविवार को खेले गए मैच का स्कोर पूछते हैं. वीडियो में मंगल पांडेय को कहते हुए देखा जा सकता है कि कितने विकेट आउट हुए है. वहीं पीछे से आवाज आती है चार विकेट.

    दरअसल रविवार को भारत और पाकिस्तान के बीच मैच खेला जा रहा था. वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, राज्य मंत्री अश्विनी चौबे और बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ एईएस को लेकर चर्चा कर रहे थे. इसी दौरान मैच को लेकर पांडेय ने पूछ लिया कितना विकेट गिरा है. उन्हें जवाब मिलता है चार विकेट. वीडियो में दिखाई देता है कि इसके बाद वहां मौजूद हर्षवर्धन, मंगल पांडेय से कुछ कहते हैं.

    रविवार को हालात का जायजा लेने पहुंचे थे डॉ. हर्षवर्धन
    रविवार को ही केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, राज्य मंत्री अश्विनी चौबे और बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय मुजफ्फरपुर में हालात का जायजा लेने के लिए पहुंचे थे. उन्होंने कहा था कि एईएस से दोबारा इतने बच्चों की मौत न हो, इसके लिए लगातार प्रयास और रिसर्च किया जाएगा. रविवार को बिहार के मुजफ्फरपुर पहुंचे हर्षवर्धन ने बिहार सरकार को आश्वासन दिया था कि AES की रोकथाम के लिए हाई क्वालिटी का रिसर्च सेंटर बनेगा और 1 साल के भीतर ये रिसर्च सेंटर पूरा होगा.

    डॉक्टर के नाते देखा
    हर्षवर्धन ने कहा था कि उन्‍होंने एक डॉक्टर होने के नाते भी लोगों को देखा है और हर बात की बारीकी से जानकारी ली है. जहां तक मौत की बात है तो पिछले वर्षों में कुछ कमी आई थी. वर्ष 2014 में ज्यादा संख्या में केस सामने आए थे, लेकिन इस साल फिर संख्या में बढ़ोतरी हुई है. सभी मरीजों के लक्षण एक जैसे हैं, लेकिन जो समय पर अस्पताल पहुंच रहे हैं, उनको बचाया जा रहा है.

    ये भी पढ़ें--

    इंसेफेलाइटिस का मुफ्त होगा इलाज, फ्री में मिलेगी एंबुलेंस

    AES का कहरः केंद्र की बिहार को सलाह, CM नीतीश ने बुलाई बैठक

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज